33.7 C
Jodhpur

जनता जानती है राहत के पिटारे की असलियत : शेखावत

spot_img

Published:

जोधपुर। गहलोत सरकार की महंगाई राहत घोषणाओं पर केन्द्रीय जलशक्ति मंत्री गजेन्द्र सिंह शेखावत ने तंज कसा और कहा कि इस राहत के पिटारे की असलियत जनता सब समझ चुकी है। जनता की जेब से पैसे निकालकर उसे महंगाई राहत के नाम पर वापस लौटाने के नाटक से अब उसे बहकाया नहीं जा सकता।

शनिवार को जिले के लोहावट और फलौदी इलाकों के दौरे के दौरान स्थानीय मीडियाकर्मियों से अनौपचारिक बातचीत में शेखावत ने कहा कि अन्य प्रदेशों की तुलना में राजस्थान में पेट्रोल दस रुपए ज्यादा महंगा है। इससे राज्य सरकार छह सौ करोड़ रुपए राजस्थान की जनता की जेब से हर माह अतिरिक्त निकाल रही है। साढ़े चार साल तक जनता से तीस हजार करोड़ रुपए लूटे जा चुके और अब आप पांच सौ रुपए गैस सिलेंडर के लिए देकर राहत देने का नाटक कर रहे हो। देश और प्रदेश की जनता इसे बहुत अच्छे से समझती है।

वसुंधरा सरकार की सब्सिडी बंद की
किसानों को बिजली मुफ्त देने की घोषणा पर केन्द्रीय मंत्री ने कहा कि वसुंधरा राजे सरकार के समय से किसानों को दस हजार रुपए प्रति वर्ष की सब्सिडी कृषि कनेक्शनों में मिलती थी। इस सरकार ने वह सब्सिडी दो साल से बंद कर दी, यानी दो साल तक आपने किसान के हक का 20 हजार रुपए मार लिया। उसके बाद अब आप किसान को दो हजार यूनिट बिजली फ्री करने की बात कर रहे हो। अब तो वैसे ही बारिश शुरू हो चुकी है, इसलिए राजस्थान के 99 प्रतिशत किसानों को अभी बिजली की जरूरत नहीं है। यह सरकार मुश्किल से एक महीने की दो हजार रुपए की राहत देकर के 20 हजार रुपए को बराबर करना चाहती है। राजस्थान का किसान इसे अच्छी तरीके से समझता है। वह बहकावे में नहीं आएगा।

पेपर लीक में युवाओं के नुकसान की भरपाई कौन करेगा?
शेखावत ने प्रतियोगी परीक्षाओं में हो रहे पेपर लीक प्रकरण में भी गहलोत सरकार को आड़े हाथों लिया। उन्होंने कहा कि 19 पेपर लीक हो गए। आप 18 पेपर लीक तक कहते रहे कि इसमें न कोई अधिकारी शामिल है और न ही कोई कर्मचारी। अब 19वां पेपर लीक होने के बाद आप कह रहे हो कि हम इसके खिलाफ कठोर कानून बनाएंगे, लेकिन अब तक जो पेपर लीक हुए, उसमें युवाओं के नुकसान की भरपाई कौन करेगा?

राज्य में भाजपा दो तिहाई बहुमत से आएगी
आगामी विधानसभा चुनाव में बहुमत के बारे में पूछे गए सवाल के जवाब में केन्द्रीय मंत्री ने कहा कि अबकी बार राजस्थान की जनता गहलोत सरकार को सबक सिखाएगी। पेपर लीक, भ्रष्टाचार और तुष्टीकरण से परेशान जनता इसकी भरपाई करने वाली है। राजस्थान में भाजपा की सरकार एतिहासिक दो तिहाई बहुमत से बनने वाली है। यह बात भाजपा ही नहीं कांग्रेस के नेता खुद ही विधानसभा में कह रहे हैं कि हम इस बार हमारे विधायक सिटी बस या ऑटो में बैठने जितने आएंगे। पायलट और गहलोत के बीच विवाद के मामले में शेखावत ने कहा कि दोनों में गहरे मनभेद हैं। अब एक होने का आपस में कितना ही दिखावा करें, कुछ नहीं होगा।

मोदी के चेहरे पर लड़ेगी भाजपा चुनाव
उन्होंने कहा कि भाजपा में मुख्यमंत्री का नाम तय करने का काम संसदीय बोर्ड करेगा। भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्ढा और पूर्व अध्यक्ष अमित शाह कई बार कह चुके कि राजस्थान में विधानसभा चुनाव में हमारा चेहरा नरेन्द्र मोदी जी होंगे। दुनिया का सबसे लोकप्रिय चेहरा हमारे पास है। उन्होंने कहा कि मैं जिस विचारधारा से आता हूं, उसमें कौन व्यक्ति क्या काम करेगा? यह तय करने का काम संगठन करता है। मेरे मार्गदर्शक जैसा काम देंगे, वहीं पूरी ऊर्जा से काम करूंगा। किसी भी क्षेत्र में काम करें अंतत: हमारा काम भारत की माता की जयघोष है, जिसे पूरे श्रद्धा भाव से किया जाएगा।

मुझ पर लगाए सब आरोप निराधार
संजीवनी प्रकरण में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत द्वारा बार-बार लगाए जा रहे आरोपों के बारे में केन्द्रीय मंत्री शेखावत ने कहा कि मेरे ऊपर जितने भी आरोप अब तक लगाए गए, सब निराधार हैं। किसी भी कोर्ट ने मुझ पर कोई प्रसंज्ञान नहीं लिया, जबकि मैंने मानहानि का जो दावा किया था, उस पर कोर्ट ने प्रसंज्ञान लेकर मुख्यमंत्री जी को समन भेजा है।

[bsa_pro_ad_space id=2]
spot_img
spot_img

सम्बंधित समाचार

Ad

spot_img

ताजा समाचार

spot_img
error: Content is protected !!