33.1 C
Jodhpur

बच्चों की प्रथम गुरु मां: संत नारायण दास

spot_img

Published:

नारद मथानिया। बालिका आदर्श विद्या मंदिर मथानिया में शनिवार को मातृ सम्मेलन आयोजित हुआ जिसमें परम् पूज्य संत नारायण दास महाराज का मार्गदर्शन मिला। महाराज ने कहा की एक मां ही बच्चे की प्रथम गुरु होती है। माता-पिता अपने बच्चों के साथ अच्छा आचरण करें क्योंकि छोटे बच्चे अपने घर में माता-पिता के व्यवहार को देखकर ही सीखते हैं। साथ ही महाराज में पर्यावरण को प्लास्टिक से मुक्त करवाने के उपाय बताएं।

कार्यक्रम के मुख्य वक्ता आदर्श शिक्षण संस्थान जोधपुर के जिला सचिव श्री संग्राम काला रहे। उन्होंने बताया कि अपने बच्चों के व्यवहार में भारतीय संस्कृति को अपनाना होगा जिससे कि परंपरागत संस्कृति जीवित रह सके। माताएं हमेशा अपने बच्चों के प्रति सत्यता का आचरण करें एवं पूर्वजों  एवं महापुरुषों की कहानियों से उन्हें साहसिकता की परिभाषाओं को बताए।  प्रधानाचार्या सुमित्रा शर्मा ने मातृ सम्मेलन के कार्यक्रम में सम्मिलित माता -बहनों का आभार जताया। विद्यालय में माताओं के उत्साहवर्धन हेतु रस्सा खींच प्रतियोगिता और म्यूजिकल चेयर के खेल का भी आयोजिन करवाए गए। गणवेश एवं बस्ता प्रतियोगिता में प्रथम व द्वितीय स्थान प्राप्त करने वाले भैया बहनों को पुरस्कार देकर सम्मानित किया। कार्यक्रम में स्थानीय समिति के अध्यक्ष चांदरतन डागा,राधे श्याम,रमेश डागा,उच्च माध्यमिक भाग के प्रधानाचार्य कुनाराम, शिशु वाटिका प्रभारी किशन सांखला, विक्रम सिंह एवं विद्यालय के आचार्य उपस्थित रहे।

[bsa_pro_ad_space id=2]
spot_img
spot_img

सम्बंधित समाचार

Ad

spot_img

ताजा समाचार

spot_img
error: Content is protected !!