36 C
Jodhpur

अभूतपुर्व उत्साह व उमंग से दौड़ी वंदे भारत

spot_img

Published:

9 से शुरू होगा नियमित फेरा, पाली से दिलीप सोनी ने खरीदा एग्जिक्यूटिव क्लास का पहला टिकट

पुरानी मंडोर एक्सप्रेस के नंबर वंदे भारत को मिले, मंगलवार का रहेगी छुट्‌टी
जनरल कोटे में चेयरकार की 405, एग्जीक्यूटिव क्लास में 39 सीट बुकिंग के लिए खोली
प्रवीण धींगरा

जोधपुर। देश की 25वीं, पश्चिमी राजस्थान की पहली और राजस्थान की दूसरी वंदे भारत ट्रेन शुक्रवार शाम 4ः45 बजे अभूतपुर्व उत्साह और उमंग के साथ उद्घाटन फेरे पर रवाना हुई। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने गोरखपुर से वर्चुअल प्रोग्राम में झंडी दिखाकर इसे साबरमती के लिए रवाना किया। केंद्रीय जलशक्ति मंत्री गजेंद्रसिंह शेखावत जोधपुर में समारोह के अतिथि रहे और वे स्वयं इसमें सवार हुए। वंदेभारत भगत की कोठी, पाली, मारवाड़ जंक्शन, आबू रोड, फालना पहुंची, तो बीच रास्ते और इन स्टेशनों पर लोगों का हुजूम पड़ा। यहां तक कि पूरे रास्ते जगह-जगह रेलवे लाइन के आसपास भी बड़ी संख्या में लोग वंदे भारत को निहारते और इसके वीडियो बनाते नजर आए। लोगों ने वंदे भारत में चढ़कर इसकी सुविधाओं और विशेषताओं को भी नजदीक से देखा।
रेलवे के अनुसार यह ट्रेन सप्ताह में छह दिन चलेगी, मंगलवार को छुट्‌टी रखी जाएगी। ट्रेन को नंबर भी आवंटित हो गए हैं तो 9 जुलाई से नियमित फेरे के लिए किराया तय करने के साथ बुकिंग शुरू कर दी है। जनरल कोटे में एसी चेयरकार की 405 व एग्जीक्यूटिव क्लास की 39 सीट के लिए रिजर्वेशन दिया जा रहा है। कुछ सीटें तत्काल कोटे में रखी गई है।

एग्जीक्यूटिव क्लास के लिए बुक हुआ पहला टिकट

रेलवे ने गुरुवार सुबह से वंदे भारत के लिए टिकट विंडो खोली तो पाली के दिलीप सोनी ने एग्जीक्यूटिव क्लास में सबसे पहले बुकिंग करवाई। टिकट पाली से आबूरोड के लिए सुबह 8 बजकर 13 मिनट पर बुक हुआ। टिकट विंडो खुलने से 24 घंटे के भीतर जोधपुर से साबरमती के लिए पहले फेरे 9 जुलाई के लिए एसी चेयर कार के 53 टिकट तो एग्जीक्यूटिव क्लास में 9 टिकट बुक हो चुके थे। वहीं, साबरमती से जोधपुर के लिए एसी चेयरकार क्लास में 22 तो एक्गीक्यूटिव क्लास में 12 टिकट बुक हुए थे। जोधपुर व साबरमती के बीच के स्टेशनों की यात्रा के लिए भी टिकट बुक हो रहे हैं तो आगे की तारीखों के लिए भी लोगों ने बुकिंग करवानी शुरू कर दी है।

मंडोर सुपरफास्ट के पुराने नंबर वंदे भारत को मिले

रेलवे के मुताबिक ट्रेन संख्या 12461 (पहले जोधपुर-दिल्ली मंडोर सुपरफास्ट का नंबर था) जोधपुर-साबरमती सुबह 5:55 बजे जोधपुर से रवाना होकर पाली मारवाड़, फालना, आबूरोड, पालनपुर व मेहसाणा में ठहराव करते हुए दोपहर 12:05 बजे साबरमती पहुंचेगी। वापसी में ट्रेन संख्या 12462 साबरमती से अपराह्न 4:45 बजे रवाना होकर रात 11:10 बजे जोधपुर आएगी।

जोधपुर व अजमेर मंडल मिलकर चलाएंगे

वंदे भारत का संचालन जोधपुर व अजमेर मंडल मिलकर करेंगे। वैसे तो छह से सात घंटे तक ट्रेन संचालन में एक ही मंडल का स्टाफ लगाया जाता है लेकिन इस ट्रेन का संचालन दो मंडल को दिया गया है। जोधपुर से आबूरोड तक ट्रेन का संचालन जोधपुर मंडल के कर्मचारी करेंगे तो आबूरोड से साबरमती तक अजमेर मंडल के कर्मचारी ट्रेन लेकर आगे जाएंगे।

चार श्रेणी की ट्रेनों का बेस किराया ही ज्यादा, इसलिए मेल-एक्सप्रेस से तुलना संभव नहीं

रेलवे ने तेजस, दुरंतो, शताब्दी, वंदे भारत व गतिमान ट्रेनों को उनकी श्रेणी के अनुसार बेस किराया ज्यादा रखा है, इसलिए मेल-एक्सप्रेस ट्रेनों के किराये से इनकी तुलना संभव नहीं है। जोधपुर से चलने वाली वंदे भारत में दो श्रेणी के कोच रखे गए है। एसी चेयरकार व एग्जीक्यूटिव चेयरकार। एसी चेयरकार में जोधपुर से साबरमती का किराया 975 रुपए तो एग्जीक्यूटिव क्लास का 1955 रुपए होगा। इसी तरह पाली का 405 व 795, फालना का 530 व 1060, आबूरोड का 705 व 1400, पालनपुर का 800 व 1585 व मेहसाणा तक का एसी चेयरकार में 890 व एग्जीक्यूटिव क्लास में 1775 रुपए किराया होगा। इसमें केटरिंग चार्ज सुविधा लेने पर जुड़ेगा।

केटरिंग सुविधा लेंगे तो लगेगा चार्ज

इन ट्रेनों में किराये के साथ केटरिंग चार्ज भी जोड़ा जाएगा। हालांकि रेलवे इन श्रेणी की ट्रेनों में यात्रियों को यह विकल्प देता है कि वे केटरिंग सुविधा नहीं लेंगे तो चार्ज नहीं लगेगा। एसी चेयरकार व एग्जीक्यूटिव क्लास में क्रमश: साबरमती, आबूरोड, पालनपुर व मेहसाणा के लिए केटरिंग चार्ज 142 व 175, पाली व फालना के लिए 35 रुपए तय किया गया है।

यह रहेगा उद्घाटन फेरे का प्रोग्राम

सात जुलाई को जोधपुर स्टेशन पर सूक्ष्म सांस्कृतिक कार्यक्रम होगा तो भगत की कोठी, लूणी व पाली में स्वागत समारोह होगा। वंदे भारत में स्कूली बच्चों को भी आधुनिक भारत की नई ट्रेन का अनुभव करवाया जाएगा। जानकारी के मुताबिक वंदे भारत ट्राॅयल रन पर जोधपुर से दोपहर 3.10 बजे रवाना होकर पाली, फालना, आबूरोड, पालनुपर व मेहसाणा स्टेशनों पर ठहराव करते हुए रात 9.10 बजे साबरमती पहुंचेगी। वहां से इसे रात 10.05 बजे वापस रवाना किया जाएगा, जो 6 जुलाई की सुबह 4.15 बजे जोधपुर पहुंचेगी। इसे इलेक्ट्रिक इंजन से ही चलाया जाएगा। मारवाड़ जंक्शन से यह रन-थ्रू निकलेगी। आबूरोड में 5 मिनट का ठहराव होगा तो बाकि अन्य स्टेशनों पर 2-2 मिनट रूकेगी।

रेलवे ने कर्मचारियों को किया आगाह

जैसा कि सभी को विदित है कि 7 जुलाई से प्रीमियम ट्रेन नम्बर 12461/12462 जोधपुर से साबरमति वन्देभारत का उद्घाटन होने जा रहा है, सभी स्टाफ (on duty / off duty ) कृपया ध्यान रखें कि इस गाड़ी में यात्रा तभी करें जब कि आपके पास काउंटर या ऑनलाइन से कराया गया आरक्षण टिकट हो अन्यथा किसी भी तरह का duty pass / Privilege pass इस गाड़ी में मान्य नही है। यह गाड़ी पूरी तरह CCTV कैमरा से लैस है । अतः ड्यूटी पर मौजूद TTE को किसी भी तरह इस गाड़ी में गलत तरीके से यात्रा के लिए बाध्य न करें न ही TTE से बहस बाजी करें, अन्यथा नियमानुसार चार्ज किया जाएगा या अनुशासनात्मक कार्यवाही की जाएगी ।

[bsa_pro_ad_space id=2]
spot_img
spot_img

सम्बंधित समाचार

Ad

spot_img

ताजा समाचार

spot_img
error: Content is protected !!