36 C
Jodhpur

राजस्थान में पारे ने लगाया गोता, बाकी राज्यों का क्या हाल? राहत कबसे?

spot_img

Published:

उत्तर भारत के कई राज्यों में कड़ाके की ठंड जारी है। पहाड़ों पर हो रही बर्फबारी के चलते भारत के उत्तरी राज्यों में सोमवार को शीतलहर का कहर जारी रहा। राजस्थान के कई इलाकों में न्यूनतम तापमान लगातार शून्य से नीचे बना हुआ है। बीती रविवार रात फतेहपुर (सीकर) में माइनस 3.7 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। मौसम विभाग के अनुसार, सर्दी का यह दौर राजस्थान समेत कई राज्यों में अभी कुछ दिन जारी रहेगा। आइए जानते हैं उत्तर भारत के राज्यों के मौसम का हाल…

दिल्ली-एनसीआर: मौसम विभाग ने दिल्ली-एनसीआर में अगले तीन दिन के लिए येलो अलर्ट जारी किया है। मौसम विभाग के मुताबिक, सोमवार सुबह लोधी रोड में न्यूनतम तापमान 1.6 डिग्री सेल्सियस, जबकि सफदरजंग में 1.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

उत्तर प्रदेश: सोमवार को उत्तर प्रदेश के प्रमुख शहरों में झांसी सबसे ठंडा रहा। यहां न्यूनतम तापमान 3.7 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। ठंड से बचने के लिए लोग जगह-जगह अलाव जलाकर हाथ सेकते नजर आ रहे हैं।

राजस्थान: मौसम विभाग के मुताबिक, राजस्थान में रविवार रात न्यूनतम तापमान फतेहपुर सीकर में शून्य से नीचे 3.7 डिग्री सेल्सियस, चूरू में शून्य से नीचे 2.5 डिग्री, सीकर में शून्य से नीचे 2.0 डिग्री, गंगानगर में 2.6 डिग्री, जयपुर में 4.7 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया है।

पंजाब: शीतलहर और ठंड के प्रकोप से पंजाब के लोग भी परेशान हैं। मौसम विभाग के मुताबिक, पंजाब में अमृतसर का तापमान सबसे कम दर्ज किया गया। यहां न्यूनतम तापमान 1.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

बिहार: वहीं बिहार के गया में सबसे ज्यादा ठंड पड़ी। मौसम विभाग के मुताबिक, गया का न्यूनतम तापमान 5.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। वहीं राज्य का औसत तापमान आठ और नौ डिग्री सेल्सियस के बीच बना हुआ था।

उत्तर और उत्तर पश्चिम भारत में सोमवार को कड़ाके की ठंड का प्रकोप रहा और कई हिस्सों में न्यूनतम तापमान एक से तीन डिग्री सेल्सियस के बीच दर्ज किया गया। हिमालय से आने वाली सर्द उत्तर-पश्चिमी हवाओं के चलते मैदानी इलाकों में अगले दो दिनों में और ज्यादा ठंड पड़ने की संभावना है।

भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) ने कहा कि दो पश्चिमी विक्षोभों के प्रभाव में 19 जनवरी से शीत लहर की स्थिति समाप्त हो जाएगी, जो इस क्षेत्र में एक के बाद एक कम अंतराल पर प्रभावी होंगे। IMD ने एक बयान में कहा कि दिल्ली के कई हिस्सों और पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश के कुछ हिस्सों में शीतलहर से लेकर गंभीर शीत लहर की स्थिति बनी हुई है।

[bsa_pro_ad_space id=2]
spot_img
spot_img

सम्बंधित समाचार

Ad

spot_img

ताजा समाचार

spot_img
error: Content is protected !!