33.1 C
Jodhpur

मकराना के दो युवकों को देर रात अज्ञात गाड़ियों ने रौंदा, शरीर से अलग हो गए हाथ-पैर

spot_img

Published:

मिट्‌टी में पड़े मिले शव, पास में क्षतिग्रस्त बाइक और गाड़ियों के टायर के निशान

नारद कुचामन सिटी। शहर के निकटवर्ती हनुमानगढ़-किशनगढ़ मेगा हाई-वे पर राणासर के पास सोमवार देर रात अज्ञात बदमाशों ने बाइक पर सवार कुचामन के दो युवकों को गाड़ियों से रौंद कर हत्या कर दी। वहीं, तीसरा शख्स गंभीर रूप से घायल हो गया, जिसे बाद में लोगों ने अस्पताल पहुंचाया, लेकिन उसकी नाजुक हालत को देखते हुए उसे जयपुर रैफर कर दिया गया। हादसे की जानकारी मिलने के बाद आक्रोशित लोगों ने मंगलवार को कुचामन के बाजार बंद करवा दिए। स्थिति को देखते हुए आईजी रेंज लता मनोज कुमार भी दोपहर में कुचामन पहुंची।

जानकारी के अनुसार कुचामन के तीन युवक सोमवार रात को मौलासर मेले से वापस लौट रहे थे। रास्ते में राणासर के निकट अज्ञात वाहन ने इनकी बाइक को टक्कर मारकर कुचल दिया। इससे दो युवकों की मौके पर ही मौत हो गई। इसकी सूचना मिलने पर कुचामन थानाधिकारी सुरेश कुमार की टीम मौके पर पहुंची। बाद में डीडवाना एसपी प्रवीण नायक, उप अधीक्षक विकास सहित अन्य अधिकारी भी वहां पहुंचे। मौके पर मिले युवकों के शव की पहचान मकराना के बिदियाद निवासी राजू पुत्र बाबूलाल और चुन्नीलाल पुत्र नवरतन मल के रूप में हुई।

आक्रोशित लोगों ने बंद कराया बाजार।

मिट्‌टी में पड़े शव, पास में क्षतिग्रस्त बाइक और गाड़ियों के टायर के निशान

मौके पर पहुंची पुलिस को सड़क किनारे मिट्‌टी पर दो युवकों के शव मिले और इनके निकट ही क्षतिग्रस्त बाइक पड़ी थी। यहां बोलेरो सहित कुछ अन्य गाड़ियों के टायर के निशान मिले, जिनसे प्रतीत होता है कि बदमाशों ने इन्हें रौंदकर हत्या की, जिसकी वजह से युवकों के हाथ-पैर भी शरीर से अलग हो गए थे। इन गाड़ियों के निशान देखने से प्रथमदृष्टया यही लग रहा था कि दो गाड़ियों से इन युवकों को कुचला गया था और ये मिट्‌टी में भी तेज रफ्तार से दौड़ाई गई थी। बताया जाता है कि बदमाशों की इस करतूत को कुछ ग्रामीणों ने दूर से देखा था, लेकिन जब तक वे मौके पर पहुंचते, तब तक बदमाश उन्हीं गाड़ियों से भाग निकले। मौके से साक्ष्य संकलित करने के लिए पुलिस ने एफएसएल विशेषज्ञों की टीम को भी यहां बुलाया।

विरोध में बंद कराए बाजार

दो युवकों की बेरहमी से कुचलकर हत्या से क्षेत्र के लोग आक्रोशित हो गए। मंगलवार सुबह मोर्चरी के बाहर बड़ी संख्या में भीड़ एकत्र हो गई और मामले की सीबीआई जांच की मांग करते हुए शव उठाने से इनकार कर दिया। काफी देर तक यहां धरना देने के बाद भीड़ हॉस्पिटल से निकलकर शहर के स्टेशन रोड पर पहुंची और यहां बाजार बंद करवाना शुरू कर दिया। हालात को देखते हुए शहर में भारी पुलिस बल तैनात किया गया है। साथ ही पुलिस की अलग-अलग टीमें संदिग्ध आरोपियों की तलाश में जुटी हुई है।

[bsa_pro_ad_space id=2]
spot_img
spot_img

सम्बंधित समाचार

Ad

spot_img

ताजा समाचार

spot_img
error: Content is protected !!