20.4 C
Jodhpur

जयपुर स्टेट जीएसटी की असिस्टेंट कमिश्नर और दलाल रिश्वत लेते गिरफ्तार

spot_img

Published:

– एक व्यवहारी के खाते एवं ऑफिस सीज करने की एवज में दलाल के माध्यम से ली 6.10 लाख की रिश्वत

– आवास एवं अन्य ठिकानों पर तलाशी जारी

जयपुर। जयपुर एसीबी की विशेष अनुसंधान इकाई टीम ने कार्रवाई करते हुए स्टेट जीएसटी (State GST) की असिस्टेंट कमिश्नर और एक दलाल (प्राइवेट व्यक्ति) को 6.10 लाख रुपए की रिश्वत लेते गिरफ्तार किया है। एसीबी की टीमें इनके घर और अन्य ठिकानों पर तलाशी भी ले रही है। एसीबी मुख्यालय के निर्देश पर विशेष अनुसंधान इकाई, जयपुर द्वारा आज कार्यवाही करते हुये सहायक वाणिज्य कर आयुक्त सर्किल-एच, वार्ड प्रथम, जोन चतुर्थ प्रियंका शर्मा और दलाल वेदप्रकाश शर्मा को 6 लाख 10 हजार रूपये की रिश्वत लेने के आरोप में गिरफ्तार किया है।

एडीजी (एसीबी) हेमन्त प्रियदर्शी (अतिरिक्त चार्ज महानिदेशक) ने बताया कि एसीबी की विशेष अनुसंधान इकाई, जयपुर को परिवादी द्वारा शिकायत दी गई कि 6-7-2023 को उसकी फर्म के सर्वे के दौरान उसके खाते ऑफिस सीज करने धमकी देकर प्रियंका शर्मा सहायक वाणिज्य कर आयुक्त, सर्किल-एच, वार्ड-प्रथम, जोन-चतुर्थ, कर विभाग, जयपुर द्वारा 28 लाख रूपये रिश्वत राशि की मांग कर परेशान किया गया तथा इसके बाद आरोपिया द्वारा दिनांक 23-7-2023 को अपने दलाल वेदप्रकाश (प्राईवेट व्यक्ति) के माध्यम से 6 लाख 10 हजार रूपये की रिश्वत वसूल की गई है।

इस पर एसीबी जयपुर के डीआईजी रणधीर सिंह के सुपरवीजन में एसीबी विशेष अनुसंधान इकाई, जयपुर के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक बजरंग सिंह शेखावत के निर्देशन में शिकायत का सत्यापन करवाया गया। तत्पश्चात शुक्रवार को पुलिस इंस्पेक्टर सज्जन कुमार की टीम ने जयपुर में कार्यवाही करते हुये प्रियंका शर्मा पत्नी आशीष शर्मा निवासी ए-37, राजपूताना मार्ग, सत्यनगर, झोटवाड़ा, जयपुर हाल सहायक वाणिज्य कर आयुक्त, सर्किल-एच, वार्ड-प्रथम, जोन-चतुर्थ, कर विभाग, जयपुर और दलाल वेदप्रकाश शर्मा पुत्र अशोक शर्मा निवासी 1, तिरूपति फ्लेटस्, कालवाड़ रोड़, झोटवाड़ा, जयपुर को परिवादी से 6 लाख 10 हजार रूपये की रिश्वत राशि लेने के आरोप में बाद पूछताछ गिरफ्तार किया गया है। आरोपिया एवं दलाल से रिश्वत राशि बरामद करने के संबंध में पूछताछ एवं अनुसंधान किया जा रहा है।

एसीबी के आईजी सवाई सिंह गोदारा के निर्देशन में आरोपियों के आवास एवं ठिकानों पर तलाशी जारी है। एसीबी द्वारा मामले में भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के अन्तर्गत प्रकरण दर्ज कर अग्रिम अनुसंधान किया जायेगा।

एसीबी की अपील

एडीजी (एसीबी) हेमन्त प्रियदर्शी (अतिरिक्त चार्ज महानिदेशक) ने समस्त आमजन से अपील की है कि भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो की टोल-फ्री हैल्पलाईन नं. 1064 एवं Whatsapp हैल्पलाईन नं. 94135-02834 पर 24×7 सम्पर्क कर भ्रष्टाचार के खिलाफ अभियान में अपना महत्वपूर्ण योगदान दें। एसीबी आपके वैध कार्य को करवाने में पूरी मदद करेगी। विदित रहे कि एसीबी राजस्थान राज्य में राज्य कर्मियों के साथ-साथ केन्द्र सरकार के कार्मिकों के विरूद्ध भी कार्यवाही करने को अधिकृत है।

[bsa_pro_ad_space id=2]
spot_img
spot_img

सम्बंधित समाचार

Ad

spot_img

ताजा समाचार

spot_img
error: Content is protected !!