37.4 C
Jodhpur

पावटा बस स्टैंड का नाम परमवीर मेजर शैतानसिंह के नाम पर करने की मांग

spot_img

Published:

– महाराणा प्रताप समिति की बैठक में प्रबुद्धजनों ने किया मंथन, मुख्यमंत्री से करेंगे आग्रह

नारद जोधपुर। शहर के पावटा चौराहा के निकट नवनिर्मित बस स्टैंड का नामकरण परमवीर मेजर शैतानसिंह के नाम पर करने की मांग उठाई है महाराणा प्रताप समिति ने। शनिवार को समिति की बैठक आयोजित हुई, इसमें तय किया गया कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से मिलकर इस संबंध में आग्रह किया जाएगा।

समिति पदाधिकारियों के अनुसार जिसमें पावटा नवनिर्मित बस टर्मिनस का नाम राजस्थान ही नहीं पूरे भारत के परमवीर चक्र विजेता मेजर शैतान सिंह के नाम रखने पर विचार विमर्श कर मुख्यमंत्री को ज्ञापन हेतु बैठक रखी गयी। जिसमें सभी ने अपने विचार रखें ओर बताया कि उनको सच्ची श्रद्धांजलि तभी होगी, जब इस टर्मिनस का नाम मेजर शैतानसिंह के नाम से हो जिससे भविष्य की युवा पीढ़ी को उनकी वीरता के बारे में ज्ञान होगा। परमवीर योद्धा जिन्होंने 1962 भारत चीन युद्ध में चीनी सैनिकों को खदेड कर अपना पराक्रम दिखाते हुए मातृभूमि के लिए न्यौछावर होंगये और परमवीर चक्र विजेता के रूप में आज हिंदुस्तान उनको याद करता है भारत की केंद्र सरकार ने भी परमवीर चक्र विजेताओं के नाम से अंडमान निकोबार में उन परमवीर चक्र विजेता के नाम से द्वीपों का नामकरण किया, मारवाड़ के वीर सपुत को सच्ची श्रद्धांजलि देने हेतु माननीय मुख्यमंत्री श्री अशोक जी गहलोत से हम निवेदन करते हैं कि ये केवल हमारी मांग नहीं, इसको पुरे प्रदेशवासियों की मांग समझकर ये महान निर्णय लेंगे, इससे पहले राजस्थान प्रदेश भूतपूर्व सैनिक समिति ने भी इसके लिए ज्ञापन दिए और मांग की है। बैठक में समिति के सदस्य गुलाब सिंह ड़ावरा, लादूसिंह बिंजवादिया, कुलदीपसिंह नांदिया, मेजर दुष्यंतसिंह, एडवोकेट गुलाबसिंह नरुका, अजीतपालसिंह मेड़तिया, रघुवीर सिंह बेलवा, भेरूसिंह चाबा, भूपेन्द्र सिंह साँकड़ा व अन्य सदस्य उपस्थित रहे।

ये भी देखें…पावटा चौराहा पर कब-किसने स्थापित की थी परमवीर मेजर शैतानसिंह की प्रतिमा, क्या है इतिहास… किसके नाम से आज भी कांपती है चीनी सेना…?

[bsa_pro_ad_space id=2]
spot_img
spot_img

सम्बंधित समाचार

Ad

spot_img

ताजा समाचार

spot_img
error: Content is protected !!