25.7 C
Jodhpur

विधायक राठौड़ व केंद्रीय मंत्री शेखावत में विवाद चरम पर: भाजपा कार्यकर्ताओं पर आधी रात बाद कार्रवाई ने बढ़ाया तनाव

spot_img

Published:

  • शेरगढ़ विधानसभा क्षेत्र में भाजपा की अंदरुनी कलह हुई जगजाहिर
  • दोपहर बाद विधायक राठौड़ जयपुर के लिए रवाना हुए, मुख्यमंत्री से मुलाकात की चर्चा

चामू। भाजपा की ओर से जोधपुर संसदीय क्षेत्र से सांसद गजेंद्रसिंह शेखावत को तीसरी बार प्रत्याशी बनाए जाने के बाद ग्रामीण इलाकों में विरोध के स्वर इतने मुखर हो जाएंगे, ये शायद भाजपा नेतृत्व ने भी नहीं सोचा होगा। शेरगढ़ विधायक बाबूसिंह राठौड़ और सांसद व केंद्रीय जलशक्ति मंत्री शेखावत के बीच लंबे समय से चल रही आपसी खींचतान अब चरम पर पहुंच चुकी है। इसी बीच, गुरुवार को शेखावत के शेरगढ़ क्षेत्र में दौरे के दौरान भाजपा कार्यकर्ताओं द्वारा काले झंडे दिखाकर विरोध प्रदर्शन के बाद शेखावत गुट की ओर से पुलिस को बीच में लाने से माहौल और बिगड़ गया। देर रात पुलिस ने राठौड़ समर्थकों पर संगीन धाराओं में केस दर्ज करने और आधी रात बाद भाजपा कार्यकर्ताओं के घर पर दबिश देकर धरपकड़ के प्रयास देखे गए और इस कार्रवाई ने दोनों के बीच चल रहे विवाद में आग में घी डालने का काम कर दिया। शुक्रवार को विधायक राठौड़ की अगुवाई में भाजपा कार्यकर्ताओं ने विरोध प्रदर्शन किया। राठौड़ ने शर्मनाक करार देते हुए महिलाओं से अभद्रता करने वाले पुलिस अफसरों पर भी कार्रवाई की मांग कर दी।

आधी रात बाद पुलिस कार्रवाई से बिगड़ी बात, विधायक राठौड़ व पुलिस में तीखी नोकझोंक

शुक्रवार को चामू थाने के सामने शेरगढ़ विधायक बाबू सिंह राठौड़ के नेतृत्व में सैंकड़ों भाजपा कार्यकर्ताओं ने पुलिस द्वारा रात्रि में भाजपा पदाधिकारियों व कार्यकर्ताओं के विरुद्ध कार्यवाही करने व महिलाओं के साथ अभद्रता करने को लेकर विरोध प्रदर्शन किया। इसके लिए विधायक राठौड़ सुबह 8 बजे ही यहां पहुंच गए। इसके बाद 11 बजे यहां कार्यकर्ताओं को संबोधित करते राठौड़ ने इशारों-इशारों में अपनी ही सरकार में हो रहे इस तरह के बर्ताव और संजीवनी क्रेडिट को-ऑपरेटिव सोसायटी के मुद्दे पर शेखावत को घेरा।

दोपहर 12 बजे कार्यकर्ताओं के साथ नारे बाजी करते हुए चामू धरना स्थल से रवाना होते हुए सरस्वती स्कूल के आगे से होते हुए रावली पोल, पुराना बाजार,मुख्य बाजार,बस स्टेशन,भोमिया जी का थान होते हुए पुलिस थाने पहुंचे। ग्रामीणों ने पुलिस प्रशासन हाय हाय,पुलिस तेरी तानाशाही नही चलेगी नहीं चलेगी। बहिन बेटियों का अपमान नहीं सहेगा राजस्थान के नारे लगाते हुई रैली थाने पहुंची।

 1 बजे थाने पहुंचने के बाद पुलिस के खिलाफ नारे बाजी हुई,ग्रामीण पुलिस उप अधीक्षक भोपाल सिंह ने विधायक राठौड़ ने वार्ता करनी चाही।विधायक ने यह कहते हुए मना कर दिया कि ग्रामीण पुलिस अधीक्षक से ही वार्ता करेंगे।काफी देर कर हंगामा हुआ।उसके बाद व्रत अधिकारी बालेसर पदम दान  ने विधायक की फोन पर पुलिस ग्रामीण अधीक्षक धर्मेंद्र सिंह यादव से वार्ता करवाई।

ये उठाई मांग

विधायक राठौड़ ने ग्रामीण पुलिस अधीक्षक ने मांग की कि बिना वजह भाजपा कार्यकर्ताओं को पुलिस परेशान कर रही है। जिस धाराओं में मुकदमा दर्ज किया है।वो अपराध हुआ ही नहीं।जब तक सरकार स्तर पर जयपुर में वार्ता हो तब तक धरपकड़ बंद हो। घटना  की निष्पक्ष जांच हो। महिलाओं के साथ अभद्रता करने वाले पुलिस कर्मियों के खिलाफ कार्यवाही हो।जिस पर ग्रामीण पुलिस अधीक्षक ने धरपकड़ रोकने  व उचित कार्रवाई का भरोसा दिया। जिसके बाद धरना समाप्त किया। 2 बजे धरना स्थल पर भाजपा कार्यकर्ताओं के साथ विधायक ने भोजन किया। व जयपुर के लिए निकल गए। 2:30 बजे पुलिस के ग्रामीण उप अधीक्षक भोपाल सिंह रवाना हुए।3 बजे आर एस सी व आसपास के पुलिस थानों से आई पुलिस की गाड़ियां रवाना हुई।

विधायक राठौड़ ने ये कहा अपने संबोधन में

कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा की पुलिस द्वारा भाजपा कार्यकर्ताओं को परेशान किया जा रहा है।रात्रि में 11:30 बजे के लगभग पुलिस भाजपा कार्यकर्ताओं के घर पहुंचती है तथा महिलाओं के साथ अभद्र व्यवहार करती है। भाजपा कार्यकर्ताओं ने केंद्रीय जल शक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत से मिलकर पानी की समस्या के बारे में बताना चाह। लेकिन पुलिस ने उनसे मिलने नहीं दिया। जिससे गुस्साऐं ग्रामीणों ने विरोध में नारे लगाए। इसके बाद पुलिस ने झूठे ही  विभिन्न धाराओं में मामले दर्ज किये।पुलिस ने मेरे साथ भी अभद्रता की।साथ ही कहा कि ग्रामीणों के संजीवनी में पैसे डूबे हुए है। जो उनको मिलने चाहिए। केंद्रीय मंत्री ने ये कार्य घोषणा करने के बाद भी नही करवाए। विश्व विद्यालय जोधपुर को केंद्रीय विश्व विद्यालय बनाने की 7 वर्ष पहले घोषणा की आज तक नहीं हुआ।

शेरगढ़ में केंद्रीय विद्यालय स्वीकृत करने का मंच से राजनाथ सिंह के द्वारा कहलवाया लेकिन आज तक स्वीकृत नहीं हुआ। शेरगढ़ विधानसभा की रेल लाईन से जोड़ने की घोषणा हुई लेकिन आज तक नही जुड़ा। जल शक्ति मंत्री होते हुए भी अपने संसदीय क्षेत्र में पानी की समस्या का समाधान नहीं किया। जोधपुर शहर की मुख्य समस्या ट्रैफिक की है उसके समाधान के लिए डी पी आर  बनाने की घोषणा की।अभी तक नहीं बना। पुलिस किस के दबाव में आकर कार्य कर रही है।ये आप सब को पत्ता है।पुलिस ने राज कार्य में बाधा, पत्थर फेकना,पुलिस के साथ धका मुक्की करना,सहित विभिन्न धाराओं में झूठे मामले दर्ज किए। पुलिस बिना ट्रेस आउट किए पुलिस भाजपा कार्यकर्ताओं के घर पहुंची।बिना मामला दर्ज किए रात्रि में दबाव में पुलिस कर्मियों ने बहिन बेटियों व महिलाओं के साथ पुलिस ने अभद्रता की। मेरे साथ भी पुलिस के अधिकारियों ने अभद्रता की।मेने पुलिस अधिकारियों को कहा कि अगर पत्थर फेंके तो विडियो बताओ निर्दोषों को परेशान मत करो।फिर रात्रि में लगभग 3 बजे मामला दर्ज किया।

इनके खिलाफ हुआ मामला दर्ज

आईपाल सिंह, नाथू सिंह,मगसिंह,हरिसिंह,उम्मेदसिंह,मनोहर सिंह चंदन सिंह,रामसिंह,उगमसिंह,नकताराम,चंदू प्रजापत के खिलाफ 143,332,353,336 भादस की धाराओं में मामले दर्ज हुए।

शेरगढ़ विधायक बाबू सिंह राठौड़ ने मीडिया से बातचीत करते हुए कहा कि बहन बेटियों का अपमान नहीं सहेगा राजस्थान। रात्रि में पुलिस द्वारा महिलाओं के साथ अभद्र व्यवहार किया गया। जिसको लेकर धरना प्रदर्शन किया जा रहा है। पुलिस के साथ महिला कर्मचारी  नहीं होते हुए भी महिलाओं के साथ पुलिस कर्मियों ने अभद्रता करते हुए धक्का मुखी की है।भाजपा पदाधिकारी व कार्यकर्ताओं को टारगेट कर रात्रि में पुलिस द्वारा कार्रवाई की गई।उससे कार्यकर्ताओं व जनता में भारी रोष है। 12 पुलिस थाना की पुलिस व 200 आर एस सी के जवान चामू थाना परिसर में मौजूद थे।एतिहात के तौर पर जोधपुर ग्रामीण पुलिस उप अधीक्षक भोपाल सिंह व जयदेव सियाग,पदम दान, संजय,गंगाराम चौधरी,लाखाराम,अमनाराम, करणी दान,ओमप्रकाश गोदारा सहित पुलिस अधिकारी व जवान,पूर्व प्रधान बाबूसिंह इंदा,मानसिंह भाटी,हिम्मत सिंह,बजरंग शर्मा,कानाराम साई,गुलाब सिंह,भोपालसिंह,सहित सोकड़ों की संख्या में भाजपा कार्यकर्ता उपस्थित थे।

[bsa_pro_ad_space id=2]
spot_img
spot_img

सम्बंधित समाचार

Ad

spot_img

ताजा समाचार

spot_img
error: Content is protected !!