16.9 C
Jodhpur

गजसिंहपुरा: बारिश के बाद गांव की सड़कों-गलियों के दयनीय हालात, न प्रशासन न ग्राम पंचायत को है परवाह

spot_img

Published:

– स्कूली बच्चों की पढ़ाई के लिए कीचड़ से गुजरने की मजबूरी

नारद भोपालगढ़। उपखंड क्षेत्र के गजसिंहपुरा ग्राम पंचायत मेंबारिश के मौसम में बारिश होने से पानी की निकासी नहीं होने के कारण गजसिंहपुरा से बासनी हरिसिंह की मुख्य सड़क, गांव की गलियां में बनी सड़क चारों ओर पानी से लबालब एवम कीचड़ से सनी पड़ी है । यहां तक की गांव के मोक्ष धाम जाने वाले रास्ते पर चलना मुश्किल है तो किसी अर्थी को मोक्ष धाम तक ले जाना हुआ दुभर। मुख्य सड़क एवम गांव की सड़क पर आवागमन करने वालों को बहुत अधिक परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। अंतिम संस्कार के लिए जाने वाले लोग कीचड़ से होकर निकलने के नाम से ही घबराने लगे हैं। ऐसे में चार आदमी मुश्किल से अंतिम संस्कार के लिए इस रास्ते से जा रहे हैं।

गौरतलब है कि भोपालगढ़ पंचायत समिति क्षेत्र की सबसे बड़ी ग्राम पंचायतों में शामिल गजसिंह पूरा एवम बासनी हरिसिंह ग्राम पंचायत है एवम गजसिंहपुरा से बासनी हरिसिंह जाने वाली सड़क जो नागौर जिले को सीधे स्टेट हाईवे से जोड़ती है, बावजूद इसके इस सड़क पर पानी की निकासी नहीं होने के कारण राहगीरों को बड़ी समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है । इस गांव के लोग भी इस कीचड़ के कारण परेशान नजर आने लगे हैं। कीचड़ होने के साथ ही मौसमी बीमारियां फैलने की भी संभावनाएं बन गई है ।यहां बारिश के दिनों में हर समय कीचड़ लबालभ भरा रहता है ।ऐसे में मुख्य सड़क से गुजरते वाहनों से पानी उछलकर पैदल राहगीरों की भी परेशानी बनता जा रहा है। ऐसे में बच्चों का स्कूल जाना भी मुस्किल हुआ । गांव में बच्चो से लेकर बड़े बुजर्गो के मुंह से एक ही शब्द निकलता है की गलियों का कोई धनी धोरी नही है । ग्रामीणों ने बताया कि अत्यधिक सड़क क्षतिग्रस्त हो गई। सड़क पर एक से 2 फीट तक जगह-जगह गहरे गड्ढे हो गए, बारिश होने पर गड्ढों में पानी भर जाता है तब अधिक परेशानी बढ़ जाती हैं। ग्रामीणों ने समय पर सड़क के सुधार नहीं होने पर आंदोलन की चेतावनी दी है।

दुपहिया वाहन चालक हो रहे हादसों का शिकार

बारिश व घरों से निकलने वाला गंदे पानी ने कीचड़ का रूप ले लिया है। जिसमें हर समय बदबू आती रहती है। दुपहिया वाहन चालक कीचड़ व गड्डों में फिसलकर गिर जाते है। लोगों का इस रास्ते से आवागमन करना बहुत मुश्किल हो रहा है।

मोक्ष धाम का मुख्य रास्ता कीचड़ भरा

गांव के मोक्ष धाम (श्मशान घाट) का मुख्य रास्ता होने के कारण ग्रामीणों को काफी परेशानी उठानी पड़ती है। इसका कोई भी विकल्प नहीं है। सभी को गंदे पानी के अंदर से होकर गुजरना पड़ता है।

करंट फैलने का डर

पानी भराव के रास्ते पर ही बिजली के पोल लगे हुए है। जिसके कारण कभी भी करंट फैलने से कोई जनहानि होने का डर बना रहता है।

उच्चाधिकारियों से बात करूंगा : विधायक गर्ग
पुखराज गर्ग, विधायक, भोपालगढ़ ने दूरभाष पर कहा कि इस संबंध में उच्चाधिकारियों से बात करके समस्या का समाधान करवाया जाएगा। लोगों की समस्याओं के समाधान के लिए अपनी ओर हरसंभव प्रयास व सेवा में तैयार हूं।

नारायणराम बेड़ा पूर्व विधायक भोपालगढ़ ने कहा कि प्रशासन से बात करके जल्दी से जल्दी पानी निकासी की व्यवस्था की जाएगी।

सुरेंद्रसिंह बेड़ा, सरपंच गजसिंहपुरा ने कहा कि जब गौरवपथ के दोनों ओर सीसी ब्लॉक का निर्माण किया गया उस वक्त विषय को देखते हुए वर्षा जल की निकासी का उचित प्रबंधन नही किया गया था और जब वर्षा का पानी एकत्रित होने लगा तो गौरवपथ बिखर गया। और अब ग्राम पंचायत और ग्रामीण के सहयोग से जहां उचित है वहा प्रशासन के निर्देश पर पानी निकासी की जाएगी।

पूर्व उपप्रधान मनीष कुमार खदाव ने बताया कि माणकपुर इंडस्ट्रीज़ एरिया से गजसिंहपुरा को जोड़ने वाले मुख्य मार्ग के साथ- साथ, गांव के अंतिम संस्कार स्थलों एवं खेतों का भी मुख्य मार्ग यही है, इससे लोगों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

सुमेरसिंह गजसिंहपुरा पूर्व जिला परिषद सदस्य ने बताया कि गजसिंहपुरा से बासनी हरिसिंह रोड पर पानी निकासी के लिए पुल बना हुआ था अब पुल बिखरने के कारण पानी निकासी नहीं हो रही है।

घनश्याम देवड़ा गजसिंहपुरा ग्रामीण ने प्रेस वार्ता में बताया कि गजसिंहपुरा से बासनी हरिसिंह सड़क पर पानी भराव के कारण जगह-जगह गड्डे हो गए है। मुक्ति धाम जाने का रास्ता भी यही है। ग्रामीणों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

[bsa_pro_ad_space id=2]
spot_img
spot_img

सम्बंधित समाचार

Ad

spot_img

ताजा समाचार

spot_img
error: Content is protected !!