34.8 C
Jodhpur

जयपुर की लेडी इंस्पेक्टर को देख भूल जाएंगे टीना डाबी,जानिए कौन है आरती

spot_img

Published:

राजस्थान की लेडी इंस्पेक्टर आरती सिंह तंवर साइबर क्राइम से बचने के महत्वपूर्ण टिप्स देती हैं। युवाओं में खासी लोकप्रिय है। जैसलमेर की जिला कलेक्टर टीना डाबी की तरह सोशल मीडिया पर लाखों हैं फालोअर्स है। विशेष बातचीत में आरती सिंह ने बताया कि इस समय सेक्स्टोर्शन (Sextortion) का बहुत प्रचलन हैं। इसका मतलब यह है कि साइबर क्राइम करने वाले व्यक्ति लड़की की फेक आईडी बनाकर लाइव वीडियो कालिंग के माध्यम से आपत्तिजनक बातें करके लोगों को अपने जाल में फंसाते हैं। 

वर्तमान समय में सोशल मीडिया एक ऐसा माध्यम है जिससे आप समाज को जागरूक करने के साथ ही अपनी भी फिजा में चार चांद लगा सकते हैं। इसके लिए आपको नियमित होना पड़ेगा। नियमित होने का तात्पर्य आपको प्रतिदिन समाज की एक किसी एक बुराई को उजागर कर उसका समाधान भी बताना होगा। यदि आप ऐसा करने में सफल हो जाते हैं तो आपको सोशल मीडिया में स्टार बनने से कोई नहीं रोक सकता और आपके कुछ ही  दिनों में लाखों फालोअर्स हो जाएंगे। इन बातों को धरातल पर लाने का काम किया है जयपुर, राजस्थान में पुलिस सब इंस्पेक्टर आरती सिंह तंवर ने। आरती सिंह सोशल मीडिया के माध्यम से आम जनता को साइबर क्राइम के प्रति जागरूक करती हैं। 

साइबर क्राइम देश ही नहीं पूरे विश्व में एक बड़ी समस्या बन चुका है। वेबसाइट और पासवर्ड हैक करके आम जनता के अलावा हैकर्स बैंकों की साइट भी हैक कर भारी नुकसान पहुंचाते हैं। विशेष बातचीत में आरती सिंह ने बताया कि इस समय सेक्स्टोर्शन (Sextortion) का बहुत प्रचलन हैं। इसका मतलब यह है कि साइबर क्राइम करने वाले व्यक्ति लड़की की फेक आईडी बनाकर लाइव वीडियो कालिंग के माध्यम से आपत्तिजनक बातें करके लोगों को अपने जाल में फंसाते हैं। फिर इसके बाद वीडियो कालिंग के दौरान बातचीत की रिकार्डिंग कर उसे सार्वजनिक करने की धमकी देने के बाद मोटी रकम ऐठ लेते हैं। 

[bsa_pro_ad_space id=2]
spot_img
spot_img

सम्बंधित समाचार

Ad

spot_img

ताजा समाचार

spot_img
error: Content is protected !!