27.1 C
Jodhpur

RLP सुप्रीमो हनुमान बेनीवाल के निशाने पर स्पीकर सीपी जोशी, जानें वजह

spot_img

Published:

राजस्थान विधानसभा में आज पेपर लीक मामले पर जमकर हंगामा हुआ। हंगामे से नाराज होकर विधानसभा अध्यक्ष सीपी जोशी ने आरएलपी के तीनों विधायकों को एक दिन दे लिए निलंबित कर दिया। हनुमान बेनीवाल ने स्पीकर जोशी के निर्णय पर नाराजगी जताई है। आरएलपी विधायक नारायण बेनीवाल ने कहा कि हम युवाओं की आवाज उठाना चाह रहे थे, तब ही पुरुष मार्शल ने विधायक इंद्रा को बाहर निकाल दिया। महिला विधायक के साथ व्यवहार गलत है। आज जो हुआ है, उससे विधानसभा अध्यक्ष को अवगत कराएंगे। 

सांसद बेनीवाल ने कहा कि आज पेपर लीक मामलों की सीबीआई से जांच करवाने की मांग को लेकर राजस्थान की विधानसभा में RLP के प्रदेश अध्यक्ष व भोपालगढ़ विधायक पुखराज गर्ग, खींवसर विधायक नारायण बेनीवाल व मेड़ता विधायक इंदिरा देवी बावरी लोकतांत्रिक रूप से प्रदर्शन करके राजस्थान के युवाओं की पीड़ा को रख रहे थे आसन के समक्ष, मगर सत्ता के इशारे पर आसन ने आरएलपी के विधायकों को मार्शल बुलाकर बाहर निकलवा दिया। यह है लोकतंत्र की व्यवस्था का अपमान है, एक तरफ विधानसभा अध्यक्ष सीपी जोशी जी लोकतंत्र की व्यवस्था को सशक्त करने की करते है बात, दूसरी तरफ निष्पक्ष भूमिका निभाने के स्थान पर राज्य सरकार के इशारे से युवाओं की आवाज उठाने वाले आरएलपी विधायको को सदन से निष्कासित करते है। हनुमान बेनीवाल ने कहा कि आज भाजपा का दोहरा चरित्र भी सदन में सामने आ गया है।  RLP के विधायकों को बाहर निकाल रहे थे, तब भाजपा के विधायक मूकदर्शक बनकर बैठे रहे। जबकि पूर्व में कभी ऐसा कोई वाक्या सदन में होता था तो समूचा विपक्ष एकजुट हो जाता है। हनुमान बेनीवाल का आरोप है कि भाजपा औपचारिक रूप से अंदरखाने कांग्रेस के साथ है।  

नागौर सांसद हनुमान बेनीवाल ने ट्वीट किया-आज राजस्थान की विधानसभा में आरएलपी के विधायकों ने पुरजोर रूप से पेपर लीक मामलों की जांच CBI से करवाने की मांग रखी। राज्यपाल अभिभाषण के दौरान लोकतांत्रिक रूप से युवाओं की आवाज को सदन में उठाया। इसके बाद भी विधायकों को सदन से निलंबित किया है। स्पीकर की कार्रवाई के साथ साथ बीजेपी के मौन रहने पर गहरा विरोध जताया है।

[bsa_pro_ad_space id=2]
spot_img
spot_img

सम्बंधित समाचार

Ad

spot_img

ताजा समाचार

spot_img
error: Content is protected !!