27.1 C
Jodhpur

राजस्थान में कांग्रेस का किला भेदने आ रहे मोदी,गुर्जरों को देंगे तोहफा

spot_img

Published:

पीएम मोदी आज राजस्थान आएंगे। मोदी भीलवाड़ा जिले में मालासेरी गांव में भगवान देवनारायण की 1111वीं जयंती के मौके पर 28 जनवरी को पहुंचेंगे। पीएम गुर्जरों के आराध्य देव भगवान देवनारायण के मंदिर में दर्शन एवं पूजन करेंगे। राजस्थान में चुनावी साल होने की वजह से पीएम मोदी के दौरे के अलग-अलग सियासी मायने निकाले जा रहे हैं। राजनीतिक विशलेषकों का कहना है कि पीएम मोदी गुर्जर बाहुलय इलाकों को साधने की कोशिश करेंगे। राजनीतिक विश्लेषक पीएम मोदी के दौरे को सचिन पायलट की काट के तौर पर भी देख रहे हैं। हालांकि, राजस्थान भाजपा नेताओं ने पीएम के दौरे का सियासी मकसद से इनकार किया है। उल्लेखनीय है कि राजस्थान में साल के अंत में चुनाव होने है। वसुंधरा राजे के शासन में  राजस्थान में गुर्जर आरक्षण के दौरान 74 गुर्जर मारे गए थे। विधानसभा चुनाव 2018 में गुर्जर समाज के लोग बीजेपी से खासे नाराज थे, यही वजह रही कि बीजेपी के गुर्जर उम्मीदवारों को हार का सामना करना पड़ा। गुर्जर बाहुल्य इलाकों में कांग्रेस को बंपर सीट मिली थी। राजस्थान की राजनीति में गुर्जरों की अहमियत को सीएम अशोक गहलोत अच्छी तरह से जानते हैं। यही वजह है कि आज देवनारायण जयंती पर प्रदेश  मेंं ऐच्छिक अवकाश की जगह सार्वजनिक अवकाश घोषित कर दिया है। 

मोदी के आगमन को लेकर लोगों में उत्साह देखा जा रहा है। प्रधानमंत्री कार्यालय के अनुसार मोदी 28 जनवरी की सुबह 9.20 बजे दिल्ली से रवाना होंगे। सुबह 10.30 बजे डबोक एयरपोर्ट पहुंचेंगे। वहां से वे हेलिकॉप्टर से मालासेरी रवाना होंगे। सुबह 11.25 बजे मालासेरी पहुंचेंगे। करीब सवा घंटे में प्रधानमंत्री मोदी भगवान देवनारायण के दर्शन व सभा को संबोधित करेंगे। वापस उदयपुर होते दिल्ली चले जाएंगे। मालासेरी में प्रधानमंत्री मोदी के दौरे को देखते तैयारियां की जा रही है। पीएम के दौरे के मद्देनजर प्रशासन से सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए है। जारी कार्यक्रम के अनुसार 3 बजकर 5 मिनट पर पीएम मोदी का दिल्ली एयरपोर्ट लौटने का कार्यकम है। प्रधानमंत्री मोदी को भगवान देवनारायण के दर्शन करने के लिए सड़क मार्ग के अलावा करीब 200 फीट पैदल चलना होगा। इसके लिए सार्वजनिक निर्माण विभाग ने स्लैब के आधार पर सीढ़ियां बनाना शुरू कर दिया। इसके बाद मोदी यज्ञशाला जाएंगे, जहां पूर्णाहुति देंगे।

पीएम मोदी आसींद क्षेत्र में पीएम मोदी महाकाल कॉरिडोर (उज्जैन) की तर्ज पर भगवान देवनारायण कॉरिडोर बनाने की घोषणा कर सकते हैं। इसके लिए क्षेत्र में केन्द्र की रिसर्च व सर्वे टीम पहुंची है। यह टीम वहां भगवान देवनारायण से जुड़े ऐतिहासिक प्रमाणों, साक्ष्यों, साहित्य, धार्मिक आख्यानों का अवलोकन कर रही है। बहुत से संगठनों और स्थानीय लोगों व विशेषज्ञों से भी टीम के सदस्य सम्पर्क कर रहे हैं। मोदी के दौरे से पहले ही टीम भीलवाड़ा पहुंच गई थी। 

[bsa_pro_ad_space id=2]
spot_img
spot_img

सम्बंधित समाचार

Ad

spot_img

ताजा समाचार

spot_img
error: Content is protected !!