37.4 C
Jodhpur

गलती से भेज दिए अनजान शख्स को 20 हजार रुपए, पुलिस की साइबर टीम ने रिफंड करवाए

spot_img

Published:

– पुलिस ने आमजन से अपील के साथ साइबर क्राइम से बचने के लिए जारी की गाइडलाइन

नारद जोधपुर। अब वो दिन लद गए, जब पुलिस की सिर्फ एक ही छवि दिखाई देती थी और लोगों के दिलों में पुलिस के प्रति भय नजर आता था। पुलिस अब आमजन की तकलीफ को न सिर्फ समझ रही है, बल्कि उनकी हरसंभव मदद के लिए भी तत्पर रहते देखी जा रही है। ऐसा ही एक उदाहरण देखने को मिला पीपाड़ शहर इलाके में। जहां एक शख्स ने गलती से किसी अनजान व्यक्ति के खाते में 20 हजार रुपए ऑनलाइन भेज दिए। इसका अहसास होने पर पीड़ित ने उस खाताधारक से संपर्क कर रुपए वापस लौटाने का आग्रह भी किया, लेकिन उसे राहत नहीं मिली। तब परेशान हालत में वह पुलिस के पास पहुंचा। ग्रामीण पुलिस की साइबर टीम ने तत्परता दिखाते हुए कार्रवाई कर पहले तो उस राशि को होल्ड कराया और कानूनी औपचारिकताएं पूरी करवाकर पीड़ित को रिफंड भी करवा दी।

एसपी (जोधपुर रूरल) धर्मेंद्रसिंह यादव ने बताया कि पीपाड़ के कोसाना निवासी सुमेर गहलोत की ओर से साइबर क्राइम पोर्टल के नंबर 1930 पर शिकायत दर्ज कराई थी। इस पर साइबर सैल को एक्शन के निर्देश दिए गए। अंतत: सुमेर गहलोत के खाते में राशि रिफंड करवाने में सफलता मिली। इस कार्यवाही में डीएसपी (साइबर सैल) हरजीराम की मॉनिटरिंग में साइबर एक्सपर्ट कांस्टेबल पुखराज व दयालसिंह की टीम ने परिवादी से विस्तृत जानकारी लेने के साथ ही तत्परता से संबंधित बैंक के नोडल अधिकारी से बात व पत्राचार कर 20 हजार रुपए होल्ड करवा लिए। एकबारगी यह राशि होल्ड करवाने के साथ ही शेष औपचारिकताएं पूरी करवाई गई, जिससे राशि रिफंड हो पाई।

आमजन ये सावधानियां बरतें तो साइबर फ्रॉड से बचने की पूरी गुंजाइश

साइबर क्राईम / फ्रॉड होने पर 1930 पर कॉल या cybercrime.gov.in पर लॉगिन कर तत्काल शिकायत दर्ज करावे।

1. ओटीपी / पिन / सीवीवी नंबर शेयर नहीं करें।

2. ऑनलाईन अकान्ट्स/नेटबैंकिग के Alphanumeric Special Character के साथ Complex पासवर्ड रखें।

3. नाम/मोबाईल नंबर/जन्मतिथि को पासवर्ड नहीं बनाये।

4. लॉटरी / कैशबैक / रिफण्ड / जॉब्स / गिफ्ट इत्यादि ऑनलाइन प्रलोभनों से सावधान रहें।

5. यूपीआई पिन व क्यूआर कोड स्कैन का प्रयोग केवल भुगतान करने के लिए किया जाता है, न कि धन राशि प्राप्त करने के लिये।

6. सोशल मीडिया अकाउन्ट्स पर Two step verification / Two Factor Authentication ऑन रखें।

7. कस्टमर केयर के नंबर कभी भी गुगल से सर्च नहीं करें, केवल आधिकारिक वेबसाईट से प्राप्त करें।

8. मोबाईल डिवाईस का GPS / Bluetooth / NFC / Hotspot / WiFi आवश्यक होने पर ही ऑन रखे।

9. अनजान लोगों से प्राप्त होने वाली वीडियो कॉल रिसीव नहीं करें और नही फ्रेन्ड रिक्वेस्ट स्वीकार करें।

10. पब्लिक WiFi में ऑनलाईन शापिंग या बैकिंग ट्रांजक्शन नहीं करें।

11. अनजान क्यूआर कोड स्केन/लिंक पर क्लिक नहीं करें।

12. अनजान व्यक्ति के कहने पर Remote Access Apk Anydesk, Teamviewer, Airdrop, Meadmin, Airminer इत्यादि एप्लिकेशन इंस्टॉल या डाउनलोड नहीं करें।

13. Automatic Forwarding एप्लीकेशन इंस्टॉल या डाउनलोड नहीं करें।

14. Whatsapp, Instagram, Facebook, Truecaller की DP में वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों के नाम वर्दी पहने फोटो या किसी परिचित व्यक्ति का फोटो दिखाई देने पर तत्काल विश्वास नहीं करें। कोई भी लेनदेन करने से पूर्व परिचित व्यक्ति से कॉल कर सत्यापन करें।

15. ऑनलाईन सोशल साईट पर पर्सनल फोटो/वीडियो शेयर नहीं करें।

16. Like / Review / Ratings के नाम पर घर बैठे रूपये कमाने के लालच में नहीं आवे और नही Invest करें।

17. आरबीआई द्वारा स्वीकृत बैकिंग/नॉन बैकिंग वित्तिय संस्थानों के अधिकृत लोन ऐप से ही लोन लेवें।

18. गलत या धोखे से गलत व्यक्ति के खाते में यूपीआई से धनराशि ट्रांसफर होने पर www.npci.org.in पर ऑनलाईन शिकायत दर्ज करें।

[bsa_pro_ad_space id=2]
spot_img
spot_img

सम्बंधित समाचार

Ad

spot_img

ताजा समाचार

spot_img
error: Content is protected !!