37.3 C
Jodhpur

Rpsc Paper Leak: भूपेंद्र सारण के घर नोटिस चस्पा, 72 घंटे का अल्टीमेटम

spot_img

Published:

राजस्थान में सेकेंड ग्रेड भर्ती परीक्षा पेपर लीक मामले में जेडीए एक्शन की तैयारी में है। मुख्य आरोपी भूपेन्द्र सारण के रजनी विहार घर पर जेडीए ने नोटिस चस्पा कर दिया है जहां 72 घंटे का अल्टीमेटम दिया गया है। उसके बाद बंगले पर ध्वस्तीकरण कार्रवाई की जाएगी। जेडीए के प्रवर्तन दस्ते की एक टीम हीरापुरा रजनी विहार कॉलोनी स्थित भूपेंद्र सारण के आवास और दूसरी  टीम चित्रकूट स्थित आशापूर्ण एंपायर में बने सुरेंद्र ढाका के फ्लैट पर पहुंची। भूपेंद्र सारण के आवास पर प्रवर्तन शाखा ने तकनीकी टीम के साथ मौका का निरीक्षण कर भवन विनियमन के उल्लंघन को चिन्हित कर विधिक कार्रवाई करते हुए नोटिस जारी किए। साथ ही 72 घंटे का अल्टीमेटम दिया गया है। हालांकि, सुरेश ढाका का फ्लैट पिता के नाम पर मिला. जो कि ग्रुप हाउसिंग योजना का फ्लैट है, जिसमें कोई अनियमितता नहीं मिली है।

दूसरी टीम चित्रकूट में आशापूर्ण एंपायर में बने ग्रुप हाउसिंग योजना के फ्लैट पर पहुंची। जिसे सुरेश ढाका ने पिता मांगीलाल के नाम से खरीद रखा था। जेडीए की टीम ने मौके पर विधिक परीक्षण कराया। इधर, इस संबंध में मुख्य प्रवर्तन अधिकारी रघुवीर सैनी ने बताया कि रजनी विहार कॉलोनी में स्थित आवास भूपेंद्र सारण और उसके भाई गोपाल सारण के नाम पर है। जिसकी 28 फीट चौड़ाई है। इसमें आगे की तरफ से 15 फीट का सेटबैक और पीछे की ओर सवा 8 फीट का सेटबैक को कवर कर 4 मंजिले भवन का निर्माण कराया गया है। वहीं आगे और पीछे की तरफ रोड सीमा में बालकनी निकली हुई है। तकनीकी टीम ने इसे चिह्नित कर लिया है। इस आधार पर नोटिस जारी किए गए हैं। ऐसे में अब प्रभावी विधि सम्मत कार्रवाई की जाएगी।

बता दें, मुख्य आरोपी सुरेश ढाका और भूपेंद्र सारण फरार चल रहे हैं। उदयपुर पुलिस ने दोनों पर 25-25 हजार रुपये का इनाम रखा है। चर्चा है कि सुरेश ढाका नेपाल फरार हो गए है। जबकि भूपेंद्र सारण भूमिगत है। पुलिस दोनों आरोपियों की तलाश कर रही है। उदयपुर पुलिस ने पेपर लीक मामले में 50 से अधिक लोगों को गिरफ्तार किया है।

[bsa_pro_ad_space id=2]
spot_img
spot_img

सम्बंधित समाचार

Ad

spot_img

ताजा समाचार

spot_img
error: Content is protected !!