29.1 C
Jodhpur

राजस्थान में वसुंधरा राजे सिंधिया करेंगी वापसी, पोस्टरों से मिले संकेत

spot_img

Published:

राजस्थान की पूर्व सीएम वसुंधरा राजे सिंधिया विधानसभा चुनाव 2018 में मुख्यमंत्री चेहरा हो सकती है। राजस्थान बीजेपी कार्यालय में लगे पोस्टरों से ऐसे संकेत मिले हैं।  राजे सतीश पूनिया के प्रदेश अध्यक्ष बनने के बाद बीजेपी पोस्टर से हटा दी गई थी। पोस्टरों में वसुंधरा राजे की वापसी से उनके समर्थक खुश है। बता दें, पिछले साल पार्टी कार्यालय में अंतर्रकलह की स्थिति खुलकर सामने आ गई थी। बीजेपी के कार्यालय पर लगे नए पोस्टर और होर्डिंग से पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे की तस्वीर गायब थी, लेकिन अब राजे ने दो साल बाद पोस्टरों में वापसी की है। वसुंधरा राजे के समर्थक खुश है। वसुंधरा कैंप के नेता सीएम फेस बनाने की लंबे समय से मांग कर रहे है। वसुंधरा समर्थकों का कहना है कि वसुंधरा के दम पर ही पार्टी में सत्ता में वापसी कर सकती है। इसकी वजह यह है कि वसुंधरा राजे 36 कौम की स्वीकार्य नेता है। हालांकि, बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष कहते रहे हैं कि विधानसभा चुनाव पीएम मोदी के चेहरे पर ही लड़ा जाएगा। मुख्यमंत्री कौन होगा, इसका निर्णय संसदी बोर्ड लेगा। 

वसुंधरा राजे ने 2021 में पोस्टर विवाद पर कहा था कि वे लोगों के दिलों में राज करती हैं। पोस्टर की राजनीति में नहीं। राजे ने कहा कि उन्होंने 30 साल में आमजन के दिलों में जगह बनाई है। दीन दुखी के आंसू पोंछना ही सच्ची राजनीति है। पोस्टर विवाद पर खुलकर मीडिया से बात करते हुए राजे ने कहा था कि वे पोस्टर की राजनीति में कभी विश्वास नहीं करती। उन्होंने अपने राजनीतिक जीवन में हमेशा लोगों के दिलों में जगह बनाने की कोशिश की है। मेरी मां राजमाता सिंधिया ने भी शुरू से यही सिखाया है कि लोगों के दुख दर्द बांट कर उन्हें अपने गले से लगाओ। उनके दिलों में जगह बनाओ। जब लोगों के दिलों में जगह बन जाती है तो वहीं से राजनीति होती है। 

राजनीतिक विश्लेषकों का कहना है कि पार्टी आलाकमान इस बात को जान चुका है कि वसुंधरा राजे को साइडलाइन करना पार्टी के लिए सुसाइड करने जैसा होगा। इसकी वजह यह है कि वसुंधरा राजे की गैर मौजूदगी में बीजेपी को विधानसभा उप चुनाव में हार का सामना करना पड़ा है। राजस्थान बीजेपी के नेता तमाम कोशिश के बावजूद विधानसभा उपचुनाव में बीजेपी को जीत नहीं दिलाए पाए थे। राजनीतिक विश्लेषकों का यह भी कहना है कि वसुंधरा राजे का कद बड़ा है। ऐसे में वसुंधरा राजे की अनदेखी पार्टी की सेहत के लिए ठीक नहीं है। 

[bsa_pro_ad_space id=2]
spot_img
spot_img

सम्बंधित समाचार

Ad

spot_img

ताजा समाचार

spot_img
error: Content is protected !!