संयुक्त राष्ट्र में पाकिस्तान को भारत का करारा जवाब

0
77

नई दिल्ली.
पाकिस्तान ने संयुक्त राष्ट्र महासभा में फिर आदतन कश्मीर का मुद्दा उठाया, मगर उसे मुंह की खानी पड.ी। पाकिस्तान ने कश्मीर मामले के लिए एक विशेष राजदूत नियुक्त करने की मांग की है और इसका शांतिपूर्ण तरीके से शीघ्र समाधान निकाले जाने की अपील भी की। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री के रूप में पहली बार महासभा की बैठक में हिस्सा लेने वाले शाहिद खाकान अब्बासी ने विश्व समुदाय से कश्मीर समस्या का हल निकालने की अपील की। शाहिद अब्बासी के आरोपों पर भारत की तरफ से संयुक्त राष्ट्र में भारत के स्थायी मिशन में प्रथम सचिव एनम गंभीर ने पाकिस्तान के आरोपों पर करारे जवाब दिए…। यहां पढिए पाकिस्तान के आरोप और भारत के जवाब-

पाक का आरोप पीएम शाहिद अब्बासी ने संयुक्त राष्ट्र में भारत पर आरोप लगाया कि दिल्ली से जम्मू-कश्मीर में युद्ध अपराध हो रहा है।
भारत का जवाब भारत ने यूएन में कहा कि पाकिस्तान अपनी ही जमीन पर मानवाधिकारों का उल्लंघन करता रहा है। पाकिस्तान को यह समझ लेना चाहिए जम्मू-कश्मीर हमारा अभिन्न हिस्सा है। पाकिस्तान, सीमा पार से जितनी चाहे घुसपैठ करता रहे, लेकिन वह भारत की अखंडता को कम नहीं कर पाएगा।
पाक का आरोप भारत 600 बार सीजफायर तोड़ चुका है।
भारत का जवाब भारत ने कहा है कि पाकिस्तान आतंकवादियों का गढ़ है और दुनिया को मानवाधिकार पर पाकिस्तान के विचारों की जरूरत नहीं है। दुनिया में आतंक फैलाने वाला देश है टेरररिस्तान।
पाक का आरोप भारत उन पर आतंकवादी गतिविधियों में लिप्त होने का आरोप लगाता रहता है।
भारत का जवाब खुद आतंकी ओसामा बिन लादेन को शरण दे रखी थी और खुद को पीड़ित बता रहा है। जब पाकिस्तान लादेन के बारे में पूछा जाता था तो उसका जवाब होता था कि उसे इसके बारे में कुछ नहीं पता लेकिन बाद में वो पाकिस्तान में ही मारा गया।
पाकिस्तान का आरोप पाकिस्तान ने कहा कि वह अफगानिस्तान के युद्ध में बलि का बकरा नहीं बन सकता और वह ऐसी किसी भी विफल रणनीति का समर्थन नहीं करेगा जिससे इस क्षेत्र के लोगों की परेशानियां और बढ़ें।
भारत का जवाब संयुक्त राष्ट्र में भारत के स्थायी मिशन में प्रथम सचिव एनम गंभीर ने कहा, अब तक पाकिस्तान के सभी पड़ोसी तथ्यों को तोड़-मरोड़ने, धूर्तता, बेईमानी और छल-कपट पर आधारित कहानियां तैयार करने की उसकी चालों से भलीभांति परिचित हैं और परेशान हैं। उन्होंने जोर देकर कहा कि वैकल्पिक तथ्यों को तैयार करने के प्रयासों से वास्तविकता नहीं बदल जाती।
पाकिस्तान का आरोप पाकिस्तान के प्रधानमंत्री शाहिद खाकान अब्बासी ने संयुक्त राष्ट्र महासभा को संबोधित करते हुए दावा किया कि उनके देश में तालिबान की कोई पनाहगाह नहीं हैं।
भारत का जवाब पाकिस्तान को टेररिस्तान बताते हुए भारत ने कहा कि वह आतंक का पयार्य बन चुका है। वहां एक फलता-फूलता उद्योग है जो वैश्विक आतंकवाद को पैदा करता है और उसका निर्यात करता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here