25.7 C
Jodhpur

सचिन पायलट ने शायराना अंदाज में गहलोत को लिया निशाने पर, जानें वजह

spot_img

Published:

राजस्थान के पूर्व डिप्टी सीएम सचिन पायलट ने किसान रैली में इशारों में सीएम गहलोत को शायराना अंदाज से निशाने पर ले लिया। झुंझुनूं जिले में आयोजि सम्मेलन में पायलट ने कहा, ‘उन्हें गुमान है कि हमारी उड़ान कुछ कम है, लेकिन मुझे यकीन है कि आसमान कुछ कम है’। इसके साथ ही सचिन पायलट ने प्रदेश की गहलोत सरकार पर राजनीतिक नियुक्तियों में नौकरशाहों को तवज्जो देने पर सवाल भी खड़े किए। पायलट ने कहा कि कांग्रेस कार्यकर्तांओं को राजनीतिक नियुक्तियां मिलनी चाहिए। ब्यूरोक्रेट्स शाम को 5 बजे रिटायर होते हैं और रात 12 बजे नियुक्ति के आदेश मिले जाते हैं। हमारी सरकार को 4 साल हो गए हैं। इस दौरान बहुत से लोगों को नियुक्तियां दी गईं, लेकिन जिन लोगों ने सरकार बनाने और पार्टी के लिए मेहनत किया, उन लोगों के साथ-साथ प्रदेश के बहुत से उच्च अधिकारियों को भी नियुक्तियां दी गई। पायलट ने कहा कि जो अधिकारी सरकार में काम करते हैं, उन्हें फर्क नहीं पड़ता कि राज कांग्रेस का है या बीजेपी का। वह तो राज की नौकरी करते है। उन लोगों को अगर हमें अपॉइंटमेंट देना भी है तो अनुपात बेहतर होना चाहिए। 

पीसीसी चीफ गोविंद सिंह डोटसरा के बयान पर पायलट ने कहा कि सब अपनी-अपनी राय दे रहे हैं, जिसकी जितनी क्षमता है, ताकत है, जो कर सकता है, थोड़ा या ज्यादा। सब मिलकर कांग्रेस को मजबूत कर रहे हैं। मुझे तो पार्टी ने पिछले दो दशकों में जो जिम्मेदारी दी है, देश का शायद ऐसा कोना नहीं है, जहां पार्टी ने मुझे प्रचार के लिए नहीं भेजा। जब-जब भाजपा चुनौती देनी होती है, उन्हें हराना होता है तो पार्टी हम सब को याद करती है, हम हर जगह जाते हैं और प्रचार करते हैं। पायलट ने कहा कि अभी हिमाचल प्रदेश में चुनाव हुए मैं वहा का पर्यवेक्षक था। ये जो भ्रम पैदा करने की कोशिश की जा रही है, उत्तर भारत में भाजपा को कांग्रेस हरा नहीं पाती। उस भ्रम को तोड़ा है हमने। भाजपा डबल इंजन की बात करती है। एक इंजन सील कर दिया हिमाचल में। दूसरा इंजन 2024 में सील करेंगे। बीजेपी को आइना दिखाएंगे। हम सामूहिकता से आगे बढ़ेंगे। सब मिलकर चुनाव लड़ते है। पायलट ने कहा कि किसान सभा किसानों की है। मैं किसानों को कांग्रेस से जोड़ रहा हूं। बता दें, पीसीसी चीफ डोटासरा ने कहा था कि पायलट का कार्यक्रम कांग्रेस का कार्यक्रम नहीं है। 

किसान सम्मेलन के बाद सचिन पायलट ने प्रेस वार्ता की। पायलट ने प्रेस वार्ता में कहा कि हम 2003 में और 2013 में चुनाव हार गए। हमारी सरकार रिपीट नहीं हुई। हम चाहते है कि प्रदेश में कांग्रेस की सरकार रिपीट हो। सभी कांग्रेस कार्यकर्ता इस काम में लगे हुए है। पायलट ने कहा कि बीजेपी जिम्मेदार विपक्ष की भूमिका नहीं निभा पाई है। बीजेपी के नेता विभिन्न् गुटों में बंटे हुए है। बीजेपी में नेतृत्त कौन करेगा, इसके लिए खींचतान चल रही है। पायलट ने कहा कि 8 साल हो गए, लेकिन मोदी सरकार ने एमएसपी पर कानून नहीं बनाया है। हम किसानों के लिए संघर्ष कर रहे हैं।

[bsa_pro_ad_space id=2]
spot_img
spot_img

सम्बंधित समाचार

Ad

spot_img

ताजा समाचार

spot_img
error: Content is protected !!