36 C
Jodhpur

मोदी 28 को राजस्थान पहुचेंगे, सचिन पायलट की काट का बीजेपी 'प्लान'

spot_img

Published:

राजस्थान में विधानसभा चुनाव से पहले पीएम मोदी राजस्थान दौरे पर आ रहे हैं। वे 28 जनवरी को भीलवाड़ा जिले में आयोजित भगवान देवनारायण जन्म महोत्सव में शिरकत करेंगे। पीएम मोदी भीलवाड़ा में गुर्जर समाज के आराध्य श्रीदेवनारायणजी के 1111वें अवतरण दिवस पर आयोजित कार्यक्रम में शिरकत करेंगे। श्रीदेवनारायणजी को भगवान विष्णु का अवतार माना जाता है। पीएम मोदी का भीलवाड़ा दौरे के सियासी मायने भी है। बीजेपी के रणनीतिकारों ने सचिन पायलट की काट के लिए पीएम मोदी के दौरे की प्लानिंग बनाई है। मोदी के दौरे को गुर्जर वोट बैंक को साधने की कवायद के तौर पर देखा जा रहा है। राजस्थान में गुर्जर वोट बैंक पर सचिन पायलट की पकड़ मानी जाती है। बीजेपी चाहती है कि चुनाव से पहले गुर्जर वोट बैंक को जुटाए जाए। राजस्थान में इस साल होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले पीएम मोदी के गुर्जर बाहुल्य क्षेत्र में दौरे को लेकर सियासी चर्चा तेज है। राजनीति विश्लेषों का मानना है कि पीएम मोदी का यह दौरा सियासी माइलेज लेने की कवायद का हिस्सा है। राजस्थान में गुर्जर समुदाय  का बहुत बड़ा वोट बैंक है।

गुर्जर समाज बीजेपी से इसलिए नाराज है कि वसुंधरा राजे के कार्यकाल में करीब 73 गुर्जर पुलिस की गोलीबारी में मारे गए थे। कांग्रेस बार-बार गुर्जर आरक्षण का मुद्दा उठाकर बीजेपी को घेरती रही है।  गुर्जर समाज कांग्रेस का परंपरागत वोट बैंक माना जाता है। बीजेपी की रणनीति है कि गुर्जर समाज का पार्टी से जोड़ा जाए। इसके लिए बीजेपी ने गुर्जर समाज के आराध्य देव भगवान श्रीदेवनारायणजी के 1111वें अवतरण दिवस पर पीएम मोदी का भीलवाड़ा दौरे का प्लान बनाया है। बता दें, पूर्वी राजस्थान के दौसा, सवाई माधोपुर, धौलपुर, अलवर और जयपुर के कुछ हिस्सों में गुर्जर समाज खाती तादात में है। इन जिलों में सचिन पायलट का अपने समाज पर प्रभाव माना जाता है। पूर्वी राजस्थान में राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा में खासी भीड़ उमड़ी थी। इसके पीछे बड़ी वजह सचिन पायलट ही माने जाते हैं। पायलट फैमिली के परंपरागत गढ़ दौसा जिले में यात्रा के दौरान जनसैलाब उमड़ा था। दौसा में ही राहुल गांधी के सामने सचिन पायलट को सीएम बनाने के जमकर नारे भी लगे थे।

केन्द्र सरकार ने जिस तरह से वाराणसी, अयोध्या और उज्जैन में भव्य धार्मिक कॉरिडोर बनाए हैं, वैसा ही एक कॉरिडोर भगवान देवनारायण के नाम पर भीलवाड़ा के आसींद में उनके प्रकट स्थल मालासेरी डूंगरी में बनाया जाएगा। इसके लिए केन्द्र सरकार का संस्कृति मंत्रालय तैयारियां कर रहा है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 28 जनवरी को भगवान देवनारायण के 1111वें प्रकटोत्सव पर यहां आ रहे हैं। वह अपनी सभा में इस कॉरिडोर की घोषणा कर सकते हैं। भाजपा के अभी राजस्थान में 25 में से 24 सांसद है, जिनमें से एक गुर्जर समुदाय से है। सवाईमाधोपुर- टोंस सांसद सुखबीर सिंह जौनापुरिया। जबकि विधानसभा में 200 सीटों में से एक भी विधायक गुर्जर समुदाय से नहीं है जो भाजपा के टिकट पर जीता हो। ऐसे में भाजपा आसींद में देवनारायण कॉरिडोर बनाकर गुर्जर समुदाय को अपनी तरफ मोड़ने की कोशिश में है। भगवान देवनारायण की सर्वाधिक मान्यता गुर्जर समुदाय में है, लेकिन अन्य किसान व पशुपालक वर्ग के जाति-समुदायों में भी उन्हें पूजा जाता है। विधानसभा चुनाव 2018 में पूर्वी राजस्थान से बीजेपी का सूपड़ा साफ हो गया था।

[bsa_pro_ad_space id=2]
spot_img
spot_img

सम्बंधित समाचार

Ad

spot_img

ताजा समाचार

spot_img
error: Content is protected !!