32.4 C
Jodhpur

नेता-अधिकारी का नाम बता दें, पेपर लीक केस में गहलोत का पायलट पर पलटवार

spot_img

Published:

राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत ने पेपर लीक मामले में सचिन पायलट पर पलटवार किया है। कहा- हमें नेता-अधिकारी का नाम बता दें, हम कार्रवाई कर देंगे।पेपर लीक करने वालों पर जो कार्रवाई की है । वह सरगना ही है। सीएम ने कहा कि जिसने भी पेपर लीक किए है। षड्यंत्र किए है। उनकी तह तक पहुंचें, हम पहुंचे भी है। आगे भी उन लोगों को नहीं छोड़ेंगे। कई अधिकारियों-नेताओं के नाम ले रहे हैं, ये इनका षड्यंत्र है। बता दे, सचिन पालयट ने सोमवार को नागौर में कहा था कि पेपर लीक मामले में दलालों की बजाय सरगनाओं पर कार्रवाई हो। हालांकि, सीएम गहलोत ने सीधे तौर पर सचिन पायलट का नाम नहीं लिया, लेकिन माना जा रहा है कि सीएम गहलोत ने सचिन पायलट को जवाब दिया है। सीएम अशोक गहलोत ने राजधानी जयपुर में मीडिया से बात करते हुए साफ कहा कि पेपर लीक मामले में कोई नेता और अधिकारी शामिल नही हैं। पेपर लीक गिरोह सक्रिय है। हमनें उन पर कार्रवाई की है। मकान ध्वस्त कर दिए। कोचिंग संस्थान ध्वस्त कर दिया। गिरफ्तार कर लिए। कानून बना दिए। सरकार यही तो कर सकती है। सीएम ने कहा कि बीजेपी सरकार में पेपर लीक हुए थे। कोई कार्रवाई नहीं की। यूपी और एमपी में भी पेपर लीक हो रहे हैं। विपक्ष भ्रम फैला रहा है। विपक्ष सरकार की उपल्बधियों से बौखला गया है। विपक्ष के लोग गुमराह क रहे है। 

सीएम ने कहा कि पेपर लीक होते है तो दुख होता है। हमने परीक्षाओं के दौरान अभ्यर्थियों को सुविधाएं प्रदान की। फ्री बस सेवा शुरू की। रहने और खाने का भी इंतजाम किया, लेकिन पेपर लीक हो गए। हमारे सब किए कराए पर पानी फिर गया है। पेपर लीक में किसी नेता और अधिकारी की कोई भूमिका नहीं है। चिंतन शिविर के बार में सीएम गहलोत ने कहा कि पिछली बार जब हमारी सरकारी थी, तब भी हमने चिंतन शिविर आयोजित किया था। इस बार भी कर रहे हैं। सीएम ने कहा कि चिंतन शिविर में खुद मंत्री और अधिकारी परफोर्मेंस दे रहे हैं। 

सीएम ने कहा कि राज्य में साढ़े तीन लाख सरकारी नौकरियां दी जा रही है। इतनी नौकरी कोई देता है क्या, विपक्ष बौखला गया है। इसलिए जानबूझकर नेताओं के नाम ले रहे हैं। शिक्षा संकुल में क्या हुआ, वहां तक पहुंचे है। आरोपी जेल गए है। सब कुछ किया है। जनता समझदार है। सबकुछ समझ जाएगी। कई राज्यों में पेपर लीक हो जाते हैं। चुपचाप परीक्षाएं हो जाती है, जो फर्जी लोग फायदा भी उठा लेते हैं। नौकरी लग जाती है। पेपर लीक के जिसने भी षड्यंत्र किए है, उनकी तह तक पहुंचे और हम पहुंचे भी है। नाम बता दें, हम कार्रवाई करने वालों को आगे भी नहीं छोड़ेंगे। 

[bsa_pro_ad_space id=2]
spot_img
spot_img

सम्बंधित समाचार

Ad

spot_img

ताजा समाचार

spot_img
error: Content is protected !!