36 C
Jodhpur

किसानों को फ्री बिजली मिलेगी? 7 नए जिले बनेंगे, गहलोत का जवाब कल

spot_img

Published:

राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत कल 11 बजे विधानसभा में बजट पेश करेंगे। गहलोत सरकार का यह अंतिम बजट होगा। सीएम चुनाव को ध्यान में रखकर बजट पेश करेंगे। माना जा रहा है कि सीएम गहलोत किसानों के लिए फ्री बिजली का ऐलान कर सकते हैं। फ्री बिजली यूनिट का दायरा बढ़ा सकते हैं। माना जा रहा है कि सीएम 7 नए जिले बनाने की घोषणा भी कर सकते हैं। राज्य में लंबे समय से जिला बनाने की मांग उठती रही है। गहलोत का यह बजट युवाओं पर फोकस करने वाला होगा। बजट में अलग-अलग विभागों में करीब एक लाख नई भर्तियों की घोषणा होने के आसार हैं। नए रोजगार शुरू करने के लिए सरकार भारी भरकम छूट और पैकेज देने की योजना लाएगी। बजट में फ्री स्कीम्स पर भी खासा फोकस रहने की संभावना है।युवाओं, किसानों, कर्मचारियों, बुजुर्गों और महिलाओं के लिए बजट में बहुत सी सीधे लाभ वाली स्कीम्स की घोषणाएं होंगी। महिलाओं के रसोई का बजट कम करने के लिए उज्जवला योजना में पात्र परिवारों को 500 रुपए में गैस सिलेंडर देने की घोषणा का बजट देना तय है। हर परिवार को महंगाई से राहत देने के लिए फूड किट देने की योजना की भी घोषणा होगी।

घरेलू पानी उपभोक्तओं के लिए 30 हजार लीटर पानी पर जीरो बिल की घोषणा के आसार हैं। 15 हजार लीटर तक अभी पानी का पैसा नहीं है, लेकिन इस पर अभी सीपेज चार्ज और सरचार्ज के तौर पर 49 रुपए वसूला जाता है, इसे अब पूरी तरह फ्री करने का प्रस्ताव है।बजट में महिला सरकारी कर्मचारियों के लिए पीरियड्स के दौरान वर्क फ्रॉम होम की सुविधा की घोषणा के आसार हैं। इसके लिए सर्विस रूल्स में बदलाव की घोषणा हो सकती है। राज्य समाज कल्याण बोर्ड ने पिछले दिनों राज्य सरकार को इसका प्रस्ताव भेजा था। चुनावी साल में महिला कर्मचारियों को मैसेज देने के लिए यह घोषणा की जा सकती है। राजस्थान रोडवेज की बसों में महिलाओं को किराए में 50 फीसदी की छूट की घोषणा होने की संभावना है। अभी महिलाओं को किराए में 30 फीसदी की छूट मिलती है, इस छूट को बढ़ाने का प्रस्ताव है।

सीकर-झुंझुनूं को मिलाकर नया संभाग भी बनाया जा सकता है। बजट में सीएम अशोक गहलोत प्रदेश और राजनीति  का भूगोल बदलने जा रहे हैं। 10 फरवरी को पेश होने वाले बजट में सबसे बड़ी घोषणा नए जिलों को लेकर हो सकती है। 15 साल के लंबे इंतजार के बाद गहलोत राजस्थान में नए जिलों और सीकर-झुंझुनूं को मिलाकर नए संभाग का ऐलान कर सकते हैं। बालोतरा, ब्यावर, कोटपूतली, भिवाड़ी, नीमकाथाना, कुचामन सिटी समेत 7 से ज्यादा जिले संभव हैं। गहलोत कई बार सरकार रिपीट करने की बात कर चुके हैं। ऐसे में जिलों की घोषणा इस दिशा में अहम कदम हो सकती है। इससे पहले 2008 में तत्कालीन सीएम वसुंधरा राजे ने प्रतापगढ़ को जिला बनाया था, तब भाजपा प्रतापगढ़ व धरियावद सीट जीती थी।

[bsa_pro_ad_space id=2]
spot_img
spot_img

सम्बंधित समाचार

Ad

spot_img

ताजा समाचार

spot_img
error: Content is protected !!