36 C
Jodhpur

जिस दावे से सत्ता पर हक जता रहे थे पायलट, गहलोत ने झटके में किया खारिज

spot_img

Published:

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और पूर्व डेप्युटी सीएम सचिन पायलट के बीच एक और मुद्दे पर टकराव बढ़ गया है। एक तरफ जहां सचिन पायलट 2018 में कांग्रेस को मिली जीत का क्रेडिट लेते हुए सत्ता पर अपनी दावेदारी जता रहे थे तो अब गहलोत ने इसे सिरे से खारिज कर दिया है। अशोक गहलोत ने पायलट को जवाब देते हुए कहा कि राज्य में कांग्रेस की 2018 में सत्ता में वापसी उनके पिछले कार्यकाल में किए गए काम के कारण हुई। गहलोत ने इस साल के अंत में होने वाले विधानसभा चुनाव में 156 सीटें जीतने का लक्ष्य भी रखा।

लंबे समय से गहलोत के साथ सत्ता की खींचतान में फंसे पायलट बार-बार यह कहते रहे हैं कि 2013 से 2018 तक जब वह प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष थे उस दौरान पार्टी नेताओं और कार्यकर्ताओं के संघर्ष के कारण कांग्रेस की सत्ता में वापसी हुई। पायलट कहते हैं कि कांग्रेस विधायकों की संख्या जो 2013 में घटकर 21 रह गई थी, पार्टी आलाकमान ने उन्हें प्रदेश कांग्रेस कमेटी का प्रमुख बनाया और उन्होंने 5 साल तक बहुत मेहनत की।

[bsa_pro_ad_space id=2]
spot_img
spot_img

सम्बंधित समाचार

Ad

spot_img

ताजा समाचार

spot_img
error: Content is protected !!