30.5 C
Jodhpur

राजस्थान भाजपा: CM फेस को लेकर रार, शेखावत के लिए लॉबिंग तेज

spot_img

Published:

राजस्थान भाजपा में सीएम फेस को लेकर खींचतान एक बार फिर खुलकर सामने आ गई है। पार्टी की राष्ट्रीय सचिव अलका गुर्जर के बयान से सियासत गरमाई हुई है। दरअसल, हाल ही में अलका गुर्जर ने हाल ही मुख्यमंत्री के चेहरे को लेकर बड़ा बयान दिया था। टोंक जिले में बीजेपी की जन आक्रोश रैली में अलका गुर्जरने कहा कि केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत राजस्थान के नेतृत्व करें। इस जनविरोधी सरकार का अंत करें। अलका के इस बयान के बाद प्रदेश भाजपा में सीएम फेस को लेकर खींचतान तेज हो गई है। बता दें, शेखावत के धुर विरोधी नेता उनके नाम का विरोध करते रहे हैं। वसुंधरा कैंप के नेता शेखावत के पंसद नहीं करते हैं। पार्टी का एक धड़ा पूर्व सीएम वसुंधरा राजे को सीएम फेस घोषित करने की मांग करता रहा है। ऐसे में विधानसभा चुनाव से पहले राजस्थान भाजप में मुख्यमंत्री चेहरे को लेकर खींचतान तेज हो गई है। 

उल्लेखनीय है कि पिछले सप्ताह टोंक जिले में पार्टी की राष्ट्रीय सचिव अलका गुर्जर जन आक्रोश यात्रा के समापन समारोह के दौरान मंच से बड़ा बयान देकर सियासी गलियारों में नई बहस छेड़ दी थी। अलका गुर्जर ने मंच से केंद्रीय जलशक्ति मंत्री गजेन्द्र सिंह शेखावत  से निवेदन करते हुए कहा कि अब वे ही राजस्थान का नेतृत्व करें और इस जनविरोधी सरकार का अंत करें। अलका गुर्जर ने कहा कि क्योंकि सिंह ने जोधपुर में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को भी हराया है। वे इस काम में वे माहिर हैं।अलका गुर्जर के इस बयान के बाद एक बार फिर बीजेपी की तरफ से राजस्थान का अगला सीएम फेस कौन होगा इस पर चर्चा गरमा गई। 

अलका गुर्जर के बयान के बाद मीडिया ने केन्द्रीय मंत्री गजेन्द्र सिंह शेखावत से इस बारे में सवाल किया तो उन्होंने हर जिम्मेदार को स्वीकारते हुए कहा कि पार्टी जो भी जिम्मेदारी देगी उसका पालन करेंगे। वे आज तक पार्टी ने जो भी जिम्मेदारी दी है उसे निभाते आए हैं। टोंक जिले की निवाई विधानसभा क्षेत्र में बीजेपी की इस जन आक्रोश रैली में सांसद सुखबीर सिंह जौनापुरिया और मालपुरा विधायक कन्हैयालाल चौधरी पार्टी के पदाधिकारी मौजूद रहे थे।

[bsa_pro_ad_space id=2]
spot_img
spot_img

सम्बंधित समाचार

Ad

spot_img

ताजा समाचार

spot_img
error: Content is protected !!