36 C
Jodhpur

चुनावी साल में तीर चलाकर वसुंधरा राजे किस पे निशाना साध गईं

spot_img

Published:

राजस्थान में चुनावी साल शुरू होने के साथ ही पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे सक्रिय हो गई है। रविवार को राजे अपने तीन दिवसीय प्रवास पर मेवाड़ पहुंची। जहां सबसे पहले उदयपुर पहुंचने पर राजे का भाजपा कार्यकर्ताओं ने गर्मजोशी से स्वागत किया। इसके बाद राजे अपने समर्थकों के साथ सड़क मार्ग से डूंगरपुर के लिए रवाना हुई। जहां बेणेश्वर मेले में शामिल होने के बाद डेढ़ किलोमीटर तक पैदल चल राधा-कृष्ण मंदिर पहुंची। जहां उन्होंने महंत अच्युतानंद महाराज का आशीर्वाद लेकर लगभग डेढ़ घंटे तक पूजा-अर्चना की।दौरान वसुंधरा राजे ने आम जनता को संबोधित करते हुए कहा कि मुझे लगता है कि अब भी बहुत कुछ करना है। महाराज के आशीर्वाद से हम सब को यह विश्वास है। आज नहीं तो कल, कल नहीं तो परसों मावजी महाराज के आशीर्वाद से यह काम होने वाला है। बस आप लोग अपना आशीर्वाद बनाए रखो। वहीं मेले में आदिवासी महिला के आग्रह पर राजे ने तीर-कमान भी चलाया। उन्होंने कहा कि कोई लक्ष्य मनुष्य के साहस से बड़ा नहीं।

बेणेश्वर धाम की यात्रा के दौरान यहां मैंने नया टापरा (दोलपुरा) से बेणेश्वर धाम तक पैदल यात्रा की और मेले में चूड़ियां खरीद कर पहनी। साथ ही पूजन के लिए मावजी और काली माता की तस्वीरें भी खरीदी। हमारी भाजपा सरकार ने यहां मावजी महाराज का भव्य पैनोरमा विकसित करवाया था, जिसका अवलोकन कर सुखद अनुभूति हुई। संत मावजी महाराज एवं बेणेश्वर की पुरातन धार्मिक परम्पराओं में कई वैज्ञानिक रहस्य समाहित हैं। यह पैनोरमा मावजी के उन्हीं आदर्शों को समाज तक पहुंचाता है। मुझे विश्वास है राजस्थान में अब बदलाव होगा और वागड़ सहित हर क्षेत्र में जो भी काम शेष रहे थे, उन्हें हम पूरा करवाएंगे। हमारी सरकार ने वागड़ सहित प्रदेश के हर क्षेत्र का समग्र विकास करने का प्रयास किया था और आगे भी हम दोगुनी गति से विकास कार्य करवाएंगे। मैं मानती हूं कि मावजी मात्र एक संत ही नहीं, बल्कि सर्वश्रेष्ठ भविष्यवक्ता थे। चौपड़ों में लिखी उनकी हर एक भविष्यवाणी आज सच हो रही है। मावजी ने कोरोना जैसी महामारी के लिए 300 साल पहले ही अपने चौपड़ें में लिख दिया था कि पृथ्वी पर ऐसे भयंकर प्रकोप होंगे, जिससे नगर बाजार सब वीरान हो जाएंगे।

वसुंधरा राजे के साथ सांसद अर्जुन मीणा, कनकमल कटारा, विधायक दीप्ति माहेश्वरी, धर्मनारायण जोशी, ललित अस्तवाल, अर्जुन जीनगर, पूर्व मंत्री श्रीचंद कृपलानी, पूर्व विधान सभा अध्यक्ष शांति लाल चपलोत, पूर्व मंत्री हरी सिंह रावत, पूर्व विधायक नाना लाल आहारी, उदयपुर मेयर गोविन्द सिंह टाक, विधायक समा राम गरसिया, गोपी चंद मीणा, अमृत मीणा, हरेंद्र नीनामा, कैलाश मीणा समेत बड़ी संख्या में बीजेपी कार्यकर्त्ता मौजूद रहे। पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे अपने तीन दिवसीय दौरे के दौरान 7 फरवरी तक डूंगरपुर, उदयपुर, बांसवाड़ा जिले के दौरे पर रहेंगी। रविवार को राजे उदयपुर और डूंगरपुर दौरे पर रही। सोमवार को राजे डूंगरपुर के सागवाड़ा से उदयपुर जाएंगी और उदयपुर में सामाजिक कार्यक्रमों में शामिल होगी। सोमवार को उदयपुर में ही रात्रि विश्राम के बाद मंगलवार शाम राजे जयपुर पहुंचेंगी।

[bsa_pro_ad_space id=2]
spot_img
spot_img

सम्बंधित समाचार

Ad

spot_img

ताजा समाचार

spot_img
error: Content is protected !!