33.7 C
Jodhpur

‘न रिटायर हुई थी, न कभी रिटायर होऊंगी’: सोनिया ने अपने राजनीति भविष्य की अटकलों पर लगाया विराम

spot_img

Published:

कांग्रेस की पूर्व प्रमुख सोनिया गांधी राजनीति से संन्यास नहीं ले रही हैं, जैसा कि व्यापक रूप से बताया गया था कि उन्होंने कहा था कि उनकी “पारी भारत जोड़ो यात्रा के साथ समाप्त हो सकती है.”

शनिवार को 85वीं अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी (एआईसीसी) के पूर्ण सत्र में अपने भाषण में सोनिया ने कहा कि उन्हें खुशी है कि भारत जोड़ो यात्रा के साथ उनकी ‘पारी’ समाप्त हो गई.

वह कांग्रेस अध्यक्ष के रूप में 25 साल के कार्यकाल (पार्टी में अब तक का सबसे लंबा कार्यकाल) के औपचारिक अंत के रूप में पार्टी द्वारा उनके लिए प्रशंसा का प्रस्ताव पारित करने के बाद बोल रही थीं. कई मीडिया आउटलेट्स ने सोनिया के भाषण की व्याख्या उनके राजनीति से संन्यास लेने के संकेत के रूप में की, लेकिन कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं ने सुझाव को लगभग तुरंत खारिज कर दिया. हालांकि औपचारिक बयान जारी नहीं किया गया.

रविवार को पूर्ण सत्र में कांग्रेस प्रवक्ता अल्का लांबा ने बहस का औपचारिक रूप से समापन किया.

एआईसीसी के प्रतिनिधियों की तालियों की गड़गड़ाहट के बीच लांबा ने कहा, “मुझे कल (शनिवार) 2 मिनट के लिए सोनिया गांधी जी से बात करने का सौभाग्य मिला. आज, मैं सभी अफवाहों पर विराम लगाना चाहती हूं. मैडम ने हम सभी को बहुत स्पष्ट रूप से कहा है – मैं न कभी रिटायर हुई थी, न कभी रिटायर होऊंगी.”

शनिवार को, कांग्रेस अध्यक्ष के रूप में उनके समय की याद में एक वीडियो चलाए जाने के बाद, सोनिया गांधी ने कहा कि उनके कार्यकाल के दौरान कांग्रेस ने अपने सबसे ऊंचे और सबसे निचले स्तर देखे हैं.

उन्होंने कहा था, “2004 और 2009 में हमारी जीत के साथ-साथ डॉ. मनमोहन सिंह के सक्षम नेतृत्व ने मुझे व्यक्तिगत संतुष्टि दी, लेकिन मुझे सबसे ज्यादा खुशी इस बात की है कि मेरी पारी भारत जोड़ो यात्रा के साथ समाप्त हो सकी.”


[bsa_pro_ad_space id=2]
spot_img
spot_img

सम्बंधित समाचार

Ad

spot_img

ताजा समाचार

spot_img
error: Content is protected !!