पचपदरा रिफाइनरी : प्रदेश की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे सिंधिया ने लिया तैयारियों का जायजा 

360

नीरज सिसोदिया/अशोक दईया

बाड़मेर टाइम्स ब्यूरो 

-अब 14 जनवरी की बजाय 16 जनवरी को बाड़मेर आएंगे पीएम मोदी 

बाड़मेर- प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हाथों 14 जनवरी को बाड़मेर के पचपदरा में होने वाले रिफाइनरी शिलान्यास में परिवर्तन किया गया है। अब 14 जनवरी के बजाय 16 जनवरी को पचपदरा में भव्य कार्यक्रम के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी राजस्थान की पहली रिफायनरी की नींव रखेंगे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कार्यक्रम में होने वाले परिवर्तन की जानकारी स्वयं प्रदेश की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने पचपदरा में प्रस्तावित कार्यक्रम स्थल पर दी।

मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे कार्यक्रम की तैयारियों का जायजा लेने गुरुवार को विशेष विमान से उत्तरलाई पहुँची। जिसके बाद हेलीकॉप्टर से रवाना होते हुए प्रस्तावित सभा स्थल पर पहुँची। हेलीपेड पर उतरते ही बाड़मेर प्रभारी एवं जेडीए अध्यक्ष महेंद्र सिंह राठौड़ एवं बायतु विधायक कैलाश चौधरी ने फूलों का गुलदस्ता भेंटकर मुख्यमंत्री का स्वागत किया। इसके बाद मुख्यमंत्री दर्शन करने और आशीर्वाद लेने पचपदरा के सांभरा माता (आशापुरा माता मंदिर) पहुँची। जहाँ पर मुख्यमंत्री ने पूजा अर्चना कर प्रदेश में खुशहाली की कामना की। जिसके बाद मुख्यमंत्री ने बन्द कमरे में जिला प्रशासन के अधिकारियों एवं एचपीसीएल के अधिकारियों के साथ बैठक कर तैयारियों का जायजा लिया और आगामी पीएम के दौरे के लिए आवश्यक दिशा निर्देश दिए।

हम धरातल पर काम करके दिखाएंगे

तैयारियों का जायजा लेने पहुँची मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे सिंधिया ने वहाँ पर उपस्थित भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ताओं और नेताओं को संबोधित करते हुए कहा कि हम धरातल पर काम करके दिखाएंगे। मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने पूर्ववर्ती गहलोत सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि उन्हें काम नही करना था, इसलिए सिर्फ पत्थर ही डाला। ऐसे पत्थर डालने से काम होता तो, मैं ट्रेक्टर को टोलिया-टोलिया ही डलवा देती। इस मौके पर कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कि प्रधानमंत्री मोदी की रैली को भव्य बनाना है और उदयपुर रैली का रिकॉर्ड तोड़ना है। मुख्यमंत्री ने ज्यादा से ज्यादा संख्या में लोगो को प्रधानमंत्री मोदी के कार्यक्रम में आने के लिए आमंत्रित किया। इस मौके पर सड़क परिवहन मंत्री यूनुस खान, राजस्व राज्य मंत्री अमराराम चौधरी, संसदीय सचिव लाधुराम विश्नोई, चौहटन विधायक तरुणरॉय कागा, जेडीए अध्यक्ष महेंद्रसिंह राठौड़, बायतु विधायक कैलाश चौधरी, सिवाना विधायक हमीरसिंह भायल सहित एचपीसीएल के अधिकारी, आईजी हवासिंह घूमरिया, जिला कलक्टर शिव प्रसाद मदन नकाते, प्रशासन के अधिकारी, भारतीय जनता पार्टी के नेता एवं कार्यकर्ता उपस्थित रहे।

अव्यवस्थाए रही हावी 

मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे का तैयारियो का जायजा लेने के उद्देश्य से किया गया बाड़मेर दौरा जिला प्रशासन के उदासीनता के कारण व अव्यवस्थाओ की भेंट चढ़ गया। कार्यक्रम स्थल पर न तो समुचित पानी की व्यवस्था थी और न ही लोगो के बैठने का कोई ढंग का स्थान।

जिसकी वजह से आमजन को काफी परेशानी का सामना करना पड़ा। लेकिन, हद तो तब हो गई जब पीने के लिए पानी के केम्पर की व्यवस्था की गई थी उन सभी केम्पर में पानी गन्दा पाया गया। जिसके बाद लोगो ने इसका विरोध किया और सारा पानी जमीन पर गिरा दिया। इसके अलावा कार्यक्रम खत्म होते ही लोग खाने के पैकेट पर टूट पड़े। जिससे काफी अधिकारियों को शर्मिंदगी महसूस करते देखा गया।

जख़्मी थे… फिर भी रहे मौजूद
बुधवार रात्रि रिफाइनरी स्थल का जायजा लेकर लौट रहे जिला कलेक्टर सड़क दुर्घटना का शिकार हो गए थे। जिससे उनके कंधे में फैक्चर हो गया था। बुधवार देर रात तक उनका इलाज राजकीय चिकित्सालय में चलता रहा और डॉक्टर ने उन्हें आराम करने की सलाह दी थी। बावजूद इसके जिला कलक्टर खुद सीएम दौरे की व्यवस्थाएं संभालते नज़र आये। फैक्चर होने के बावजूद भी जिला कलक्टर लगातार खड़े रहकर अधिकारियों को निर्देशित कर रहे थे।