46.1 C
Jodhpur

किसान सम्मेलन के बहाने सचिन पायलट दिखाएंगे अपना दमखम 

spot_img

Published:

राजस्थान के पूर्व डिप्टी सीएम सचिन पायलट किसान सम्मेलन में अपना दमखम दिखाएंगे। झुंझुनूं जिले के उदयपुरवाटी में 18 जनवरी को होने वाले किसान महासम्मेलन पायलट के शक्ति प्रदर्शन के तौर पर देखा जा रहा है। बजट सत्र से पहले पायलट के किसान महा सम्मलेन के अलग-अलग सियाी मायने निकाले जा रहे हैं। बता दे, राजस्थान विधानसभा का बजट सत्र 23 जनवरी से शुरू होगा। सम्मेलन का आयोजन पायलट समर्थक सैनिक कल्याण मंत्री राजेंद्र गुढ़ा करवा रहे हैं। मंत्री गुढ़ा ने ट्टीट कर खुद इसकी जानकारी दी है। राजेंद्र गुढ़ा ने कहा- 18 जनवरी को लिबर्टी फार्म हाउस गुडा में किसान सम्मेलन आयोजित किया जाएगा। इसके लिए गांव-गांव में पीले चावल वितरित किए जा रहे हैं। किसान सम्मेलन में बड़ी संख्या में किसान शामिल होंगे। माना जा रहा है कि किसान सम्मेलन में पायलट समर्थक माने जाने वाले विधायक वेदप्रकाश सोलंकी, इंद्राज गुर्जर, जीआर खटाना, दीपेंद्र सिंह शेखावत, हरीश  मीना, मुकेश भाकर और रामनिवास गांवड़िया भी शामिल हो सकते हैं। पायलट जब भी किसी बड़े कार्यक्रम को संबोधित करते हैं, समर्थक विधायक भी जाते रहे हैं। राजनीतिक विश्लेषक विधानसभा चुनाव से पहले किसान सम्मेलन को पायलट के शक्ति प्रदर्शन के तौर पर देख रहे हैं। इससे पहले सचिन पायलट ने भरतपुर में किसान सम्मेलन को संबोधित किया था। राजस्थान में बजट स

बता दें, मंत्री राजेंद्र गुढ़ा सचिन पायलट समर्थक माने जाते है। राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा से पहले मंत्री गुढ़ा ने नेतृत्व परिवर्तन की मांग की थी। हालांकि, यात्रा के बाद गुढ़ा के तेवर नरम हो गए है। मंत्री गुढ़ा ने 2020 में पायलट की बगावत के समय सीएम गहलोत का साथ दिया था। बसवा से कांग्रेस में शामिल होकर मंत्री बने गुढ़ा लगातार इशारों में सीएम गहलोत को निशाने पर लेते रहे हैं। विवादास्पद बयानबाजी के लिए माने जाने वाले गुढ़ा ने किसान सम्मेलन में पायलट को बुलाकर एक बार फिर साफ संकेत दिए है वह नेतृत्व परिवर्तन की मांग पर कायम है। केसी वेणुगोपाल के समझौते के बाद राजस्थान में सियासी बयानबाजी थम गई है। पायलट समर्थक चुप्पी साधे हुए है। 

सचिन पायलट आज भारत जोड़ो यात्रा में शामिल होने के लिए फतेहपुर साहिब पंजाब जाएंगे। पायलट बुधवार को राहुल की भारत जोड़ो यात्रा में शामिल होंगे। बता दें, राजस्थान से भारत जोड़ो यात्रा की हरियाणा में एंट्री के बाद पायलट भारत जोड़ो यात्रा में शामिल नहीं हुए थे। राजस्थान में भारत जोड़ो यात्रा के बाद पहली बार पायलट यात्रा में शामिल होने के लिए पंजाब जा रहे हैं। राजस्थान में यात्रा करबी 21दिन रही थी। इस दौरान सीएम गहलोत और सचिन पायलट ने राहुल गांधी संग कदमताल मिलाए थे।

[bsa_pro_ad_space id=2]
spot_img
spot_img

सम्बंधित समाचार

Ad

spot_img

ताजा समाचार

spot_img
error: Content is protected !!