31.9 C
Jodhpur

RPSC paper Leak: CM गहलोत ने BJP MP किरोड़ी की इस मांग को किया पूरा

spot_img

Published:

राजस्थान में आरपीएससी पेपर लीक मामले को लेकर गहलोत सरकार को घेर रहे बीजेपी सांसद किरोड़ी लाल मीना की बुलडोजर चलाने की मांग को सीए गहलोत ने पूरा कर दिया है। जेडीए के दस्ते ने आज मुख्य आरोपी सुरेश ढाका के जयपुप स्थित अधिगम कोचिंग संस्थान को ध्वस्त कर दिया। बीजेपी सांसद आरोपियों पर यूपी की तर्ज पर बुलडोजर चलाने की मांग कर रहे थे। हालांकि, किरोड़ी लाल मीना की मांग है कि आरपीएससी के चेयरमैन को बर्खास्त किया जाए। पेपर लीक केस में सत्ताधारी दल के मंत्रियों और अफसरों की मिलीभगत है, उन पर भी कार्रवाई की जाए। बता दें, राज्य रकार आरोपियों की संपत्ति जब्त करने की कार्यवाही पहले ही शुरू कर चुकी है। यहीं नही गहलोत सरकार ने पेपल लीक में शामिल 46 अभ्यर्थियों पर परीक्षा देने के लिए आजीवन प्रतिबंध भी लगा दिया है। बता दें, सीएम गहलोत बुलडोजर चलाने का विरोध करते रहे हैं। सीएम गहलोत का कहना है कि जब हर बुलडोजर चलेगा तो न्यायपालिका और पुलिस प्रशासन की क्या जरूरत रहेगी। आरोपियों पर ऐक्शन विधि सम्मत होना चाहिए न कि बुलडोजर से।

बता दें, आज सुबह आरपीएसी सेकेंड ग्रेड शिक्षक भर्ती परीक्षा में पेपर लीक मामले  में मुख्य आरोपी सुरेश ढाका के कोचिंग सेंटर पर आज जयपुर विकास प्राधिकरण के अधिकारियों ने बुलडोजर चला दिया। पेपर लीक मामले में शामिल लोगों के जयपुर स्थित अधिगम कोचिंग इंस्टीट्यूट पर सोमवार को जेडीए ने बुलडोजर  चलाया। दरअसल, इंस्टीट्यूट कॉर्नर के प्लॉट पर सर्विस लेन की रोड पर कब्जा करके बनाया गया था। बुलडोजर चलाने से पहले  गोपालपुरा बायपास स्थित अशोक विहार कॉलोनी में कोचिंग की इमारत का जेडीए की टीम ने पहले मौका निरीक्षण किया था। इसके बाद बिल्डिंग के मालिक और कोचिंग संस्थान के संचालकों को नोटिस जारी कर 72 घंटे में जवाब मांगा था। 8 जनवरी को दोबारा विशेष नोटिस देकर बिल्डिंग से सामान खाली कर अवैध निर्माण और अतिक्रमण को हटाने के लिए पाबंद किया गया।

जेडीए के अधिकारियों का कहना है कि नियमों के तहत कोचिंग संस्थान पर बुलडोजर चलाया गया है। जेडीए अधिकारियों के अनुसार आवासीय कॉलोनी में भूखंड संख्या 32 और 33 का बिना पुनर्गठन कराए 500 वर्ग गज में इमारत का निर्माण किया गया था। भूखंड संख्या 32 में पूर्व की दिशा की ओर से 8 फीट 3 इंच और भूखंड संख्या 33 में 10 सीट का सेट बैक कवर कर लिया। इसी तरह दोनों भूखंडों के पश्चिम दिशा में 10 फीट और 15 फीट सेट बैक को कवर कर जीरो सेट बैक पर निर्माण किया गया था। बालकनी सड़क सीमा में निकाली और बिल्डिंग बायलॉज का उल्लंघन करते हुए बेसमेंट और पांच मंजिला इमारत खड़ी कर ली। जेडीए अधिकारियों का कहना है कि नियमों का उल्लंघन करने पर बुलडोजर चलाया गया है।

[bsa_pro_ad_space id=2]
spot_img
spot_img

सम्बंधित समाचार

Ad

spot_img

ताजा समाचार

spot_img
error: Content is protected !!