31.8 C
Jodhpur

साहसी एवं उत्कृष्ट कार्य करने वाले जीआरपी अधिकारी-कर्मचारी डीजीपी डिस्क से सम्मानित

spot_img

Published:

– जोधपुर जीआरपी के चार कार्मिकों को मिला यह प्रतिष्ठित सम्मान

नारद जोधपुर। ट्रेनों में आपराधिक वारदातें करने वाले गिरोह को ढूंढ़ निकालने, साइबर अपराधियों को गिरफ्तार करने और ट्रेन यात्रियों की जान बचाने वाले पुलिस अधिकारियों-कर्मचारियों को डीजीपी डिस्क से सम्मानित किया गया है। इनमें जोधपुर जीआरपी के चार अधिकारी-कार्मिकों को भी ये प्रतिष्ठित सम्मान मिला है। इसके लिए सोमवार को अतिरिक्त महानिदेशक (जीआरपी) अनिल पालीवाल ने चयनित अधिकारियों-कर्मचारियों को सम्मानित किया। वहीं, डीआईजी राजेशसिंह, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक नानगराम ने इस सभी को और बेहतर कार्य करने के लिए प्रोत्साहित किया।

किसे-किस कार्य के लिए मिला प्रतिष्ठित सम्मान

आबू रोड जीआरपी थाने के एसआई मनोज कुमार

दादर-बीकानेर एक्सप्रेस ट्रेन में आबूरोड व मारवाड़ जंक्शन के बीच रात में चलती ट्रेन में अज्ञात बदमाशों द्वारा यात्रियों के स्वर्णाभूषण लूटकर ट्रेन के धीमी होने पर उतर भागने की वारदात का खुलासा करने में अहम भूमिका निभाई। इस वारदात का खुलासा करने के लिए गठित स्पेशल टीम के एसआई मनोज कुमार ने अपने तकनीकी कौशल से दिल्ली की आजाद गैंग की पहचान करने के साथ ही आरोपियों को गिरफ्तार करके स्वर्णाभूषण बरामदगी की। इसके साथ ही बांद्रा-उदयपुर में हुई 8.500 किलो सोने की लूट की वारदात का पर्दाफाश कर सोना बरामदगी में भी अहम भूमिका निभाई।

जोधपुर जीआरपी साइबर सैल के हैड कांस्टेबल दीपेंद्रपाल सिंह

रेलवे स्टेशन जालसू के रेलवे ट्रेक पर सैक्सटॉर्शन से परेशान होकर आत्महत्या का एक प्रकरण सामने आया था। इस मामले में हैड कांस्टेबल दीपेंद्रपाल सिंह ने अपने तकनीकी कौशल से मेवात क्षेत्र के एक गिरोह की पहचान कर बदमाशों को गिरफ्तार कराने में अहम भूमिका निभाई थी। उल्लेखनीय है कि मेवात गैंग के बदमाश फर्जी मोबाइल सिम का उपयोग कर लोगों को कथित रूप से लड़की बनकर वॉट्सएप या फेसबुक जैसे सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर अपने जाल में फंसाते हैं। इसके बाद ये बदमाश वीडियो कॉल पर न्यूड वीडियो दिखाकर इसकी रिकॉर्डिंग करके इसे वायरल करने की धमकी देकर ब्लैकमैलिंग करता है। ऐसे में कई बार व्यक्ति परेशान होकर आत्महत्या तक कर लेते हैं। हैड कांस्टेबल सिंह ने जीआरपी जोधपुर क्षेत्राधिकार में चलती ट्रेनों में होने वाली चोरी, लूट इत्यादि अनसुलझी वारदातों की इन्वेस्टिगेशन में अपने कौशल से उत्तर प्रदेश, हरियाणा और दिल्ली सहित कई अन्य राज्यों के अंतर्राज्यीय गिरोह का पर्दाफाश करवा चुके हैं।

जीआरपी चौकी लूणी की हैड कांस्टेबल कंचन राठौड़

रेल्वे स्टेशन लूणी पर ट्रेन स्टॉपेज के दौरान एक महिला यात्री द्वारा खाने-पीने का सामान लेने के लिये ट्रेन के डिब्बे से स्टेशन पर उतरने एवं वापस चढने के दौरान ट्रेन रवाना हो चुकी थी। चलती ट्रेन में महिला यात्री द्वारा चढ़ने की कोशिश के दौरान पैर पायदान से फिसलकर ट्रेन के कोच व प्लेटफार्म के बीच आने से महिला यात्री चिल्लाने लगी। यात्री की आवाज सुनकर ऑन ड्यूटी महिला हैड कानि. कंचन राठौड. ने आरपीएफ कांस्टेबल राजेश की मदद से चलती ट्रेन के कोच व प्लेटफार्म के बीच से महिला यात्री को निकाल कर घायल महिला का अस्पताल पहुचाया। जिससे महिला यात्री की जान बच गई।

जीआरपी थाना जोधपुर के कांस्टेबल साजन राम

रेल्वे स्टेशन जोधपुर पर ट्रेन जम्मतवी एक्सप्रेस के प्लेटफार्म नम्बर एक से रवाना होने पर महिला यात्री चलती ट्रेन में चढने के दौरान कोच से नीचे गिरकर प्लेटफार्म व कोच के बीच में आ गई। इस दौरान ऑन ड्यूटी कानिस्टेबल साजनराम ने तत्परता व सर्तकता दिखाते हुये महिला यात्री ट्रेन के नीचे आने से महिला के जीवन संकट की स्थिति को भापते हुये तुरंत महिला का हाथ खिचकर ट्रेन व प्लेटफार्म के बीच से निकाल कर महिला का जीवन बचाया।

[bsa_pro_ad_space id=2]
spot_img
spot_img

सम्बंधित समाचार

Ad

spot_img

ताजा समाचार

spot_img
error: Content is protected !!