29.1 C
Jodhpur

राजस्थान कांग्रेस:डोटासरा और 5 बार के MLA श्रवण कुमार भिड़े, जानें वजह

spot_img

Published:

राजस्थान कांग्रेस में प्रदेश प्रभारी सुखजिंदर सिंह रंधावा की नसीहत के बावजूद पीसीसी चीफ गोविंद सिंह डोटासरा से पांच पार के विधायक श्रवण कुमार उलझ गए। दोनों के बीच काफी देर तक विवाद हुआ। हालांकि, रंधावा के हस्तक्षेप के बाद मामला शांत हो गया है। दोनों ही नेताओं की तनातनी को वर्चस्व की जंग के तौर पर देखा जा रहा है। दोनों ही नेता शेखावाटी से आते है। वरिष्ठता के मामले में श्रवण कुमार डोटासरा से काफी आगे हैं। राजनीतिक विश्लेषकों का मानना है कि अहम के टकराव की वजह से दोनों नेताओं में विवाद हो हुआ है। श्रवण कुमार सीएम गहलोत कैंप के माने जाते रहे हैं।  बता दें, शनिवार को कांग्रेस के हाथ से हाथ जोड़ो अभियान की तैयारी के लिए जयपुर संभाग के नेताओं की प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय में बुलाई गई बैठक में शनिवार को तनातनी हो गई। कई नेताओं ने ढाई साल से पूरा संगठन नहीं बनने और ग्राउंड पर काम नहीं होने पर सवाल उठाए।बैठक में पूर्व विधायक श्रवण कुमार और कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा के बीच तनातनी हो गई। इसी दौरान श्रवण कुमार को प्रदेश प्रभारी ​सुखजिंदर सिंह रंधावा ने डांट कर बैठाया

पीसीसी चीफ डोटासरा ने श्रवण कुमार को डांटते हुए कहा- केवल मीटिंग में माहौल बनाने से काम नहीं चलता, फील्ड में भी कुछ कर लिया करो। दो साल में संगठन का कोई एक काम किया हो तो बताइए, बैठकों में माहौल बनाना आता है।श्रवण कुमार ने भी पलटवार किया और कहा- केवल आप ही पार्टी नहीं हो, कार्यकर्ताओं की भी सुना करो, हम भी पार्टी हैं।दोनों के बीच काफी देर तनातनी चली। प्रदेश प्रभारी रंधावा ने श्रवण कुमार को डांटते हुए चुप करवाया। रंधावा ने श्रवण कुमार को अकेले में मिलकर मुद्दे रखने को कहा, तब जाकर शांत हुए।

बैठक में नेताओं को समस्याएं उठाने से रोका तो प्रदेश प्रभारी ​ने प्रदेशाध्यक्ष को टोका। रंधावा ने डोटासरा के हाथ से माइक लेकर यहां तक कह दिया कि सबकी सुनने आया हूं, केवल आपकी ही नहीं। बैठक में जयपुर संभाग के 35 विधायकों में से आधे भी नहीं आए। सूरजगढ़ से पूर्व विधायक श्रवण कुमार ने कहा- दो साल से ज्यादा वक्त हो गया, अब तक संगठन नहीं बना। हमारे यहां टॉप टू बॉटम संगठन के पद खाली पड़े हैं। सरकार की योजनाओं के काम फील्ड में ढंग से नहीं चल रहे हैं। प्रदेशाध्यक्ष डोटासरा ने श्रवण कुमार को टोकते हुए कहा कि यहां केवल हाथ से हाथ जोड़ो अभियान की बात कीजिए, आपने भी इतने समय से क्या काम किया? इस पर श्रवण कुमार ने कहा- हम अपनी बात कहां उठाएं, जब संगठन ही सरकार की भाषा बोलने लग जाए तो हम बात कहां रखें? काम हो नहीं रहे, लोग हमें कहते हैं, ग्राउंड संगठन के बिना अभियान कैसे चलेगा।

[bsa_pro_ad_space id=2]
spot_img
spot_img

सम्बंधित समाचार

Ad

spot_img

ताजा समाचार

spot_img
error: Content is protected !!