46.1 C
Jodhpur

गहलोत के मंत्री चांदना के कार्यक्रम में पायलट जिंदाबाद के लगे नारे 

spot_img

Published:

राजस्थान में सचिन पायलट समर्थकों ने एक बार फिर खेलमंत्री अशोक चांदना के कार्यक्रम में पायलट जिंदाबाद के नारे लगाए। चांदना कार्यक्रम में उद्बोधन दे रहे थे। इस दौरान कुछ युवा पायलट जिंदाबाद के नारे लगाने लगे। हालांकि, नारेबाजी थोड़ी देर में बंद भी हो गई थी। चांदना जब कार्यक्रम से जा रहे थे, तब कुछ युवकों ने नारेबाजी की। खेलमंत्री ने नारेबाजी को इग्नोर किया और अपना भाषण जारी रखा। दरअसल, खेलमंत्री अशोक चांदना आज धौलपुर जिले के राजकीय महाविद्यालय के नवनिर्मित राजीव गांधी इनडोर स्टेडियम का लोकार्पण औऱ महाविद्यालय के मुख्य द्वार व कंप्यूटर प्रयोगशाला का शिलान्यास करने पहुंचे थे। बता दें, अशोक चांदना धौलपुर के जिला प्रभारी भी है। 

बता दें, पिछले साल सितंबर 2022 में गुर्जर आरक्षण संघर्ष समिति के कार्यक्रम में अजमेर में अशोक चांदना के संबोधन के दौरान पायलट समर्थकों ने उनकी तरफ जूतें उछाले थे। इसके बाद खेलमंत्री अशोक चांदना ने सचिन पायलट को निशाने पर ले लिया था। घटना के बाद मंत्री चांदना ने कहा था- क्योंकि अगर कोई मुझ पर जूते फेंकेगा, तो मेरे पास भी समर्थक हैं। मैं भी दो बार विधायक रहा हूं। मोदी लहर में भी विधायक चुनाव जीता हूं। पार्लियामेंट में चुनाव भी लड़ा हूं। यूथ कांग्रेस का अध्यक्ष भी रहा हूं। राजनीति में जूता फिंकवाकर कामयाबी हासिल नहीं होती। राजनीति में सारे जूते फिंकवाने लग जाएंगे, तो कोई भी नहीं रहेगा या एक रहेगा। ये राजनीतिक बात है। 

उल्लेखनीय है कि सचिन पायलट के समर्थक चांदना से इस बात से नाराज है कि उन्होंने बगावत के समय सचिन पायलट का साथ नहीं दिया था। जिसकी वजह से पायलट सीएम नहीं बन पाए। बता दें, चांदना और पायलट गुर्जर समुदाय से आते है। पायलट समर्थक इसी बात से नाराज थे। पायलट समर्थकों का कहना है कि विधानसभा चुनाव 2018 में सचिन पायलट ने चांदना के पक्ष में प्रचार किया था, इसके बावजूद भी उन्होंने सीएम गहलोत का साथ दिया। चांदना और पायलट के बीच राजनीतिक अदावत चलती रही है। अशोक चांदना को सीएम गहलोत का समर्थक माना जाता है।

[bsa_pro_ad_space id=2]
spot_img
spot_img

सम्बंधित समाचार

Ad

spot_img

ताजा समाचार

spot_img
error: Content is protected !!