31.9 C
Jodhpur

राजस्थान में राष्ट्रपति के प्रोटोकॉल में हुई थी चूक, JEN सस्पेंड

spot_img

Published:

राजस्थान के पाली जिले के रोहट में जंबूरी के उद्घाटन के दिन हेलीपैड पर प्रोटोकॉल तोड़कर राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू से मिलने पहुंची महिला जेईएन अंबा सियोल को
जलदाय विभाग ने सस्पेंड कर दिया है। जलदाय विभाग ने आज कार्रवाई की। प्रोटोकॉल का उल्लंघन मानकर महिला JEN को किया सस्पेंड कर दिया।निलंबन के दौरान अंबा सियोल का मुख्यालय बाड़मेर रहेगा। मामले की गंभीरता से मानते हुए केंद्रीय गृह मंत्रालय ने राजस्थान पुुलिस से रिपोर्ट तलब की थी। 

बता दें, पिछले दिनों राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू पाली जिले के रोहट आई थी। राष्ट्रपति ने स्काउट गाइड की राष्ट्रीय जंबूरी का उद्घाटन किया था। हैलीपेड पर जब राष्ट्रपति का स्वागत किया जा रहा था, तब अंबो सियोल ने राष्ट्रपति के पैर छूए थे। जांच के बाद अब सियोल को सस्पेंड कर दिया गया है। जिला कलक्टर इस संबंध में कार्रवाई के लिए जलदाय विभाग को कहा था। पुलिस ने एक रिपोर्ट बनाकर पुलिस मुख्यालय भी भेजी थी। इसमें प्रोटोकॉल तोड़ने की बात लिखी। पुलिस के अनुसार 4 जनवरी को पाली के निम्बली ब्राह्मण गांव में हो रही जंबूरी का उद्घाटन करने राष्ट्रपति आई थीं। हेलीपैड पर उनकी थ्री लेयर सुरक्षा में सुरक्षाकर्मी तैनात थे। इसी बीच एक महिला जेईएन प्रोटोकॉल तोड़कर राष्ट्रपति के पैर छूने आ गई। 

महिला जेईएन को राष्ट्रपति के सुरक्षाकर्मी ने हटाया, लेकिन तब तक उसने मुर्मू के पैर छू लिए थे। इसके बाद एसपी गगनदीप सिंगला के निर्देश पर जेईएन को रोहट पुलिस थाने ले जाया गया था, लेकिन कुछ घंटे बाद हिदायत देकर छोड़ दिया गया। मामले को रिकॉर्ड में नहीं लिया गया। इसका वीडियो वायरल होने के बाद पुलिस अधीक्षक गगनदीप सिंगला ने जिला कलक्टर को महिला जेईएन के खिलाफ विभागीय कार्रवाई के लिए लिखा था।  जेईएन अंबा सियोल रोहट में जलदाय विभाग में 6 महीने से कार्यरत हैं। वह छह साल पहले सरकारी सेवा में आई हैं। उनकी ड्यूटी जंबूरी स्थल पर पानी व्यवस्था के लिए लगी थी। उसका पास भी बना हुआ था। लेकिन महिला जेईएन राष्ट्रपति के पैर छूने के लिए प्रोटोकॉल तोड़कर उनके पास चली गई थी।

[bsa_pro_ad_space id=2]
spot_img
spot_img

सम्बंधित समाचार

Ad

spot_img

ताजा समाचार

spot_img
error: Content is protected !!