46.1 C
Jodhpur

बिहार में सम्राट और राजस्थान में जोशी को मिली पार्टी की कमान, BJP ने किया राज्य अध्यक्षों में बदलाव

spot_img

Published:

इस साल के अंत में होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले एक महत्वपूर्ण घटनाक्रम में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने चित्तौड़गढ़ के सांसद सी.पी. जोशी को पार्टी का प्रदेश अध्यक्ष नियुक्त किया है. बिहार विधान परिषद के सदस्य और पूर्व मंत्री सम्राट चौधरी को बिहार का अध्यक्ष बनाया.

पार्टी महासचिव अरुण सिंह की ओर से जारी अलग-अलग बयान के मुताबिक दिल्ली भाजपा के कार्यकारी अध्यक्ष वीरेंद्र सचदेवा को दिल्ली भाजपा के अध्यक्ष और ओडिशा के पूर्व मंत्री व वरिष्ठ नेता मनमोहन सामल को प्रदेश इकाई के अध्यक्ष के रूप में नियुक्त किया गया.

सम्राट चौधरी

कुशवाहा समाज से आने वाले सम्राट चौधरी बिहार के दिग्गज नेता रहे शकुनी चौधरी के पुत्र है. शकुनी चौधरी सात बार विधायक रहे हैं. वह बिहार भाजपा अध्यक्ष के रूप में संजय जायसवाल की जगह लेंगे.

सिंह ने कहा कि भाजपा अध्यक्ष जे पी नड्डा ने इन नियुक्तियों को मंजूरी दी.

सम्राट चौधरी बिहार भाजपा के उपाध्‍यक्ष भी रह चुके हैं. वह 1999 में कृषि मंत्री और 2014 में शहरी विकास और आवास विभाग के मंत्री की जिम्मेदारी भी संभाल चुके हैं.

सी पी जोशी

सी पी जोशी ने 2019 के लोकसभा चुनाव में भारी मतों से जीत दर्ज की और दूसरी बार संसद पहुंचे. वह प्रदेश अध्यक्ष के रूप में सतीश पूनिया की जगह लेंगे, जो सितंबर 2019 से राज्य इकाई का नेतृत्व कर रहे हैं.

भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव व प्रदेश प्रभारी अरुण सिंह ने नियुक्ति आदेश जारी करते हुए कहा कि पार्टी अध्यक्ष जे.पी. नड्डा ने लोकसभा सांसद सी.पी. जोशी को राजस्थान भाजपा का प्रदेश अध्यक्ष नियुक्त किया है.

ब्राह्मण समुदाय से संबंध रखने वाले जोशी (47) चित्तौड़गढ़ लोकसभा सीट से दूसरी बार सांसद हैं. उन्होंने जाट नेता और आरएसएस समर्थित सतीश पूनिया का स्थान लिया है, जिनका अप्रत्यक्ष रूप से पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे से टकराव देखा गया है.

पूनिया का खेमा उन्हें मुख्यमंत्री पद का दावेदार मानता है.

वीरेंद्र सचदेवा

पिछले दिनों 15 सालों से नगर निगम की दिल्ली में सत्ता गंवाने के बाद सचदेवा को पिछले साल दिसंबर में दिल्ली भाजपा का कार्यकारी अध्यक्ष बनाया गया था. उन्होंने आदेश गुप्ता की जगह ली थी. वीरेंद्र पार्टी संगठन में लंबे समय से काम कर रहे हैं. वे मयूर विहार जिले के अध्यक्ष सहित पार्टी के उपाध्यक्ष भी रह चुके हैं. अब उन्हें पूरी तरह प्रदेश अध्यक्ष बना दिया गया है.

पंजाबी कम्यूनिटी से आने वाले वीरेंद्र सचदेवा दिल्ली में बहुत लोकप्रिय तो नहीं हैं लेकिन पार्टी संगठन पर मजबूत पकड़ तो रखते ही हैं साथ ही हर गुट का सहयोग भी उन्हें मिल जाता है, ऐसे में पार्टी के लिए उपयोगी साबित हो सकते हैं.

मनमोहन सामल ओडिशा प्रदेश अध्यक्ष के रूप में समीर मोहंती का स्थान लेंगे. प्रदेश अध्यक्ष के रूप में मोहंती का तीन साल का कार्यकाल इसी साल जनवरी में समाप्त हुआ था.


[bsa_pro_ad_space id=2]
spot_img
spot_img

सम्बंधित समाचार

Ad

spot_img

ताजा समाचार

spot_img
error: Content is protected !!