32.4 C
Jodhpur

खुद मौका दो नहीं तो…; पायलट के मंच से मंत्री ने गहलोत को सुनाया

spot_img

Published:

राजस्थान के पूर्व उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट ने सोमवार को किसान सम्मेलन की शुरुआत की। उन्होंने पहले दिन नागौर में मोदी सरकार और भारतीय जनता पार्टी पर जोरदार प्रहार किया। पायलट से पहले उनके कई समर्थक विधायकों ने अपने ही मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को निशाने पर लिया और सरकार की खामियां भी गिनाईं। गहलोत कैबिनेट में मंत्री हेमराम चौधरी ने खुलकर कहा कि सचिन पायलट की मेहनत की वजह से ही कांग्रेस की राजस्थान में सरकार बनी, लेकिन आज वह सिर्फ विधायक हैं। चौधरी ने गहलोत का नाम लिए बिना कहा कि बुजुर्गों को अब युवाओं के लिए स्थान छोड़ देना चाहिए। उन्होंने यह भी कहा कि यदि ऐसा नहीं किया गया तो नौजवान धक्के मारकर अपनी जगह बना लेंगे, लेकिन ऐसा होने पर क्या शान रह जाएगी।

जीवन में नहीं देखा पायलट जैसा नेता: चौधरी
मंत्री ने कहा कि सबको एकजुट होकर काम करना है। उन्होंने कहा, ‘ताली एक हाथ से नहीं बजती है, दोनों हाथों से बजती है। कुछ लोग एक हाथ से ताली बजाना चाहते हैं। वे लोग दिमाग से इस बात को निकाल दें, एक हाथ से ताली कभी नहीं बज सकती है, दोनों हाथ मिलाओगे तभी ताली बजेगी। सबको कांग्रेस की मजबूती के लिए काम करना चाहिए, नाकि खुद की मजबूती के लिए काम करें।’ चौधरी ने कहा कि उन्होंने अपने जीवन में पायलट जैसा नेता नहीं देखा। पिना किसी पद के लोगों के बीच उनकी इतनी लोकप्रियता है।

[bsa_pro_ad_space id=2]
spot_img
spot_img

सम्बंधित समाचार

Ad

spot_img

ताजा समाचार

spot_img
error: Content is protected !!