18.2 C
Jodhpur

धरियावद: महिला को निर्वस्त्र कर घुमाने का मामला: पीड़िता से बात कर सीएम ने की सरकारी नौकरी व 10 लाख मुआवजे की घोषणा

spot_img

Published:

नारद प्रतापगढ़। प्रतापगढ़ के धरियावद में एक महिला को निर्वस्त्र कर घुमाने की शर्मनाक घटना में अब तक सात बदमाशों की गिरफ्तारी हो चुकी है। वहीं, दूसरी ओर, मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने शनिवार को पीड़िता से बात कर इस केस में सख्त कार्यवाही का भरोसा दिया। पीड़िता व उसके माता-पिता से बात करते हुए गहलोत ने पीड़िता को सरकारी नौकरी और 10 लाख रुपए का मुआवजा देने की घोषणा भी की है। इस दौरान सीएम ने कहा कि सभ्य समाज में ऐसे अपराधियों के लिए कोई स्थान नहीं है। महिला ने शुक्रवार देर रात को शिकायत दर्ज कराई थी और पुलिस ने त्वरित कार्रवाई करते हुए 7 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। शेष आरोपियों की भी सरगर्मी से तलाश की जा रही है। इनमें से कोई भी नहीं बचेगा। गहलोत ने कहा कि शुक्रवार रात को ही डीजीपी को त्वरित एक्शन के निर्देश दिए थे। इसी की पालना में डीजीपी उमेश मिश्रा ने एडीजी (क्राइम) दिनेश एमएन को मौके पर भेजा।

कम सुविधाओं के बावजूद तत्परता व गंभीरता से किया टीम ने काम

सीएम गहलोत ने कहा कि धरियावद गांव में कम सुविधाओं के बावजूद क्षेत्रीय विधायक, थानाधिकारी की टीम और पुलिस अधीक्षक ने इस मामले में न केवल गंभीरता दिखाई, बल्कि तत्परता के साथ एक्शन भी लिया। इसी के परिणामस्वरूप अब तक सात आरोपी पुलिस की गिरफ्त में आ चुके हैं। अन्य भी जल्द गिरफ्त में होंगे। इस मामले को फास्ट ट्रेक कोर्ट में चलाया जाएगा, जिससे की ऐसी घिनौनी हरकत करने वालों को जल्द से जल्द और अधिकतम सजा दिलाई जा सके।

एडीजी दिनेश एमएन के सुपरविजन में 5 सदस्यीय एसआईटी गठित

उल्लेखनीय है कि इस प्रकरण की जांच के लिए एडीजी दिनेश एमएन के सुपरविजन में पांच सदस्यीय एसआईटी का गठन किया गया है। इसमें अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक एसआईयूसीएडब्ल्यू प्रतापगढ़ ऋषिकेश मीणा, सीओ धरियावद धनफूल मीणा, सीओ मावली उदयपुर कैलाश कुंवर, एसएचओ धरियावद पेशावर खान और महिला कांस्टेबल साइबर थाना प्रतापगढ़ पूजा को शामिल किया गया है। इस संबंध में डीजीपी उमेश मिश्रा ने बताया कि आईजी बांसवाड़ा रेंज और एसपी प्रतापगढ़ के सुपरविजन में गठित एसआईटी घटना की समस्त पहलुओं की जांच कर रिपोर्ट राज्य सरकार और पुलिस मुख्यालय को सौंपेगी तथा तकनीकी व वैज्ञानिक रूप से साक्ष्य संकलन कर प्रकरण का समयबद्ध निस्तारण करेगी।

वैवाहिक विवाद में ससुराल वालों ने किया था ये कृत्य

डीजीपी श्री मिश्रा ने बताया कि थाना धरियावद क्षेत्र के एक गांव में विवाहिता को वैवाहिक विवाद के चलते उसके ससुराल वालों द्वारा निर्वस्त्र कर घुमाने का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था। इस पर थाना धरियावद पर आईपीसी की संबंधित धाराओं, स्त्री अशिष्ट नियंत्रण अधिनियम व आईटी एक्ट में मुकदमा दर्ज अभियुक्तों को नामजद कर अनुसंधान प्रारंभ किया गया। इस संगीन मामले में बदमाशों को गिरफ्तार करने के लिए 30 अलग-अलग टीमें गठित की गई थी।

अब तक 7 गिरफ्तार, चार अन्य से पूछताछ जारी

पुलिस टीमों ने आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए संभावित ठिकानों पर दबिश दी गई। त्वरित कार्रवाई करते हुए पुलिस ने 12 घंटे के अंदर मुख्य आरोपी कान्हा पुत्र लालिया, नाथू पुत्र नगजी मीणा, वेणिया पुत्र भेरा निवासी पहाड़ा निचला कोटा व एक बाल अपचारी को डिटेन कर सात आरोपियों पिन्टू पुत्र भेरीया, खेतिया पुत्र लेम्बिया मीणा, मोती लाल पुत्र रामा मीणा, पुनिया पुत्र बाबरीया मीणा, केसरा पुत्र मानेंग मीणा, सुरज पुत्र केसरा एवं नेतिया पुत्र पांचिया निवासी पहाडा निचला कोटा थाना धरियावद को गिरफ्तार किया गया।

#Dhariyavad: Case of making a woman roam naked: After talking to the victim, CM announced government job and 10 lakh compensation

[bsa_pro_ad_space id=2]
spot_img
spot_img

सम्बंधित समाचार

Ad

spot_img

ताजा समाचार

spot_img
error: Content is protected !!