25.7 C
Jodhpur

दौसा में बवाल. 2 की गोली मारकर हत्या, किरोड़ीलाल ने खोला मोर्चा 

spot_img

Published:

राजस्थान के दौसा जिले के मंडावर थाना इलाके में आज फायरिंग में एक ही परिवार के दो लोगों की मौत हो गई। वहीं इस फायरिंग में तीन लोग घायल हो गए हैं। फायरिंग की घटना को लेकर लोगों में नाराजगी है। लोगों ने रास्ता जाम कर दिया और प्रदर्शन किया जा रहा है। बताया जा रहा है कि तीन महीने पहले एक एक्सीडेंट हुआ था, जिसको लेकर यह फायरिंग की गई है। बीजेपी सांसद किरो़ड़ी लाल मीना ने आरोपियों की तुरंत गिरफ्तार कर कड़ी से कड़ी सजा देने की मांग की है। किरोड़ी लाल ने कहा कि प्रदेश की कानून व्यवस्था इस कांग्रेस के जंगल राज में चरमरा गई है। युवकों के परिवारजनों ने पुलिस प्रशासन को पहले ही हमले की सूचना दी लेकिन पुलिस प्रशासन ने समय रहते संज्ञान नहीं लिया। जिसका परिणाम दो युवकों की गोली मारकर हत्या कर दी गई है। मैं इस मामले को लेकर महुआ थाने जाऊंगा। मेरी मांग है की आरोपियों को तुरंत गिरफ्तार कर दोषी पुलिस प्रशासन पर कठोर कार्यवाही की जाए।

मंडावर थाना क्षेत्र के पालोदा गांव में हीरालाल योगी (60) और रामेश्वर और मोतीलाल पड़ोसी है। तीन महीने पहले हुए एक एक्सीडेंट को लेकर दोनों परिवारों के बीच विवाद चल रहा है। रविवार शाम को दोनों का परिवार एक कपड़े की दुकान पर पहुंच गया। यहां एक्सीडेंट को लेकर एक बार फिर से विवाद हो गया। इस पर रविवार रात दोनों पक्षों में जमकर झगड़ा हुआ। गांव वालों ने जैसे-तैसे मामला शांत करा दिया।
सोमवार सुबह एक बार फिर से हीरालाल योगी और रामेश्वर-मोतीलाल का परिवार आमने-सामने हो गया। मामला इतना बढ़ गया कि दोनों परिवारों के बीच जमकर पथराव होने लगा। रामेश्वर और मोतीलाल के परिवार की ओर से ताबड़तोड़ फायरिंग कर दी। इस फायरिंग में हीरालाल योगी और अलका (20) पत्नी दीपराम योगी घायल हो गए। इन्हें मुंडावर हॉस्पिटल लाया गया, जहां इनकी मौत हो गई। वहीं फायरिंग में परिवार के दुलीचंद, बाबूलाल और चेतराम भी घायल हो गए

मामले की जानकारी देते हुए पुलिस ने बताया कि हीरालाल योगी के बेटे संतराम का तीन महीने पहले एक्सीडेंट हो गया था। जिसमें उसकी डेथ हो गई थी। परिवार का आरोप था कि रामेश्वर व मोतीलाल के परिवार ने उसकी हत्या कर मार डाला और इसके बाद मामला भी दर्ज करवाया। तभी से दोनों परिवारों के बीच विवाद चल रहा है। रविवार को भी इसी बात को लेकर विवाद हो गया था। इसके साथ ही हीरालाल येागी के परिवार का कहना है कि रविवार रात हुए झगड़े में पुलिस को भी सूचना दी गई, लेकिन कोई मौके पर नहीं आया। वहीं दो लोगों की मौत के बाद परिजनों ने हॉस्पिटल के आगे जाम लगा दिया है। परिजन आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग पर अड़े हैं।

[bsa_pro_ad_space id=2]
spot_img
spot_img

सम्बंधित समाचार

Ad

spot_img

ताजा समाचार

spot_img
error: Content is protected !!