37.4 C
Jodhpur

Police Action: चैकिंग में मिले संदिग्ध 10.24 लाख रुपए की नकदी जब्त

spot_img

Published:

– सूरसागर पुलिस-एफएसटी-1 की संयुक्त कार्रवाई

– अग्रिम जांच के लिए आयकर विभाग की टीम को सौंपी नकदी

नारद जोधपुर। विधानसभ चुनाव-2023 के मद्देनजर शहर के सभी इलाकों में पुलिस की ओर से चलाए जा रहे तलाशी अभियान में सूरसागर पुलिस व एफएसटी-1 की संयुक्त टीम ने एक कार से 10.24 लाख रुपए की नकदी संदिग्ध प्रतीत होने पर जब्त की है। डीसीपी (पश्चिम) गौरव यादव के अनुसार निष्पक्ष चुनाव के लिए शहर में विशेष अभियान चलाया जा रहा है। इसके लिए एडीसीपी (पश्चिम) चंचल मिश्रा के निर्देशन में एसीपी (प्रताप नगर) अशोक आंजणा की मॉनिटरिंग में संबंधित थानाधिकारी व एफएसटी नाकाबंदी कर वाहनों की सघन चैकिंग भी कर रही हैं। इसी क्रम में सोमवार को सायंकालीन एफएसटी-1 सूरसागर शिफ्ट-2 में हैड कांस्टेबल मौजूराम की टीम ने एक लग्जरी कार को रुकवाया। इसमें सवार दो शख्स से सामान्य पूछताछ की, तो दोनों के हावभाव संदिग्ध प्रतीत हुए। इस पर सूरसागर थानाधिकारी संजीव स्वामी की टीम ने कार की तलाशी लेने के साथ ही कार सवार लोगों से भी पूछताछ करने पर कार चालक ने खुद का परिचय मूलतया जैसलमेर के फलसूंड में राजमथाई लोगासर निवासी दलपत हीगडा पुत्र उम्मेदाराम मेघवाल और पास में बैठे शख्स ने अपना नाम केरू महाजन बस्ती निवासी मनीष राठी पुत्र शंकरलाल बताया। कार की तलाशी में चालक के पास एक प्लास्टिक थैली में 500-500 रुपए के नोटों में कुल 10 लाख 23 हजार 500 रुपए बरामद हुए। इस राशि के बारे में पूछे जाने पर संतुष्टिजनक जवाब नहीं मिला, तो पुलिस ने इसकी सूचना आयकर विभाग को देकर नकदी संदिग्ध मानते हुए जब्त कर लिया। मंगलवार को पुलिस ने यह नकदी अग्रिम जांच के लिए आयकर विभाग के अधिकारियों को सौंप दी।

पुलिस की टीम में ये रहे शामिल

लाखों की नकदी जब्त करने की इस कार्रवाई में सूरसागर थानाधिकारी संजीव स्वामी, एफएसटी प्रभारी प्रधानाचार्य किशनदान, एसआई कैलाश पंचारिया, प्रताप नगर थाने के हैड कांस्टेबल मौजूराम (हाल एफएसटी), सूरसागर थाने के कांस्टेल चैनाराम व महेंद्रसिंह शामिल रहे।

[bsa_pro_ad_space id=2]
spot_img
spot_img

सम्बंधित समाचार

Ad

spot_img

ताजा समाचार

spot_img
error: Content is protected !!