27.1 C
Jodhpur

गोविंद सिंह डोटासरा बोले- मंत्री-विधायक खुद को कांग्रेस से बड़ा मानते

spot_img

Published:

राजस्थान कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष गोविंद सिहं डोटासरा ने पीसीसी में जयपुर संभाग की मीटिंग में नहीं आने वाले मंत्रियों-विधायकों पर निशाना साधा है। पीसीसी चीफ ने कहा कि मीटिंग में शामिल नहीं होने वाले मंत्रियों और विधायकों से स्पष्टीकरण लिया जाएगा। बता दें आज हुई मीटिंग में जयपुर संभाग के 30 में से 20 विधायक और मंत्री नहीं आए। इस पर टिप्पणी करते हुए डोटासरा ने कहा कि खुद को कांग्रेस से बड़ा मानने लगे हैं। प्रदेश प्रभारी सुखजिंदर सिंह रंधावा ने कहा कि गैर हाजिर रहने वाले नेताओं से स्पष्टीकरण मांगा जाएगा। रंधावा के निर्देश के बाद डोटासरा अनुपस्थित रहने वाले नेताओं की लिस्ट सौपेंगे। इसके बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी। उल्लेखनीय है कि हाथ से हाथ जोड़ो अभियान के लिए आज प्रदेश कांग्रेस मुख्यालाय में जयपुर संभाग के कांग्रेस नेताओं की मीटिंग बुलाई गई थी। मीटिंग में नहीं आने वाले कुछ मंत्रियों ने कारण बताए, कुछ अपनी मनमर्जी से नहीं आए।

जयपुर ग्रामीण जिला अध्यक्ष और मंत्री राजेंद्र यादव भी मीटिंग में शामिल नहीं हुए। आज की बैठक में जयपुर संभाग के पांच जिलों, अलवर, सीकर, झुंझुनूं, दौसा और जयपुर जिले के मंत्रियों, ब्लाक अध्यक्षों और विधायकों का आना था। लेकिन मंत्री लालचंद कटारिया, महेश जोशी, राजेंद्र यादव, गंगा देवी, वेदप्रकाश सोलंकी, दीपचंद खैरिया, जौहरी लाल मीना, साफिया खान, संदीप यादव, दीपेंद्र सिंह शेखावत, परसराम मोरदिया, राजेंद्र गुढ़ा, राजकुमार शर्मा, रीटा चौधरी और मंत्री परसादी लाल एवं मुरारी लाल मीना शामिल नहीं हुए।

मीटिंग में नहीं आने पर प्रदेश प्रभारी सुखजिंदर सिंह रंधावा ने नाराजगी जताई है। रंधावा ने कहा कि पार्टी में अनुशासन रहना बहुत जरूरी है। मीटिंग से नदारद रहने वाले मंत्रियों और विधायकों से स्पष्टीकरण लिया जाएगा। मीटिंग में ज्यादातर मंत्री और विधायक शामिल नहीं हुए है। प्रदेश प्रभारी की बार-बार फटकार के बावजूद भी कांग्रेस के नेता मीटिंग से नदारद रहते हैं।

[bsa_pro_ad_space id=2]
spot_img
spot_img

सम्बंधित समाचार

Ad

spot_img

ताजा समाचार

spot_img
error: Content is protected !!