25.7 C
Jodhpur

डेगाना-डीडवाना रेल मार्ग पर 110 की स्पीड से दौड़ी इलेक्ट्रिक स्पेशल

spot_img

Published:

-65 किमी रूट पर इलेक्ट्रिफिकेशन कार्य पूरा
-पीसीईई ने इलेक्ट्रिक स्पेशल से किया सफल रन ट्रायल
-जोधपुर मंडल पर इलेक्ट्रिफिकेशन का कार्य 50 फीसदी पूरा
-राइकाबाग-मेड़ता रोड के बीच कार्य प्रगति पर , अगले माह होगा पूरा

जोधपुर। उत्तर-पश्चिम रेलवे के जोधपुर मंडल पर डेगाना-डीडवाना रेल मार्ग के विद्युतीकरण का कार्य पूरा करवा लिया गया है।मंगलवार को नए विद्युतीकृत ट्रेक पर इलेक्ट्रिक स्पेशल ट्रेन 110 किलोमीटर प्रति घंटा की स्पीड से दौड़ा कर सफल रन ट्रायल किया गया।
इसके साथ ही जोधपुर मंडल के डेगाना से रतनगढ़ रेलवे स्टेशनों के बीच 152 किलोमीटर मार्ग का विद्युतीकरण कार्य पूरा हो गया है।

डीआरएम पंकज कुमार सिंह ने बताया कि जोधपुर मंडल पर रेल विद्युतीकरण का कार्य द्रुत गति से करवाया जा रहा है तथा इस दिशा में एक कदम और आगे बढ़ाते हुए डेगाना से डीडवाना रेलवे स्टेशनों के बीच 65 किलोमीटर रेल मार्ग का इलेक्ट्रिफिकेशन पूरा करवा लिया गया है। इस पर उन्होंने कर्षण विभाग के अधिकारियों व कर्मचारियों को बधाई दी।

मंगलवार को उत्तर-पश्चिम रेलवे के प्रधान मुख्य बिजली इंजीनियर राजेश मोहन ने मुख्यालय व जोधपुर मंडल के अधिकारियों के साथ डेगाना से डीडवाना के बीच इलेक्ट्रिक स्पेशल ट्रेन से 110 किलोमीटर प्रतिघंटा की स्पीड से सफल रन ट्रायल कर इसे इलेक्ट्रिक ट्रेन के संचालन हेतु फिट बताया। इस पर विद्युतीकरण कार्य में लगे कर्मचारियों में खुशी की लहर दौड़ गई। इस दौरान उन्होंने 65 किलोमीटर लंबे इस रेल मार्ग पर विद्युतीकरण से जुड़े कार्यों व नव निर्मित सब स्टेशनों के रखरखाव का बारीकी से निरीक्षण भी किया।

इस अवसर पर प्रधान मुख्य बिजली इंजीनियर राजेश मोहन के साथ कार्यकारी एजेंसी इरकॉन के मुख्य महाप्रबंधक मैनेजर वी के नागर,अपर मंडल रेल प्रबंधक मनोज जैन,मुख्य बिजली अभियंता (वितरण) जगदीश चौधरी,वरिष्ठ मंडल बिजली अभियंता(कर्षण) प्रवीण चौधरी,वरिष्ठ मंडल संकेत व दूरसंचार इंजीनियर सुरेश नेहरा,मंडल परिचालन प्रबंधक हितेश यादव सहित बड़ी संख्या में इलेक्ट्रिक विभाग अधिकारी,इंजीनियर व इंस्पेक्टर भी उपस्थित थे।

दिसंबर 2023 तक संपूर्ण विद्युतीकरण का लक्ष्य

जोधपुर मंडल के सभी रेल मार्गों के विद्युतीकरण का दिसंबर-2023 का लक्ष्य पूर्व निर्धारित है। इसके तहत 1626 में से 785 किलोमीटर रेल मार्गों का विद्युतीकरण करवा लिया गया है जिनमें से जोधपुर – मारवाड़ जंक्शन(104 किमी) रेल मार्ग पर इलेक्ट्रिक ट्रेनों का संचालन भी प्रारंभ हो चुका है। अब अगले चरण में राइकाबाग जंक्शन से मेड़ता रोड (101 किमी) रेल मार्ग के विद्युतीकरण का कार्य तेजी से करवाया जा रहा है जिसे अगस्त-2023 में पूरा करवाने का लक्ष्य निर्धारित है।

इन रेल मार्गों का हो चुका विद्युतीकरण

◆जोधपुर-मारवाड़ जंक्शन

◆लूणी-समदड़ी-बालोतरा-बाड़मेर

◆राइकाबाग से भीकमकोर

◆बीकानेर-नागौर-मेड़ता

◆मेड़ता-डेगाना-मकराना-परबतसर

◆रतनगढ़ से डेगाना वाया सुजानगढ़, लाडनूं, डीडवाना

[bsa_pro_ad_space id=2]
spot_img
spot_img

सम्बंधित समाचार

Ad

spot_img

ताजा समाचार

spot_img
error: Content is protected !!