25.7 C
Jodhpur

RPSC Paper Leak:: JDA बुलडोजर चलाने का खर्च वसूलेगी, सारण को नोटिस

spot_img

Published:

राजस्थान में पेपर लीक मामले में विपक्ष के निशाने पर आई गहलोत सरकार ने मास्टर माइंड भूपेंद्र सारण के खिलाफ एक और बड़ा ऐक्शन लिया है। सारण को जेडीए ने नोटिस भेजा है। जेडीए की ओर से जो नोटिस जारी किया है। उसमें अजमेर रोड रजनी विहार स्थित घर का अवैध हिस्सा तोड़ा़ गया। उसका मलबा हटवाया गया। इसके तहत तीन दिन चली कार्रवाई के दौरान तमाम लेबर, मशीनरी और जाब्ते में तैनात हुए तमाम अधिकारियों-कर्मचारियों के वेतनमान को जोड़कर 19 लाख 11 हजार 355 रुपए का खर्चा आया। इस राशि को जमा करवाने के लिए अब जेडीए ने भूपेन्द्र सारण और उसके भाई गोपाल सारण के नाम नोटिस जारी किया है। सारण के अलावा जेडीए ने जिस बिल्डिंग में अधिगम कोचिंग सेंटर चल रहा था, उस भवन के मालिक अनिल अग्रवाल को भी नोटिस भेजा है। दोनों से बिल्डिंग तोड़ने पर हुए खर्च की राशि देने के लिए कहा है। नोटिस दोनों को अलग-अलग दिए गए हैं। खर्च की राशि 7 दिन में जमा करवाने के लिए कहा है। पैसा जमा नहीं करवाने पर जेडीए ने कानूनी कर्रवाई की चेतावनी दी है।

जेडीए के मुख्य प्रवर्तन नियंत्रक रघुवीर सैनी ने बताया- जेडीए एक्ट में प्रावधान है कि अगर कोई अवैध निर्माण जेडीए की ओर से हटाया जाता है तो उसे हटाने पर खर्च होने वाली राशि अवैध निर्माणकर्ता से वसूली जाए। इसी के तहत ये नोटिस जारी किए गए है।बता दें कि 9 जनवरी को जेडीए ने पेपर लीक के मास्टरमाइंड भूपेन्द्र सारण, सुरेश ढाका के कोचिंग इंस्टीट्यूट अधिगम पर कार्रवाई की थी। जिस बिल्डिंग में कोचिंग संचालित थी, उसे गिरा दिया था। ये बिल्डिंग बिना जेडीए की अनुमति के आवासीय भूखंड पर बनी थी। इसके बाद जेडीए ने 13 जनवरी भूपेन्द्र सारण के अजमेर रोड रजनी विहार स्थित मकान को तोड़ने की कार्रवाई की थी।

गुर्जर की थड़ी पर अधिगम कोचिंग की बिल्डिंग पर भी बुलडोजर चला था। उस पर हुए खर्च का पैसा वसूलने के लिए जेडीए ने बिल्डिंग मालिक को अनिल अग्रवाल को नोटिस थमाया है। इस बिल्डिंग को गिराने और यहां से मलबा हटाने पर जेडीए का करीब 9 लाख 23 हजार 905 रुपए का खर्चा आया है। इसका बिल बनाकर जेडीए ने अग्रवाल को भिजवाया है। ये पूरा पैसा जेडीए को 7 दिन में जमा करवाने के लिए कहा है।

[bsa_pro_ad_space id=2]
spot_img
spot_img

सम्बंधित समाचार

Ad

spot_img

ताजा समाचार

spot_img
error: Content is protected !!