46.1 C
Jodhpur

‘जेल में फोन?’ तिहाड़ में बंद सिसोदिया के ट्वीट पर मचा बवाल तो यूजर बोले- ऐसा जेल हर कैदी को नसीब हो

spot_img

Published:

दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया इनदिनों राजधानी के तिहाड़ जेल में बंद हैं लेकिन इसी बीच होली  के दिन 8 मार्च को उनके आधिकारिक ट्विटर हैंडल से एक ट्वीट किया गया. जिसके बाद विरोधी पार्टियों द्वारा उन पर जेल में मोबाइल इस्तेमाल करने का आरोप लगाया जा रहा है.

सिसोदिया ने ट्वीट किया, ‘आज तक सुना था कि देश में स्कूल खुलते हैं तो जेल बंद होते है, लेकिन अब इन लोगो ने तो देश में स्कूल खोलने वालों को ही जेल में बंद करना शुरू कर दिया.’

सिसोदिया के ट्वीट के बाद राजनीतिक गलियारों में खलबली मच गई. सिसोदिया के इस ट्वीट को लेकर बीजेपी ने भी उन पर निशाना साधा.

सिसोसिया के ट्वीट पर निशाना साधते हुए बीजेपी सांसद प्रवेश वर्मा ने ट्वीट किया, ‘मनीष सिसोदिया के पास जेल में फोन है?’

सीबीआई ने 2021-22 के लिए आबकारी नीति बनाने और इसके क्रियान्वयन में कथित भ्रष्टाचार के संबंध में 26 फरवरी को सिसोदिया को गिरफ्तार किया था और वह 20 मार्च तक न्यायिक हिरासत में हैं.

बता दें कि दिल्ली भाजपा के नेता तजिंदर पाल सिंह बग्गा ने भी आरोप लगाया है कि सिसोदिया एक ‘अपराधी’ हैं और उनके ट्विटर हैंडल का इस्तेमाल कोई और कर रहा है.

बग्गा ने ट्वीट किया, ‘एलोन मस्क यह व्यक्ति अपराधी है और अभी जेल में है. उनकी ओर से इस अकाउंट का इस्तेमाल कोई और कर रहा है. प्लीज इनका अकाउंट ब्लॉक करे.’

सिसोदिया को हाल ही में केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने जीएनसीटीडी की उत्पाद शुल्क नीति के निर्माण और कार्यान्वयन में कथित अनियमितताओं के लिए गिरफ्तार किया था.

सिसोदिया के ट्वीट सामने आने के बाद ट्विटर में अन्य यूजर ने भी जेल में ट्विटर चलाने को लेकर उनपर निशाना साधा. एक यूजर ने लिखा, किस कानून के तहत है मनीष जेल से ट्वीट करने दिया जा रहा है?

एक अन्य यूजर ने लिखा, ‘कोर्ट को यहां तुरंत संज्ञान लेने की जरूरत है. गिरफ्तार व्यक्ति जेल के अंदर से ट्वीट कैसे कर सकता है?’

वहीं एक और यूजर ने लिखा जेल से भी ट्वीट ऐसा जेल हर कैदी को नसीब हो.

लगातार ट्रोल होने के बाद सिसोदिया के ट्विटर एकाउंट पर लिखा गया कि यह एकाउंट मनीष सिसोदिया की टीम द्वारा हैंडल किया जा रहा है.

शराब नीति मामले में सिसोदिया को गिरफ्तार करने के बाद, सीबीआई ने एक बयान जारी कर दावा किया कि उन्होंने सवालों के गोलमोल जवाब दिए और शराब घोटाला मामले में चल रही जांच में सहयोग नहीं कर रहे हैं.


[bsa_pro_ad_space id=2]
spot_img
spot_img

सम्बंधित समाचार

Ad

spot_img

ताजा समाचार

spot_img
error: Content is protected !!