27.1 C
Jodhpur

मिशन 2023 के लिए चुनावी बिसात बिछा रहे पायलट, आज से सियासी दौरा शुरू

spot_img

Published:

राजस्थान के पूर्व डिप्टी सीएम सचिन पायलट आज से पांच जिलों के दौरे पर है। शुरुआत नागौर जिले से होगी। पायलट अपने दौरे के दौरान जनसभाएं करेंगे। आमजन और कार्यकर्ताओं से मिलेंगे। पायलट के दौरे को शक्ति प्रदर्शन के तौर पर देखा जा रहा है। पायलट राहुल गांधी ने राहुल गांधी से मिलने के बाद दौरे का कार्यक्रम बनाया है। ऐसे में माना जा रहा है कि पायलट आलाकमान की अनुमति के बाद ही जनसभाएं कर रहे हैं। हालांकि, प्रदेश कांग्रेस कमेटी पायलट के दौरे को लेकर चुप्पी साधे हुए है। पायलट आज नागौर के परबतसर में होने वाली जनसभा के साथ करने जा रहे हैं, जहां पायलट राजस्थान की जनता से सीधे संवाद करेंगे।

16 जनवरी से लेकर 20 जनवरी तक सचिन पायलट प्रदेश के अलग-अलग जिलों में आम सभा और छात्र संवाद के जरिए राजस्थान के लोगों की नब्ज टटोलेंगे। माना जा रहा है कि इन सभाओं में आने वाली भीड़ के जरिए आलाकमान को जनता में अपनी पकड़ भी दिखाएंगे। 16 जनवरी को पायलट नागौर के परबतसर, 17 जनवरी को हनुमानगढ़ के पीलीबंगा, 18 जनवरी को झुंझुनू के गुड़ा, 19 जनवरी को पाली के बाली में सादड़ी में जनसभा करेंगे।  20 जनवरी को जयपुर में सचिन पायलट का महाराज कॉलेज में छात्रसंघ कार्यालय के उद्धाटन के साथ ही युवाओं से संवाद का कार्यक्रम है। ऐसे में 5 दिनों में सचिन पायलट 5 जिलों में अपनी ताकत दिखाते नजर आएंगे। जिनमें नागौर, हनुमानगढ़, झुंझुनू, पाली और जयपुर शामिल है। लेकिन पायलट ने इन 5 जिलों के जरिए राजस्थान के 7 में से 4 संभाग भी कवर कर लिए हैं। जिनमें जोधपुर, बीकानेर, जयपुर और अजमेर शामिल है। 

सचिन पायलट ने 2020 में बगावत कर सीएम अशोक गहलोत के नेतृत्व को चुनौती दी थी। इसके बाद से ही गहलोत-पायलट कैंप के नेताओं के बीच बयानबाजी होती रही है। हालांकि, केसी वेणुगोपाल के समझौते के बाद बयानबाजी बंद हुई है, लेकिन माना जा रहा है कि पायलट के दौरे से एक बार फिर बयानबाजी होने के आसार है। पायलट लगातार सरकार रिपीट नही करवा पाने ओर सरकार लाने में खून पसीना बहाने वाले कार्यकर्ताओं की उपेक्षा को लेकर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत पर सवाल खड़े करते रहते हैं। इन्हीं तमाम सवालों के बीच पायलट की मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के साथ मुख्यमंत्री की कुर्सी की लड़ाई किसी से छिपी नहीं है, लेकिन अब तक पायलट को सिवाय तारीखों के कुछ नहीं मिला है। ऐसे में आज से पायलट जनता के बीच जाकर आने वाली भीड़ के जरिए शक्ति प्रदर्शन पर कांग्रेस आलाकमान को यह मैसेज देने का प्रयास करेंगे कि राजस्थान की जनता उन्हें पसंद करती है। 

[bsa_pro_ad_space id=2]
spot_img
spot_img

सम्बंधित समाचार

Ad

spot_img

ताजा समाचार

spot_img
error: Content is protected !!