33.7 C
Jodhpur

राजस्थान में चुनाव से पहले पायलट गुट हुआ गहलोत कैंप पर हमलावर

spot_img

Published:

राजस्थान विधानसभा चुनाव से पहले पायलट गुट गहलोत कैंप पर हमलावर होता जा रहा है। पायलट कैंप ने एक बार फिर विधायक दल की बैठक बुलाने की मांग कर कांग्रेस आलाकमान की परेशानी बढ़ा दी है। यही वजह रही है कि प्रदेश कांग्रेस प्रभारी सुखजिंदर सिंर रंधावा को कहना है कि विधायक चाहेंगे तो विधायक दल की बैठक बुलाई जा सकती है। उल्लेखनीय है कि पिछले साल 25 सितंबर को कांग्रेस विधायक दल की बैठक का बहिष्कार कर दिया गया था। बैठक में सचिन पायलट को सीएम बनाने का एक लाइन का प्रस्ताव पारित होने की चर्चा थी। गहलोत समर्थक मंत्री शांति धारीवाल और महेश जोशी ने विधायक दल की बैठक का बहिष्कार कर दिया था। 

राजस्थान विधानसभा के बार मंगलवार को मंत्री प्रताप सिंह और फिर पायलट समर्थक विधायक मुकेश भाकर ने सचिन पायलट के पक्ष में बयान दिया. साथ ही इन दोनों विधायकों ने एक बार फिर से विधायक दल की बैठक बुलाने की मांग का समर्थन किया है। वहीं, इनके समर्थन के बाद राजस्थान कांग्रेस प्रभारी सुखजिंदर सिंह रंधावा ने कहा कि अगर विधायकों की डिमांड हुई तो फिर से विधायक दल की बैठक बुलाई जा सकती है। दरअसल, रंधावा ने यह बयान मंगलवार को राजधानी जयपुर में एआईसीसी के फ्रंटल संगठनों के प्रभारी के राजू के साथ प्रदेश पार्टी मुख्यालय में हुई बैठक के बाद दिया। 

एआईसीसी के फ्रंटल संगठनों की बैठक में यह भी फैसला किया कि कांग्रेस SC-ST की रिजर्व 59 सीटों पर विशेष नजर रखेगी। इसके तहत पार्टी की ओर से यह तय किया गया कि प्रदेश की 34 एससी और 25 एसटी सीटों पर लीडरशिप डेवलपमेंट मिशन चलाया जाएगा। इस डेवलपमेंट प्रोग्राम के तहत एससी-एसटी के उन नेताओं को तराशा जाएगा, जो कांग्रेस के लिए नेतृत्व कर सके और आगे आने वाले समय में चुनाव में चेहरा बन सके।

[bsa_pro_ad_space id=2]
spot_img
spot_img

सम्बंधित समाचार

Ad

spot_img

ताजा समाचार

spot_img
error: Content is protected !!