17.7 C
Jodhpur

सड़क पर न करें ये 5 गलतियां | अब बिना टेस्ट के बनेंगे ड्राइविंग लाइसेंस

spot_img

Published:

अगर ड्राइविंग के समय ड्राइविंग लाइसेंस साथ नहीं है तो आपको भारी चालान का सामना करना पड़ सकता है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि यह कितने समय के लिए वैलिड होता है और किसके लिए यह कितने समय के लिए जारी किया जाता है। और इन पांच कारणों से आपका लाइसेंस रद्द किया जा सकता है। आइए आपको बताते हैं इससे जुड़ी सभी अहम जानकारियां…

1. ओवरस्पीडिंग।
2. गलत तरीके से गाड़ी चलाना।
3. सड़क पर दौड़ना।
4. बाइक पर ट्रिपलिंग
5. वाहन चलाते समय सीट बेल्ट नहीं

तो इससे बचने के लिए और आपको ड्राइविंग लाइसेंस बनवाना चाहिए। अब बिना टेस्ट बनेंगे ड्राइविंग लाइसेंस, नहीं जाना पड़ेगा बार-बार आरटीओ ऑफिस

ड्राइविंग टेस्ट की अब आवश्यकता नहीं है

बदले हुए नियमों के मुताबिक फिलहाल आपको ड्राइविंग परमिट लेने के लिए आरटीओ ऑफिस में ड्राइविंग टेस्ट देने की जरूरत नहीं होगी. अब केंद्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय ने नया नियम लागू कर दिया है।

ड्राइविंग स्कूल जा रहे हैं

आपकी जानकारी के लिए बता दे कि ड्राइविंग परमिट बनवाने के लिए अब आपको आरटीओ ऑफिस के बजाय ड्राइविंग स्कूल जाना होगा. हां, आप किसी भी ड्राइविंग स्कूल में जाकर परमिट के लिए अपना नाम दर्ज करा सकते हैं। इसके अलावा आप चाहें तो किसी ड्राइविंग स्कूल से भी तैयारी कर सकते हैं और वहां से आप तैयारी का सर्टिफिकेट भी ले सकते हैं। ऐसा करने से आपको ऑटो ऑफिस में ड्राइविंग टेस्ट से नहीं गुजरना पड़ेगा। आपके पास जो सर्टिफिकेट है उसे परमिट पेपर्स में रखकर भेज दिया जाएगा। इस तरह आपको अपना ड्राइविंग परमिट भी मिल जाएगा।

ड्राइविंग लाइसेंस बनवाने के लिए ये प्रोसेस फॉलो करें

आपको बता दें कि इस नए नियम के मुताबिक बिना टेस्ट ड्राइविंग लाइसेंस बनवाने के लिए आपको किसी मान्यता प्राप्त ड्राइविंग टेस्ट सेंटर से ट्रेनिंग लेनी होगी. लेकिन इन सेंटर्स की वैलिडिटी 5 साल की होनी चाहिए, जिसके बाद आप इन्हें रिन्यू करा सकते हैं। इन सेटरों में प्रशिक्षण पूरा करने के बाद आपको इनके द्वारा आयोजित परीक्षा में भी उत्तीर्ण होना होगा। पास होने के बाद केंद्र की ओर से आपको सर्टिफिकेट दिया जाएगा। आपके द्वारा प्राप्त इस प्रमाण पत्र के आधार पर आरटीओ द्वारा ड्राइविंग लाइसेंस जारी किया जाएगा।

डीएल इतने लंबे समय तक वैध रहता है

बता दें कि ड्राइविंग लाइसेंस जारी होने की तारीख से 20 साल तक या 40 साल की उम्र (जो भी पहले हो) तक वैध रहता है। ड्राइविंग लाइसेंस की समाप्ति तिथि से पहले नवीनीकरण किया जा सकता है। यदि आप 30 वर्ष की आयु में डीएल बनवाते हैं, तो यह 40 वर्ष की आयु तक मान्य होगा। वहीं, 30 से 50 वर्ष की आयु के लोगों को 10 वर्ष और 50 से ऊपर और 55 से कम उम्र वालों को 60 साल की उम्र तक लाइसेंस जारी किया जाएगा। इसके अलावा 55 साल की उम्र के बाद 5 साल के लिए ड्राइविंग लाइसेंस का नवीनीकरण होता है।

इसके अलावा कमर्शियल वाहनों के ड्राइविंग लाइसेंस की वैधता 3 साल तक वैध रहती है। इसके बाद ड्राइविंग लाइसेंस की एक्सपायरी डेट से पहले इसे रिन्यू कराया जा सकता है। बता दें कि सड़कों पर वाहन चलाने के लिए ड्राइविंग लाइसेंस होना अनिवार्य है, इसका प्रावधान मोटर वाहन अधिनियम, 1988 में किया गया है। इसके लिए आपकी आयु 18 वर्ष से अधिक होनी चाहिए। तभी आप डीएल के लिए आवेदन कर सकते हैं।

वहीं लोगों के मन में यह सवाल बना रहता है कि क्या आप ड्राइविंग लाइसेंस को ऑनलाइन भी रख सकते हैं। तो उत्तर हां है। आप सरकारी आदेश के अनुसार अपना ड्राइविंग लाइसेंस और रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट (RC) DigiLocker या M-Parivahan ऐप में रख सकते हैं। इसे मोटर वाहन अधिनियम 1988 के तहत वैध माना जाता है।

[bsa_pro_ad_space id=2]
spot_img
spot_img

सम्बंधित समाचार

Ad

spot_img

ताजा समाचार

spot_img
error: Content is protected !!