31.9 C
Jodhpur

जोधपुर-जैसलमेर हाई-वे पर जमीन विवाद में भिड़े दो गुट, पुलिस पर पथराव

spot_img

Published:

– गोचर भूमि पर लगे पौधे और ट्री गार्ड उखाड़ने की बात को लेकर तनाव, जाट-विश्नोई समाज हुए आमने-सामने,

– पुलिस ने अश्रु गैस के गोले दागे, हल्का बल प्रयोग, देर रात तक हालात तनावपूर्ण

हालात बेकाबू होते देख पुलिस ने छोड़े अश्रु गैस के गोले

जोधपुर। शहर से जैसलमेर जाने वाले हाई-वे पर स्थित पूनियों की प्याऊ गांव की गोचर भूमि पर लगे पौधे और ट्री गार्ड गुरुवार रात को उखाड़ने के बाद शुक्रवार सुबह शुरू हुआ दो गुटो के बीच का विवाद देर रात तक तनावपूर्ण हालात में तब्दील हो गया। इस मुद्दे पर आमने सामने हुए जाट और विश्नोई समाज। शुक्रवार शाम तक स्थिति ऐसी हो गई कि एकबारगी तो कुछ उत्पाती युवकों ने पुलिस पर ही पथराव कर दिया। इन पर काबू पाने के लिए पुलिस ने अश्रु गैस के गोले दागे और हल्का बल प्रयोग भी किया। इससे पहले पौधे व ट्री गार्ड उखाड़ने का विरोध करते हुए विश्नोई समाज के लोगों का कहना है कि अमृतादेवी पार्क में बदमाशों की यह कारस्तानी पूरे समाज को आक्रोशित करने वाली है। इस पर जेडीए के अफसर मौके पर पहुंचे और पौधे मंगवाकर उसी स्थान पर लगाने का प्रयास किया, लेकिन जाट समाज के लोगों ने इसका विरोध करते हुए पौधे लगाने से रोक दिया। इसी बात को लेकर वहां हालात तनावपूर्ण होने लग गए। देर रात पुलिस ने इस घटनाक्रम के संबंध में केस दर्ज करने की बात कही है।

दोनों गुटों की तरफ से पथराव, टायर जला जाम किया हाई-वे

गोचर भूमि पर कब्जा करने के आरोप लगाते हुए एक पक्ष द्वारा विरोध करने और पौधे लगाने या नहीं लगाने की बात पर दोनों गुट आमने-सामने हो गए। इस दौरान शुरू हुई आपसी कहासुनी कुछ ही देर में पथराव व मारपीट में तब्दील हो गई। इसके बाद पुलिस व आरएसी का अतिरिक्त जाब्ता मौके पर पहुंचा और डंडे फटकार कर भीड़ को वहां से खदेड़ा, लेकिन लोगों ने कुछ दूर पहुंचकर मुख्य हाई-वे पर टायर जलाकर रास्ता रोक दिया। काफी देर तक समझाइश के बाद भी लोग नहीं माने तो पुलिस ने बल प्रयोग कर रास्ता खुलवाया।

लूणी विधायक के पिता बात कर निकले, तो शुरू हुआ पथराव

लूणी विधानसभा क्षेत्र के इस गांव में उपजे विवाद के बाद विधायक महेंद्र विश्नोई के पिता पूर्व विधायक मलखानसिंह विश्नोई मौके पर पहुंचे। यहां उन्होंने जाट और विश्नोई समाज के लोगों से अलग-अलग बातचीत कर समझाइश का प्रयास किया। उनके यहां से निकलने के बाद दोनों ही गुट वापस विरोध पर उतर आए और पथराव शुरू कर दिया। इससे कुछ पुलिसकर्मी व दोनों ही पक्षों के कई लोग घायल हो गए। इनमें घायल कुछ महिलाओं ने पुलिस पर ही मारपीट करने का आरोप लगाए हैं।

पूनियों की प्याऊ क्षेत्र की गोचर भूमि के मुद्दे पर शुरू हुआ विवाद

गोचर भूमि पर अतिक्रमण, जाट समाज ने दिया था धरना

उल्लेखनीय है कि पूनियों की प्याऊ गांव की गोचर भूमि पर अतिक्रमण किए जाने के विरोध में जाट समाज के लोगों ने गत दिनों जोधपुर विकास प्राधिकरण कार्यालय पर धरना दिया था। तब विरोध-प्रदर्शन और रास्ता जाम होने की स्थिति बनी और कुछ महिलाएं पानी की टंकी पर भी चढ़ गईं थी। बाद में प्रशासन द्वारा ठोस कार्रवाई का भरोसा दिलाने पर धरना खत्म हुआ था। इसके बाद भी मौके पर स्थिति में कोई सुधार नहीं हुआ और हालात लगातार तनावपूर्ण होते चले गए।

[bsa_pro_ad_space id=2]
spot_img
spot_img

सम्बंधित समाचार

Ad

spot_img

ताजा समाचार

spot_img
error: Content is protected !!