25.7 C
Jodhpur

राजस्थान हाईकोर्ट में पहली बार 2 दंपति जज, अब 3 महिला जज

spot_img

Published:

राजस्थान हाईकोर्ट में पहली पर पति-पत्नी जज बने हैं। देश संभवत: पहली बार ऐसा हुआ है। राजस्थान हाईकोर्ट मुख्य पीठ जोधपुर में सोमवार को नव नियुक्त 9 न्यायाधीशों का शपथ ग्रहण समारोह आयोजित किया गया। जहां सीजे पंकज मित्तल ने नवनियुक्त सभी न्यायाधीशों को शपथ दिलाई। डॉ. नुपुर भाटी की नियुक्ति के साथ ही हाईकोर्ट में दो दंपती जज हो गए। डॉ. भाटी के पति जस्टिस पुष्पेन्द्र भाटी भी हाईकोर्ट में ही नियुक्त हैं। जबकि जस्टिस महेन्द्र गोयल और उनकी पत्नी जस्टिस शुभा मेहता भी राजस्थान हाईकोर्ट में नियुक्त है। ऐसा पहली बार हुई है, जब देश के किसी हाईकोर्ट में दो दंपती जज हुए है। 

हाल ही में इन सभी पदों पर शुक्रवार को नोटिफिकेशन जारी हुआ था। कोर्ट में नियुक्त हुए नए जजों में वकील कोटे से न्यायाधीश बनने वाले नामों में जयपुर से एएजी गणेश राम मीणा और अनिल उपमन के साथ ही जोधपुर से डॉ. नुपूर भाटी शामिल है। बता दें, राजस्थान हाईकोर्ट में 9 जजों की नियुक्ति को केंद्रीय विधि एवं न्याय मंत्रालय की मंजूरी मिलने के बाद के राष्ट्रपति भवन से नियुक्ति वारंट जारी होने पर मुख्यपीठ जोधपुर में तीन वकील कोटे से और 6 न्यायिक अधिकारी कोटे से नियुक्त हुए न्यायाधीशों का शपथ ग्रहण समारोह आयोजित किया गया।  

वहीं हाईकोर्ट में वकील कोटे से नुपूर भाटी की न्यायाधीश के रूप में नियुक्ति होने के बाद अब राजस्थान हाईकोर्ट में महिला न्यायाधीशों की संख्या 3 हो गई है. अब महिला न्यायाधीश के रूप में शुभा मेहता, रेखा बोराणा और नूपुर भाटी हाईकोर्ट में सेवाएं देंगी. जस्टिस रेखा बोराणा और जस्टिस शुभा मेहता पहले से यहां कार्यरत है। जबकि न्यायिक अधिकारी कोटे से राजेन्द्र प्रकाश सोनी, अशोक कुमार जैन, योगेन्द्र कुमार पुरोहित, भुवन गोयल, प्रवीर भटनागर और आशुतोष कुमार ने हाइकोर्ट न्यायाधीश के रूप में शपथ ली. बता दें कि राजस्थान हाईकोर्ट में कुल 50 न्यायाधीशों के पदों में से इन 9 न्यायाधीशों की नियुक्ति के बाद सीजे सहित कुल 35 पद भर चुके हैं. वहीं 15 पद अभी भी खाली पड़े हैं।

[bsa_pro_ad_space id=2]
spot_img
spot_img

सम्बंधित समाचार

Ad

spot_img

ताजा समाचार

spot_img
error: Content is protected !!