लोग हैरान आखिर ऐसा कैसे हुआ

बारिश से भरा तलाब 4 दिन में ही खाली
जोधपुर। जिले के तिंवरी कस्बे में स्थित एक तालाब इन दिनों लोगों के बीच कौतुहल का विषय बना हुआ है। मानसूनी बारिश से लबालब हो चुका यह तालाब चार दिन में पूरी तरह से खाली हो चुका है। ग्रामीण भी हैरत में है कि आखिरकार ऐसा कैसे हो गया। वहीं भूगर्भ विशेषज्ञों का कहना है कि तालाब के जीर्णोद्धार के लिए की गई खुदाई के कारण इस पर जमी मिट्टी की परत हट गई। ऐसे में पानी भूगर्भ में समा गया।
तिंवरी कस्बे में खोखरी माता मंदिर के पास स्थित प्राचीन तालाब जिसका हाल ही में ग्रामीणों ने समस्त महाजन संस्था के सहयोग से जीर्णोद्धार किया था। करीब दस बीघा क्षेत्र में फैला यह तालाब सितम्बर माह में हुई बारिश से पूरा भर गया था। देव झूलनी ग्यारस ओर गणपति विसर्जन के दिन सभी ग्रामवासी तालाब पर गए थे। ये तालाब भरा हुआ था। चार दिन पूर्व मंदिर में जा रहे श्रद्धालुओं ने तालाब में पानी कम देखा तो गांव में आकर लोगों को बताया। आज तालाब आधे से ज्यादा सूख गया। तिंवरी सरपंच अचलसिंह गहलोत सहित अनेक ग्रामीण तालाब पर पहुंचे। उन्होंने देखा कि तालाब में एक तरफ करीब दस फीट व्यास का एक गड्ढा बना हुआ है। सारा पानी इसमें तेजी से समा रहा है। भूगर्भ वैज्ञानिक ओमप्रकाश पूनिया का कहना है कि तालाब में जीर्णोद्धार कार्य के दौरान इसके पैंदे पर बरसों से जमी चिकनी मिट्टी की परत को नुकसान पहुंचा। यह चिकनी मिट्टी तालाब के पानी को रोके रखती है। इस मिट्टी की परत हट जाने से पानी भूगर्भ में जा रहा है।

NEWS

Related articles

Leave a reply

Please enter your comment!
Please enter your name here