33.7 C
Jodhpur

वृद्धा ने पेंशन से बनवाया विद्यालय में स्मार्ट स्टडी रूम

पति की पुण्य स्मृति को बनाया विशेष, शिक्षादान की अनूठी पहल

spot_img

Published:

भोपालगढ़। यूं तो पेंशन बुढ़ापे का सहारा होती है, लेकिन एक वृद्धा ने अपनी पति की पुण्य स्मृति को एक विद्यालय में स्मार्ट स्टडी रूम बनाकर विशेष बना दिया है। भोपालगढ़ निवासी चौथी देवी गुरु ने अपने पति स्व. हीरालाल गुरु की पुण्य स्मृति में चुन्नी देवी गणेशराम राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय भोपालगढ़ में बच्चों के प्रति स्नेह भाव रखते हुए अपनी वृद्धा पेंशन राशि का संग्रह कर सदुपयोग किया। उन्होंने 10 हजार रुपए की लागत राशि से बच्चों के शिक्षण के लिए स्मार्ट स्टडी कक्ष बनवा शिक्षादान की अनूठी पहल की है।

संस्था प्रधान गिरधारी सिंह कड़वासरा ने बताया कि स्मार्ट स्टडी कक्ष में पाठ्यक्रम बिन्दुओं को कक्ष की दीवारों पर पेन्टिंग कार्य कलात्मक ढंग से चित्रांकन व लेखांकन करवा कर विद्यालय परिवार को समर्पित किया गया है।सत्यनारायण वैष्णव ने बताया कि चौथी देवी गुरु ने अपनी वृद्ध जन सम्मान पेंशन योजना राशि का सदुपयोग कर इस विद्यालय से पूर्व भी भोपालगढ़ के स्थानीय विद्यालय आदर्श विद्या मन्दिर में भी स्मार्ट स्टडी कक्ष पेंटिंग निर्माण कार्य करवा विद्यालय परिवार को समर्पित किया था । कलाविद् रामपाल गुरु ने कला के महत्व व शिक्षण शैली को सरल व रोचक कैसे बनाया जा सकें के बारे में बताते हुए कहा कि ऐसी कलात्मक पेंटिंग से बच्चे खेल-खेल में शिक्षण अर्जित कर अपने भावी जीवन को सरस व सार्थक बना सकते है।

सामाजिक कार्यकर्ता भारमल गुरु ने आमजन से आह्वान करते हुए कहा कि हर व्यक्ति को अपने द्वारा कमाएं हुए सच्चे धन का कुछ अंश परमार्थ में लगाना चाहिए। जिससे आने वाली पीढ़ी में ऐसे पुण्य कार्य के संस्कारों का निर्माण हो सकें।चौथी देवी गुरु द्वारा पेंशन से करवाये गए परमार्थ को लेकर जनप्रतिनिधि पूर्व पाली सांसद बद्रीराम जाखड़, भोपालगढ़ विधायक पुखराज गर्ग, प्रधान शांति राजेश जाखड़, ब्लॉक शिक्षा अधिकारी मनोहरलाल मीणा, उपब्लॉक शिक्षा अधिकारी अल्फुराम टाक,समाजसेवी ओमप्रकाश चोटिया, युवा नेता शिवकरण सैनी,युवा नेता महावीर लक्ष्मणराम चौधरी,गर्ग समाज के तहसील प्रवक्ता रामस्वरूप गर्ग, ब्लॉक चिकित्सा अधिकारी दिलीपकुमार चौधरी, एसपीएम महाविद्यालय के सहायक आचार्य महावीर प्रसाद तावणिया, शिक्षिका यशोदा चौधरी,रामपाल गहलोत,बनवरीसिंह राजपुरोहित, कवि श्रवणदान शून्य, कवि दिनेश दीवाना,मनोहर मेघवाल,जितेन्द्र, सुरेश गर्ग, युवा मित्र महेंद्र,हेमसिंह सोलंकी सहित ग्रामीणजन ने परमार्थ कार्य की भूरी-भूरी प्रसंशा करते हुए इस अनूठी पहल को आगे बढ़ाने को कहा।

स्मार्ट कक्ष की दीवारों से यह सीखेंगे बच्चे

स्मार्ट स्टडी कक्ष की दीवारों पर कलात्मक ढंग से बनाए गए चित्रांकन से बच्चे खेल-खेल में ही हिन्दी,अंग्रेजी वर्णमाला,चित्रों को गिनकर गिनती,वाक्य वर्ग पहली से वाक्य निर्माण, ज्यामितीय आकृतियां,राष्ट्रीय पर्वों ,त्योहारों, शरीर के अंगों के नाम,कथा व कविता के माध्यम से बच्चें अपने ज्ञान कौशल में अभिवृद्धि कर सकेंगे ।

Old lady made #smart_study_room in #school with pension

[bsa_pro_ad_space id=2]
spot_img
spot_img

सम्बंधित समाचार

Ad

spot_img

ताजा समाचार

spot_img
error: Content is protected !!