46.1 C
Jodhpur

क्यों गहलोत सरकार से नाराज हो गए हैं किसान, चुनाव से पहले दे रहे टेंशन

spot_img

Published:

विधानसभा चुनाव से कुछ महीने पहले राजस्थान में अशोक गहलोत सरकार को किसानों की नाराजगी का सामना करना पड़ रहा है। अपनी कई मांगों को लेकर राज्यभर के किसान बुधवार को तहसील मुख्यालयों पर जुटेंगे और मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन सौंपकर अपनी नाराजगी को सरकार के सामने जाहिर करेंगे। मंगलवार को भारतीय किसान संघ की एक बैठक में यह फैसला लिया गया। 

संघ के राज्य सचिव तुलछा राम सिवर ने कहा कि एक दिन के आंदोलन के बाद 17 जनवरी को किसान जिला मुख्यालयों पर सांकेतिक धरने पर बैठेंगे, जहां डीएम को ज्ञापन दिया जाएगा। यदि मांगों पर कोई ऐक्शन नहीं लिया गया तो फिर किसान जयपुर जाकर आंदोलन करेंगे। इससे पहले किसानों ने बिजली की कमी और खराब गुणवत्ता को लेकर जोधपुर के पास मथानिया में प्रदर्शन किया था। 

सिवर ने कहा, ‘3 जनवरी को हमने मथानिया में प्रदर्शन किया था और अघोषित, बार-बार बिजली कटौती को लेकर अपनी नाराजगी जाहिर की थी। हमने 6 जनवरी को जयपुर में अधिकारियों से मुलाकात की थी। लेकिन उनके भरोसे के बावजूद स्थिति में सुधार नहीं आया है।’ किसानों का कहना है कि बिजली की मौजूदा हालात से ना सिर्फ रबी फसल की बुआई पर असर पड़ा है, बल्कि प्याज की बुआई पर भी असर पड़ा है। 

[bsa_pro_ad_space id=2]
spot_img
spot_img

सम्बंधित समाचार

Ad

spot_img

ताजा समाचार

spot_img
error: Content is protected !!