जोधपुर-वलसाड ट्रेन में फर्जी सीबीआई ऑफिसर पकड़ा ,मास्क नहीं पहने यात्रियों से वसूल रहा था अवैध रुप से जुर्माना

जोधपुर से वलसाड चलने वाली ट्रेन में एक फर्जी सीबीआई ऑफिसर को पकड़ा है। वह खुद को सीबीआई ऑफिसर बताते हुए यात्रियों को मास्क नहीं पहनने पर डांट रहा था, कई लोगों को 500 रुपए का चालान बनाने की बात कहते हुए धमकाया। इस पर कई यात्रियों ने 100-100 रुपए देकर पीछा छुड़ाया। कुछ जागरूक यात्रियों ने इसकी शिकायत टीसी (टिकट कलेक्टर) से की तो वे मौके पर पहुंचे। उन्होंने उस व्यक्ति से सीबीआई का आई कार्ड मांगा तो कोई जवाब नहीं दे सका। यात्रियों की लिखित शिकायत पर टीसी ने मारवाड़ जंक्शन स्टेशन पर उसको जीआरपी को सौंपा।
दरअसल जोधपुर से शाम 6.40 बजे वलसाड जाने वाली ट्रेन में बुधवार शाम को सूरत निवासी नेमीचंद (54) नाम का एक व्यक्ति चढ़ा, जो पूरी ट्रेन में घूमता रहा। जिन लोगों ने मास्क नहीं पहन रखे थे उन्हें सीबीआई ऑफिसर बनकर धमकाया और बोला की 500 रुपए जुर्माना लगेगा। नहीं तो पुलिस के हवाले कर दूंगा। उनसे बचने के लिए कई भोले-भाले यात्रियों ने 100-100 रुपए देकर अपना पीछा छुड़ाया। उक्त अधेड़ ट्रेन के अन्य कोच में भी गया और वहां भी उन्हें कोई बिना मास्क नजर आया तो उन्हें मास्क पहनने के लिए धमकाया और 500-500 रुपए जुर्माना मांगा लेकिन कुछ ने कहा कि हम आपको नहीं टीसी को जुर्माना देंगे, आपने तो वर्दी भी नहीं पहन रखी। कुछ यात्री उप मुख्य टिकट निरीक्षक हरदेव सिंह चौहान को बुला लाए और अपनी पीड़ा बताई। जिस पर उन्होंने खुद को सीबीआई ऑफिसर बताने वाले अधेड़ से उसका आईकार्ड मांगा तो वे कोई जवाब नहीं दे सका और खुद का नाम नेमीचंद निवासी सूरत बताया। जब उन्होंने सीबीआई ऑफिसर होने का कोई प्रमाण नहीं दिया तो उप मुख्य टिकट निरीक्षक ने उनकी जांच की तो उनके पास इस तरह का कोई आई कार्ड नहीं मिला। जिस पर ट्रेन में सवार जोधपुर निवासी यात्री मनोहर सिंह, हैदराबाद निवासी मुकेश चौधरी, जोधपुर निवासी कांतिलाल जैन की लिखित शिकायत पर मारवाड़ जंक्शन जीआरपी को सौंपा।

NEWS

Related articles

Leave a reply

Please enter your comment!
Please enter your name here