33.7 C
Jodhpur

पायलट ने पंजाब में राहुल गांधी संग मिलाए कदम, जानें सियासी मायने

spot_img

Published:

राजस्थान के पूर्व डिप्टी सीएम सचिन पायलट ने आज पंजाब में भारत जोड़ो यात्रा में शामिल हुए है। पांयलट राहुल गांधी संग कदमताल मिलाते हुए नजर आए। बता दें,सचिन पायलट मंगलवार को ही यात्रा में शामिल होने के लिए फतेहगढ़ साहिब पंजाब पहुंच गए थे। राजस्थान में भारत जोड़ो यात्रा के बाद पहली बार सचिन पायलट यात्रा में शामिल हुए है। राजस्थान में यात्रा करीब 21 दिन रही थी। इसके बाद यात्रा ने हरियाणा में प्रवेश कर लिया था। राजस्थान में सचिन पायलट और सीएम अशोक गहलोत की सियासी खींचतान के बीच सचिन पायलट का यात्रा में शामिल होना अहम माना जा रहा है। यात्रा सीएम गहलोत के धुर  विरोधी और पंजाब के कांग्रेस प्रभारी हरीश चौधरी भी मौजूद रहे। सीएम गहलोत के समर्थक माने जाने वाले बायतु विधायक हरीश चौधरी के निशाने पर इन दिनों सीएम गहलोत है। हरीश चौधरी ने हाल ही में हनुमान बेनीवाल की आरएलपी को सीएम गहलोत द्वारा प्रायोजित पार्टी बताया था। 

राजस्थान में विधानसभा चुनाव 2023 में होने है। सचिन पायलट समर्थक लगातार प्रदेश में नेतृत्व परिवर्तन की मांग करते हैं। हालांकि, केसी वेणुगोपाल के समझौते के बाद पायलट कैंप की तरफ से बयानबाजी पर फिलहाल रोक लगी हुई है। गहलोत कैंप के माने जाने वाले विधायक बीच-बीच में बयानबाजी करते रहे है। सचिन पायलट फिलहाल चुप्पी साधे हुए है। राजनीतिक विश्लेषक पायलट की चुप्पी के अलग-अलग सियासी मायने निकाल रहे हैं। सचिन पायलट हाथ से हाथ जोड़ो अभियान की बैठक में भी शामिल नहीं हुए थे। जिससे लेकर सीएम गहलोत ने पायलट का नाम लिए बिना निशाना साधा था। 

पंजाब में यात्रा शुरू करने से पहले राहुल गांधी ने सबसे पहले छोटे साहिबजादों की याद में बने फतेहगढ़ साहिब स्थित गुरुद्वारे में माथा टेका। इसके बाद वह रोजा शरीफ में माथा टेकने गए। आज उन्होंने लाल रंग की पगड़ी पहनी है, जिसे पहनकर वह यात्रा में भी चल रहे हैं। कल केसरी रंग की दस्तार सजाई थी।पंजाब में शुरू हुई राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा मंडी गोबिंदगढ़ में आकर रुक गई है। अब दोपहर 3 बजे मंडी गोबिंदगढ़ के खालसा ग्राउंड से खन्ना के लिए निकलेगी।

[bsa_pro_ad_space id=2]
spot_img
spot_img

सम्बंधित समाचार

Ad

spot_img

ताजा समाचार

spot_img
error: Content is protected !!